Saturday, January 22, 2022

विषय

जय श्री राम

मुगलों को असली राष्ट्र निर्माता बताने वाले कबीर खान अब ‘जय श्रीराम’ पर बोले, राष्ट्रवाद को देशभक्ति से अलग बताया

मुगलों को असली राष्ट्र निर्माता बता चुके फिल्म डायरेक्टर कबीर खान ने अब कहा है कि 'जय श्रीराम कहना' कभी मुस्लिमों के लिए मुद्दा नहीं रहा है।

जय श्रीराम का नारा लगाने वाले अहसान को धमकी, मुस्लिम समुदाय से सामाजिक बहिष्कार, दोस्त-परिवार ने छोड़ा साथ

सहारनपुर में योगी आदित्यनाथ की रैली में जय श्रीराम का नारा लगाने वाले अहसान राव का मुस्लिम समुदाय ने किया सामाजिक बहिष्कार।

UP सरकार ने उस मुस्लिम युवक को दी सुरक्षा जिसने लगाए ‘जय श्री राम’ के नारे, कट्टरपंथी दे रहे थे धमकी

जय श्री राम के नारे लगाने वाले मुस्लिम युवक को उत्तर प्रदेश सरकार ने सुरक्षा मुहैया कराई है। अहसान राव ने अमित शाह की रैली में नारे लगाए थे।

‘हम श्रीराम के वंशज’: अमित शाह की रैली में मुस्लिम युवक ने लगाए ‘जय श्रीराम’ के नारे, उलेमा ने दी इस्लाम से ख़ारिज करने...

सहारनपुर में भाजपा की रैली के दौरान एक मुस्लिम युवक के ‘जय श्रीराम’ व ‘भारत माता की जय’ के नारे लगाने से देवबंद के उलेमा नाराज हो गए।

‘कश्मीरियों ने राँची के मुस्लिमों के साथ मिलकर हिन्दुओं को पीटा..’ मामले में नया मोड़, शिकायत के बाद अब समझौता: जानें क्या है विवाद

रांची में कश्मीरियों और स्थानीय युवकों के विवाद में हुआ सहमति से समझौता ,दोनों पक्षों ने दी थी एक दूसरे के खिलाफ शिकायत

घर की दीवार पर ‘जय श्री राम’ से बवाल, बगल में है मजार: UP की फतेहपुर पुलिस ने बताया – धार्मिक चिह्न हटाने को...

उत्तर प्रदेश के फतेहपुर जिले का एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें दीवाल पर लिखे गए 'जय श्री राम' शब्द पर बहस हो रही है। बगल में है मजार।

‘ताबीज के कारण गर्भ में हुई बच्चे की मौत, इसी कारण गुस्से में बुजुर्ग को पीटा’ – UP पुलिस के सामने आरोपित ने कबूला

इस मामले में गाजियाबाद पुलिस ने 4 और आरोपितों को गिरफ्तार किया। इन आरोपितों के नाम हिमांशु, अनस, शावेज और बाबू हैं।

ताबीज की लड़ाई को दिया जय श्रीराम का रंग: गाजियाबाद केस की पूरी डिटेल, जुबैर से लेकर बौना सद्दाम तक की बात

गाजियाबाद में मुस्लिम बुजुर्ग के साथ हुई मारपीट की घटना में कब, क्या, कैसे हुआ। सब कुछ एक साथ।

इना-मीना-डीका, सबा-राना-ज़ुबैर झूठा, रवीश कुमार छींका-अरफा चुप्पा; क्योंकि FIR ही आज की सच्चाई है

FIR क्या हुई। आपस में ही उलझ गए जुबैर, राना और सबा। आखिर में तय हुआ रवीश के पास चलने का जो अरफा के साथ बैठे थे। फिर क्या हुआ?

जैसे-जैसे फूटा लेफ्ट-कॉन्ग्रेस-इस्लामी इकोसिस्टम का बुलबुला, वैसे-वैसे बढ़ता गया ‘जय श्रीराम’ पर प्रोपेगेंडा 

कम्युनिस्ट-कॉन्ग्रेस-मीडिया-बुद्धिजीवियों के गठबंधन को पहली चोट जय श्रीराम से ही लगी थी। मोदी के उदय ने इसे और गहरा कर दिया।

ताज़ा ख़बरें

प्रचलित ख़बरें

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
152,725FollowersFollow
413,000SubscribersSubscribe