Friday, June 14, 2024
Homeराजनीति‘हवा में उड़ गए जय श्री राम, ब्राह्मणवाद से आज़ादी’: JNU में PM मोदी...

‘हवा में उड़ गए जय श्री राम, ब्राह्मणवाद से आज़ादी’: JNU में PM मोदी के खिलाफ भी अपमानजनक नारे, वीडियो में लेफ्ट के साथ-साथ ‘लालटेन छाप’ भी दिखा

वीडियो रात के समय का है, जो सोशल मीडिया पर तेज़ी से वायरल हो रहा है। साथ ही 'ब्राह्मणवाद से आज़ादी' और 'फ्री फिलिस्तीन' के नारे भी लगाए गए।

वामपंथ के गढ़ के रूप में कुख्यात JNU (जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय) एक बार फिर विवादों में है। यूनिवर्सिटी में हिन्दू विरोधी नारा लगाया गया है। इसका वीडियो भी सोशल मीडिया पर तेज़ी से वायरल हो रहा है। वीडियो में ढपली बजाते हुए छात्र-छात्राएँ ‘मिले फुले-कांशीराम, हवा में उड़ गए जय श्री राम’ नारा लगाते हुए दिख रहे हैं। वीडियो रात के समय का है। साथ ही ‘ब्राह्मणवाद से आज़ादी’ और ‘फ्री फिलिस्तीन’ के नारे भी लगाए गए।

बता दें कि नब्बे के दशक (1993) में भाजपा के खिलाफ जब सपा-बसपा ने गठबंधन किया था तब दोनों दलों के समर्थक ‘मिले मुलायम-कांशीराम, हवा में उड़ गए जय श्री राम’ नारा लगाया करते थे। कांशीराम बसपा के संस्थापक थे। JNU में इसके साथ ही ‘आज़ादी’ वाले नारे भी जम कर दोहराए गए। इतना ही नहीं, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लेकर भी आपत्तिजनक नारे लगाए गए। उन्हें ‘चोर’ बताया गया। राजद समर्थक गर्व से इन वीडियोज को सोशल मीडिया में शेयर कर रहे हैं।

याद दिला दें कि ये वही JNU है जहाँ संसद भवन पर हमला करने वाले आतंकवादी के समर्थन में ‘अफजल हम शर्मिंदा हैं, तेरे कातिल ज़िंदा हैं’ के नारे लगे थे। साथ ही ‘भारत तेरे टुकड़े होंगे, इंशाअल्लाह-इंशाअल्लाह’ के नारे भी लगे थे। JNU में ही छात्र नेता रहे उमर खालिद ने फरवरी 2020 में दिल्ली में हिन्दू विरोधी दंगा भड़काया। JNU में 22 मार्च को छात्र संघ का चुनाव भी होने जा रहा है। यहाँ से लेफ्ट के छात्र नेता ही अब तक जीतते रहे हैं, लेकिन इस बार टक्कर कड़ी है।

ABVP ने वारंगल के उमेश चंद्र अजमीरा को मैदान में उतारा है, जो जनजातीय बंजारा समाज से आते हैं। जहाँ उनके पिता की नक्सलियों ने तभी हत्या कर दी थी जब उमेश 4 वर्ष के थे, वहीं जबरन धर्मांतरण की प्रताड़ना के कारण उनकी माँ भी चल बसी थीं। ताज़ा वीडियो तब का है, जब छात्र संघ के दावेदारों को सुनने के लिए भीड़ इकट्ठी हुई थी। इस पद के लिए इस बार 8 दावेदार हैं। दिसंबर 2022 में भी JNU में दीवारों पर ब्राह्मण विरोधी नारे लिख दिए गए थे।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘इंशाअल्लाह, राम मंदिर को गिराना हमारी जिम्मेदारी बन चुकी है’: धमकी के बाद अयोध्या में अलर्ट जारी कर कड़ी की गई सुरक्षा, 2005 में...

"बाबरी मस्जिद की जगह तुम्हारा मंदिर बना हुआ है और वहाँ हमारे 3 साथी शहीद हुए हैं। इंशाअल्लाह, इस मंदिर को गिराना हमारी जिम्मेदारी बन गई है।"

‘हरियाणा से समझौता करो’: दिल्ली में जल संकट पर लड़ रहे I.N.D.I. गठबंधन में शामिल कॉन्ग्रेस और AAP, सुप्रीम कोर्ट में अपने कहे से...

हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू ने कहा है कि हिमाचल के पास जितना 'एक्स्ट्रा' पानी है, वो दिल्ली ही नहीं किसी भी अन्य राज्य को देने को तैयार हैं, लेकिन पहले दिल्ली सरकार हरियाणा के साथ सहमति बनाए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -