Friday, August 12, 2022
Homeसोशल ट्रेंडविनोद दुआ की बेटी ने 'भक्तों' के मरने की माँगी थी दुआ, माँ के...

विनोद दुआ की बेटी ने ‘भक्तों’ के मरने की माँगी थी दुआ, माँ के इलाज में एक ‘भक्त’ MP ने ही की मदद

भाजपा सांसद और केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप पुरी ने उन्हें अपना नंबर दिया और बताया कि दवा का इंतजाम हो गया है।

मीटू (MeToo) के आरोपित पत्रकार विनोद दुआ कोरोना संक्रमित होने के कारण अस्पताल में भर्ती हैं। उनकी पत्नी चिन्ना दुआ भी गुरुग्राम के मेदांता में COVID के कारण भर्ती हैं। चिन्ना दुआ को रविवार (16 मई 2021) को टोसिलिजुमैब (Tocilizumab) इंजेक्शन की जरूरत थी। कोरोना संक्रमण के इलाज के दौरान इस्तेमाल की जाने वाली यह एक महत्वपूर्ण दवा है। उनकी बेटी, अभिनेत्री और ‘कॉमेडियन’ मल्लिका दुआ दवा के लिए मदद माँगने इंटरनेट पर पहुँच गईं।

मल्लिका दुआ का ट्वीट और उसके बाद की प्रतिक्रियाएँ

मल्लिका ने अभिनेता सोनू सूद और कॉन्ग्रेस नेता दीपेंद्र हुड्डा जैसी विभिन्न हस्तियों और नेताओं को मदद के लिए ट्वीट किया। लेकिन, हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्टर सहित किसी भी भाजपा नेता से संपर्क नहीं किया था। फिर भी भाजपा सांसद और केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप पुरी ने उन्हें अपना नंबर दिया और बताया कि दवा का इंतजाम हो गया है।

गौरतलब है कि मोदी समर्थक भाजपा नेताओं को ‘भक्त’ बताते हुए मल्लिका पूर्व में उनके मरने की दुआ माँग चुकी हैं। लेकिन, जब मुश्किल वक्त आया तो एक ‘भक्त’ ने ही उनकी मदद की।

सोशल मीडिया पर वायरल एक क्लिप में दुआ से ट्विटर अकाउंट के बारे में पूछा गया था कि वह चाहती हैं कि उन्हें सस्पेंड कर दिया जाए। इसमें वह कहती हैं, “सभी ‘भक्त’ हाँ। ये सभी आईटी सेल f*cks उन्हें बस मर जाना चाहिए।”

इससे पहले मल्लिका दुआ ने पुलवामा में वीरगति प्राप्त करने वालों के साथ एकजुटता दिखाने वाले लोगों के खिलाफ अपशब्द कहे थे। नृशंस हमले में अपने प्राणों की आहुति देने वाले बलिदानियों और उनके शोक संतप्त परिवारों के प्रति असंवेदनशीलता दिखाते हुए दुआ ने कहा था कि ‘लोग हर दिन मरते हैं’। उन्होंने कहा था, “मैं उनसे पूछना चाहती हूँ कि लोग हर दिन भूख, भुखमरी, बेरोजगारी और कई अन्य कारणों से मरते हैं, क्या हम उन सभी पर शोक करते रहते हैं, क्या हम पूरे साल शोक मनाते रहते हैं। यह बकवास है।”

हालाँकि, भाजपा समर्थकों ने इन अमीरों की मदद करने पर बीजेपी के मंत्री का विरोध भी किया है। उनका कहना है कि आम लोग भी समान रूप से पीड़ित हैं और हायर क्लास ने उनसे मदद भी नहीं माँगी थी।

ट्विटर यूजर अंकित जैन ने ऐसे वक्त में जब हर किसी को चिकित्सकीय मदद की जरूरत है दुआ जैसे खास लोगों की मदद पर सवाल उठाया। उन्होंने कहा कि एलीट क्लास को तब भी मदद मिल जाती है जब उन्होंने मंत्री को टैग तक नहीं किया था।

वहीं ट्विटर यूजर अंकुर सिंह ने ने इस पर सवाल उठाते हुए याद दिलाया कि कैसे मल्लिका के पिता पत्रकार विनोद दुआ ने पूर्व पीएम और भाजपा नेता अटल बिहारी वाजपेयी के निधन पर श्रद्धांजलि देने को ‘पाखंड’ बताया था।

इस बीच मल्लिका दुआ ने मदद के लिए पुरी का शुक्रिया अदा किया है और पुरी ने दुआ को दवा देने वाला अपना ट्वीट डिलीट कर दिया है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘द सैटेनिक वर्सेज’ के लेखक सलमान रुश्दी पर जुमे के दिन चाकू से हमला, न्यूयॉर्क में हुई वारदात

'द सैटेनिक वर्सेज' के लेखक उपन्यासकार सलमान रुश्दी को न्यूयॉर्क में भाषण देने से पहले पर चाकू से हमला किया गया है।

‘मानसखण्ड मंदिर माला मिशन’ के जरिए प्राचीन मंदिरों को आपस में जोड़ेंगे CM धामी, माँ वाराही देवी मंदिर में पूजा-अर्चना कर बगवाल में हुए...

सीएम धामी ने कुमाऊँ के प्राचीन मंदिरों को भव्य बनाने और उन्हें आपस में जोड़ने के लिये मानसखण्ड मंदिर माला मिशन की शुरुआत की।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
213,239FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe