Thursday, August 5, 2021
Homeव्हाट दी फ*'मेरी शादी करवाओ... मेरी शादी करवाओ': नाती-पोते वाले बुजुर्ग चढ़े बिजली के पोल पर......

‘मेरी शादी करवाओ… मेरी शादी करवाओ’: नाती-पोते वाले बुजुर्ग चढ़े बिजली के पोल पर… ताकि बेटे मान जाएँ दूसरी शादी को

बुजुर्ग की पत्नी का देहांत कुछ समय पहले हुआ है। उनके 3 बेटे और 2 बेटियाँ हैं। पाँचों की शादी हो चुकी है। बुजुर्ग नाती-पोते वाले व्यक्ति हैं। दूसरी शादी करने की जिद और बेटों पर दबाव बनाने के लिए वो...

बुढ़ापे में दूसरी शादी करने वाले बुजुर्गों की अब तक आपने तमाम खबरें पढ़ी होंगी, मगर राजस्थान के धौलपुर में दूसरी शादी के नाम पर एक वृद्ध व्यक्ति ने जो हड़कंप मचाया, उसे सुन कर शायद आप हक्के-बक्के रह जाएँ। 

जी हाँ, राज्य के धौलपुर जिले में 60 साल के एक बुजुर्ग ने दूसरी शादी रचाने के लिए 11 हजार वोल्टेज वाली बिजली की लाइन के पोल पर चढ़ कर आत्महत्या करने की कोशिश की। गनीमत ये थी कि उस समय तारों में करंट नहीं था और परिजन समय से उन्हें समझाने के लिए वहाँ मौजूद थे।

खबरों के अनुसार, बुजुर्ग दूसरी शादी करना चाहते थे और बच्चों पर दबाव बनाने के लिए उन्होंने यह कदम उठाया। घटना की सूचना पाते ही परिजन फौरन पोल के पास पहुँचे व ग्रामीणों के साथ मिल कर किसी तरह बुजुर्ग को नीचे उतरवाया।

दूसरी ओर बिजली विभाग के कर्मचारियों ने भी सूचना मिलते ही मामले में तत्परता दिखाई और फौरन कनेक्शन काट दिया गया। जिसके बाद बिजली कर्मचारियों की तेजी व परिजनों की सूझबूझ से एक बड़ा हादसा होने से टला। 

पूरी घटना रविवार की बताई जा रही है। आजतक की रिपोर्ट के अनुसार, बुजुर्ग की पत्नी का देहांत 4 साल पहले हुआ था। उनके 3 बेटे और 2 बेटियाँ हैं। पाँचों की शादी हो चुकी है। बुजुर्ग नाती-पोते वाले व्यक्ति हैं। इसके बावजूद उनकी इच्छा दूसरी शादी करने की है, जिसके लिए उनके बच्चे तैयार नहीं हो रहे और उसका विरोध कर रहे हैं।

7 मार्च को बुजुर्ग ने अपने बेटे पर दोबारा से शादी का दवाब बनाया था। जब बेटे की ओर से फिर मना हुआ तो पहले आपसी झगड़ा हुआ। बाद में पता चला कि बुजुर्ग गुस्से में हाईटेंशन लाइन के बिजली के पोल पर आत्महत्या के लिए चढ़ गए।

बता दें कि बुजुर्ग की पहचान सोबरन सिंह के तौर पर हुई है। उनकी इस हरकत की वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल है।

मनियाँ थाने के एसएचओ का कहना है कि 60 साल के वृद्ध अपने लड़कों से नाराज होकर पोल पर चढ़े, जिसके बाद ग्रामीणों ने तत्परता दिखाते हुए विद्युत सब स्टेशन से सप्लाई कटवा दी। उसके बाद उन्हें नीचे उतारा गया।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

टोक्यो ओलंपिक: फाइनल में खूब लड़े रवि दहिया, भारत की चाँदी

टोक्यो ओलंपिक 2020 में पुरुषों की 57 किग्रा फ्रीस्टाइल कुश्ती में रेसलर रवि दहिया ने भारत को सिल्वर मैडल दिलाया है।

जब मनमोहन सिंह PM थे, कॉन्ग्रेस+ की सरकार थी… तब हॉकी टीम के खिलाड़ियों को जूते तक नसीब नहीं थे

एक दशक पहले जब मनमोहन सिंह के नेतृत्व में कॉन्ग्रेस नीत यूपीए की सरकार चल रही थी, तब हॉकी टीम के कप्तान ने बताया था कि खिलाड़ियों को जूते भी नसीब नहीं हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
113,091FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe