Friday, June 25, 2021

विषय

Science and Technology

पृथ्वी की गति, आकार, समय, संख्या, अंतरिक्ष… इस्लाम-ईसाई धर्म के उदय से पहले फल-फूल चुकी थी सनातन ज्ञान परंपरा

सनातन ज्ञान परंपरा को समझेंगे तो पाएँगे कि खगोल से लेकर धातु विज्ञान, गणित, चिकित्सा और अन्य कई क्षेत्रों में भारतीयों का योगदान...

सॉफ्टवेयर से सैटेलाइट तक, एग्रीकल्चर से एस्ट्रोनॉमी तक, वैक्सीन से VR तक दुनिया का इंजन बना भारत: CSIR की बैठक में PM मोदी

"आज एग्रिकल्चर से एस्ट्रॉनॉमी तक, आपदा प्रबंधन से रक्षा तकनीक तक, वैक्सीन से वर्चुअल रियलिटी तक, बायोटेक्नोलॉजी से लेकर बैटरी टेक्नोलॉजीज तक, देश हर दिशा में आत्मनिर्भर और सशक्त बनना चाहता है।"

सूर्य के चारों ओर इंद्रधनुषी गोला: Sun Halo के कारण बेंगलुरु के लोगों को आज दिखा यह ‘आश्चर्य’

बेंगलुरु में सूर्य के चारो ओर नजर आया इंद्रधनुषी रिंग, जानिए क्या होती है Sun Halo की घटना, क्यों होता है इस रिंग का निर्माण

इंटरनेट एक्सप्लोरर Google Chrome डाउनलोड करने के लिए था बेस्ट: माइक्रोसॉफ्ट की बंद करने की घोषणा, बने Memes

गूगल का क्रोम ब्राउजर इंटरनेट सर्फिंग के बाजार का लगभग 65% हिस्सा कवर करता है। सफारी ब्राउजर एप्पल के कंप्यूटर्स और दूसरे डिवाइस में...

अंटार्कटिका में टूटा 170 KM लंबा, 25 KM चौड़ा दुनिया का सबसे बड़ा हिमखंड, क्या है खतरा, क्यों टूटा? जानिए

अंटार्कटिका महाद्वीप में दुनिया का का सबसे बड़ा हिमखंड टूटकर अलग हो गया है, करीब 170 किमी लंबे और 25 किमी चौड़ा

‘एलियंस ने 50 बार किया मेरा अपहरण, साबित करने के लिए हैं खरोंच के निशान’, ब्रिटिश महिला का हैरान करने वाला दावा

ब्रिटेन की एक महिला का दावा है कि एलियंस अब तक उसका 50 से अधिक बार अपहरण कर चुके हैं और अपने यूएफओ में भी ले जा चुके हैं

क्या है एप्पल का M1 प्रोसेसर, क्यों बदल जाएगा आपका लैपटॉप सदा के लिए पावर और परफॉर्मेंस दोनों में

M1 चिप में 16 बिलियन ट्रांजिस्टर का इस्तेमाल किया गया है। एप्पल का कहना है कि उसने पहली बार एक चिप में इतने ट्रांजिस्टर का प्रयोग किया है।

लॉकडाउन नहीं होता तो अब तक होती 26 लाख मौतें: 10 वैज्ञानिकों की कमिटी के अध्ययन में खुलासा

साथ ही इस रिसर्च पेपर में बताया गया है कि ठंडी के मौसम में ये वायरस कमजोर हो जाता है, अब तक किसी भी अध्ययन से ये साबित नहीं हो सका है।

इंग्लैंड के एक छोटे से गाँव से तय हुआ पूरी दुनिया का समय: GMT की शुरुआत से लेकर अब तक की कहानी

एक ऐसी इकाई जिससे दुनिया के समय का आकलन लागाया जाता है। इसे साल 1884 में ठीक आज ही मान्यता दी गई थी और 1972 तक यह 'अंतर्राष्ट्रीय सिविल टाइम' का मानक बन गया था।

‘वैज्ञानिकों ने पेशाब से बना लिए स्पेस ब्रिक्स’: यूरिया को यूरिन लिखने वाले NDTV को IISC प्रोफेसर ने लताड़ा

NDTV ने 'स्पेस ब्रिक्स' को लेकर भारतीय वैज्ञानिकों को बदनाम करने के लिए और उनके प्रयासों पर मिट्टी डालने के लिए जानबूझ कर गलत सूचना शेयर की।

ताज़ा ख़बरें

प्रचलित ख़बरें

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
105,845FollowersFollow
392,000SubscribersSubscribe