Tuesday, October 19, 2021
Homeवीडियोराष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020: अजीत भारती का विश्लेषण | Ajeet Bharti on NEP 2020

राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020: अजीत भारती का विश्लेषण | Ajeet Bharti on NEP 2020

सरकार शिक्षा प्रणाली को सुधारने के लिए नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 लेकर आई है। इस नई शिक्षा नीति के जरिए सरकार का मुख्य जोर शिक्षा में समानता पर है और साथ ही सभी को गुणवत्ता वाली शिक्षा की जद में कैसे लाया जाए, इस पर जोर दिया गया है। लेकिन, बावजूद इसके सवाल ये है कि NEP में है क्या?

भारत में शिक्षा व्यवस्था के क्या हाल हैं ये किसी से छिपा नहीं हैं। देश में सरकारी स्कूलों की हालत बिलकुल जर्जर है। बड़े-बड़े शैक्षणिक संस्थानों की स्थिति चरमराई हुई है। छात्र-छात्राओं का उद्देश्य आज केवल एग्जाम पास करना रह गया है। IIT से लेकर डीयू तक में अलग-अलग समस्याएँ हैं। बच्चे स्नातक और स्नातकोत्तर स्तर पर शिक्षा ग्रहण करते हुए भी केवल रट्टा मारकर उत्तीर्ण होना चाहते हैं। जबकि इस लेवल पर तो छात्रों के भीतर विश्लेषणात्मक गुण विकसित होना सबसे महत्तवपूर्ण होता है।

सरकार ऐसी ही शिक्षा प्रणाली को सुधारने के लिए नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 लेकर आई है। इस नई शिक्षा नीति के जरिए सरकार का मुख्य जोर शिक्षा में समानता पर है और साथ ही सभी को गुणवत्ता वाली शिक्षा की जद में कैसे लाया जाए, इस पर जोर दिया गया है। लेकिन, बावजूद इसके सवाल ये है कि NEP में है क्या?

इसे लेकर आपने अभी तक कई विश्लेषण सोशल मीडिया पर देख लिए होंगे। या हो सकता है आपने इस विषय पर कई जगह बिंदुवार तरीके से पढ़ भी लिया हो। वामपंथी तो इसे बिना पढ़े ही इस पर ज्ञान बाँच रहे हैं। सीताराम येचुरी जैसे बुद्धिजीवियों ने तो इसे बिलकुल खारिज कर दिया है। ऐसे में ऑपइंडिया संपादक ने पूरा 70 पेज का डॉक्यूमेंट पढ़ा। जिसे मूल दस्तावेज का सारांश बताया जा रहा है।

पूरा वीडियो यहाँ देखें:-

राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 के हर पहलुओं पर चर्चा

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

अजीत भारती
पूर्व सम्पादक (फ़रवरी 2021 तक), ऑपइंडिया हिन्दी

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बांग्लादेश का नया नाम जिहादिस्तान, हिन्दुओं के दो गाँव जल गए… बाँसुरी बजा रहीं शेख हसीना’: तस्लीमा नसरीन ने साधा निशाना

तस्लीमा नसरीन ने बांग्लादेश में हिंदुओं पर कट्टरपंथी इस्लामियों द्वारा किए जा रहे हमले पर प्रधानमंत्री शेख हसीना पर निशाना साधा है।

पीरगंज में 66 हिन्दुओं के घरों को क्षतिग्रस्त किया और 20 को आग के हवाले, खेत-खलिहान भी ख़ाक: बांग्लादेश के मंत्री ने झाड़ा पल्ला

एक फेसबुक पोस्ट के माध्यम से अफवाह फैल गई कि गाँव के एक युवा हिंदू व्यक्ति ने इस्लाम मजहब का अपमान किया है, जिसके बाद वहाँ एकतरफा दंगे शुरू हो गए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,824FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe