Monday, June 17, 2024
Homeराजनीतिलोकसभा चुनाव 2024 से पहले लागू होगा सीएए, गृहमंत्री अमित शाह बोले- 'विकसित भारत'...

लोकसभा चुनाव 2024 से पहले लागू होगा सीएए, गृहमंत्री अमित शाह बोले- ‘विकसित भारत’ के लक्ष्य पर काम कर रही मोदी सरकार

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने ऐलान किया है कि लोकसभा चुनाव 2024 से पहले ही नागरिकता संसोधन विधेयक (सीएए) को लागू किया जाएगा।

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने ऐलान किया है कि लोकसभा चुनाव 2024 से पहले ही नागरिकता संसोधन विधेयक (सीएए) को लागू किया जाएगा। अमित शाह ने ईटी नाउ ग्लोबल बिजनेस समिट कार्यक्रम में शुक्रवार (10 फरवरी 2024) को भारत के भविष्य के लिए भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के विजन को लेकर अपनी बात रखी। उन्होंने “विकसित भारत” एजेंडा पर ध्यान केंद्रित करते हुए हितधारकों की भागीदारी और सामाजिक प्रगति पर जोर दिया।

गृहमंत्री ने कहा कि बीजेपी का लक्ष्य 2047 तक भारत को एक विकसित राष्ट्र बनाना है। उन्होंने कहा कि यह लक्ष्य केवल आर्थिक विकास से ही नहीं, बल्कि सामाजिक न्याय, राष्ट्रीय सुरक्षा और सांस्कृतिक गौरव के माध्यम से भी प्राप्त किया जाएगा।

अमित शाह ने आगामी चुनावों के लिए भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के दूरदर्शी एजेंडे को रेखांकित करते हुए अपनी बात रखी। उन्होंने कहा, ”आजाद भारत में पहली बार यह पहला चुनाव होगा, जो मजबूत भविष्य को ध्यान में रखते हुए विकसित भारत@2047 के एजेंडे पर लड़ा जाएगा। मेरा मानना ​​है कि अपने तीसरे कार्यकाल में हम एजेंडे के तहत और भी बहुत कुछ करने में सक्षम होंगे।”

गृहमंत्री ने कहा कि मोदी सरकार ने पिछले कुछ वर्षों में कई महत्वपूर्ण नीतिगत पहल की हैं जो भारत को विकसित राष्ट्र बनाने की दिशा में ले जाएंगी। उन्होंने इन पहलों में प्रधानमंत्री आवास योजना, आयुष्मान भारत योजना, और उज्ज्वला योजना शामिल हैं। शाह ने कहा कि मोदी सरकार ने देश में बुनियादी ढांचे के विकास पर भी विशेष ध्यान दिया है। उन्होंने कहा कि सरकार ने सड़कों, रेलवे, हवाई अड्डों और जलमार्गों के विकास में भारी निवेश किया है।

लोकसभा चुनाव से पहले लागू होगा सीएए

गृहमंत्री अमित शाह ने यह भी घोषणा की कि नागरिकता (संशोधन) अधिनियम को अगले चुनाव से पहले लागू किया जाएगा। उन्होंने कहा कि सीएम भारत में रहने वाले सभी हिंदुओं, बौद्धों, सिखों, जैनियों, पारसियों और ईसाइयों को नागरिकता प्रदान करेगा जो पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान से आए हैं। उन्होंने कहा कि सीएए अल्पसंख्यक समुदायों के प्रताड़ित सदस्यों को नागरिकता प्रदान करने के लिए एक आवश्यक कानून है।

अमित शाह ने कहा, “सीएए किसी भी भारतीय नागरिक के अधिकारों का हनन नहीं करता है। यह केवल उन लोगों को नागरिकता प्रदान करता है जो धार्मिक उत्पीड़न के कारण अपने देशों से भागने को मजबूर हुए हैं। यह उन लोगों को नागरिकता देगी, जो वर्षों से भारत में वैध तरीके से रहते आए हैं।”

गृहमंत्री ने सीएए का विरोध करने के लिए विपक्षी दलों को भी निशाने पर लिया। उन्होंने कहा कि विपक्षी दल देश को गुमराह कर रहे हैं और सीएए के बारे में गलत जानकारी फैला रहे हैं। उन्होंने कहा, “विपक्षी दल सीएए का विरोध कर रहे हैं क्योंकि वे अल्पसंख्यक समुदायों के वोट बैंक को खुश करना चाहते हैं। वे देश के हितों की परवाह नहीं करते हैं।”

राजनीति में बीजेपी बढ़ना खुशहाली की बात

अमित शाह ने इस कार्यक्रम में आगे कहा, “बीजेपी की अपनी विचारधारा और एजेंडा सही जगह पर है। लोग जुड़ते हैं और लोग निकलते हैं, और यह स्वाभाविक है। मैं परिवार नियोजन में विश्वास करता हूँ, लेकिन राजनीति में यह हमेशा अधिक खुशहाली की बात होती है।” अमित शाह ने कहा कि बीजेपी का बढ़ना देशहित में है, तो हमें भी खुशहाली मिलती है।

मोदी सरकार का विकसित भारत एजेंडा

आर्थिक विकास: मोदी सरकार का लक्ष्य भारत को दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनाना है। इसके लिए सरकार बुनियादी ढांचे के विकास, विनिर्माण क्षेत्र को बढ़ावा देने और नौकरियों के सृजन पर ध्यान केंद्रित करेगी।
सामाजिक न्याय: मोदी सरकार सभी वर्गों के लोगों के लिए समान अवसर सुनिश्चित करने के लिए प्रतिबद्ध है। इसके लिए सरकार शिक्षा, स्वास्थ्य और सामाजिक सुरक्षा कार्यक्रमों में निवेश करेगी।
राष्ट्रीय सुरक्षा: मोदी सरकार भारत की राष्ट्रीय सुरक्षा को मजबूत करने के लिए प्रतिबद्ध है। इसके लिए सरकार रक्षा बलों को आधुनिक बनाने और आतंकवाद से लड़ने पर ध्यान केंद्रित करेगी।
सांस्कृतिक गौरव: मोदी सरकार भारत की समृद्ध संस्कृति और विरासत को संरक्षित करने के लिए प्रतिबद्ध है। इसके लिए सरकार कला, संस्कृति और शिक्षा को बढ़ावा देने पर ध्यान केंद्रित करेगी।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

केरल की वायनाड सीट छोड़ेंगे राहुल गाँधी, पहली बार लोकसभा लड़ेंगी प्रियंका: रायबरेली रख कर यूपी की राजनीति पर कॉन्ग्रेस का सारा जोर

राहुल गाँधी ने फैसला लिया है कि वो वायनाड सीट छोड़ देंगे और रायबरेली अपने पास रखेंगे। वहीं वायनाड की रिक्त सीट पर प्रियंका गाँधी लड़ेंगी।

बकरों के कटने से दिक्कत नहीं, दिवाली पर ‘राम-सीता बचाने नहीं आएँगे’ कह रही थी पत्रकार तनुश्री पांडे: वायर-प्रिंट में कर चुकी हैं काम,...

तनुश्री पांडे ने लिखा था, "राम-सीता तुम्हें प्रदूषण से बचाने के लिए नहीं आएँगे। अगली बार साफ़-स्वच्छ दिवाली मनाइए।" बकरीद पर बदल गए सुर।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -