Tuesday, October 19, 2021
Homeव्हाट दी फ*शैतान की आजादी के लिए पड़ोसी के दिल को आलू के साथ पकाया, खिलाने...

शैतान की आजादी के लिए पड़ोसी के दिल को आलू के साथ पकाया, खिलाने के बाद अंकल-ऑन्टी को भी बेरहमी से मारा

आरोपित की पहचान 42 साल के लॉरेंस पॉल एंडरसन के तौर पर की गई है। रिपोर्ट्स के अनुसार, इसने पहले अपनी एक 41 वर्षीय पड़ोसी एंड्रिया पर 12 फरवरी को चाकू से हमला किया और उसे मारने के बाद उसका सीना चीरकर दिल निकाल लिया।

अमेरिका के ओक्लाहोमा राज्य में तीन लोगों की हत्या करने वाले एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया है। इस पर आरोप है कि इसने पहले अपने एक शिकार को मारा फिर उसका दिल निकाल कर आलू के साथ पकाया और अन्य दो लोगों को मारने से पहले उन्हें खाने को दिया।

आरोपित की पहचान 42 साल के लॉरेंस पॉल एंडरसन के तौर पर की गई है। रिपोर्ट्स के अनुसार, इसने पहले अपनी एक 41 वर्षीय पड़ोसी एंड्रिया पर 12 फरवरी को चाकू से हमला किया और उसे मारने के बाद उसका सीना चीरकर दिल निकाल लिया। 

बाद में अपने मृत पड़ोसी के दिल को लेकर वह अपने अंकल के घर गया जहाँ उसने इस दिल को पकाया। फिर अपने अंकल और उनकी पत्नी को इसे सर्व किया। थोड़ी देर बाद एंडरसन ने उन्हें भी मार दिया और उनकी पत्नी को अधमरा कर दिया। इसके अलावा उसने अपने अंकल की 4 साल की पोती को भी मौत के घाट उतार दिया।

जाँच अधिकारियों ने अपनी पड़ताल में कुकिंग पैन पाया, जिसमें थोड़ा खाना पड़ा हुआ था। पूरी जाँच होने पर सर्च वारंट में लिखा गया, “उसने राक्षसों को आजाद कराने के लिए दिल को आलू के साथ पकाकर अपने परिवार को खिलाया।”

बता दें कि अमेरिका में ऐसा घृणित अपराध एंडरसन की रिहाई के कुछ हफ्ते बाद ही हुआ है। उससे पहले वह लंबे समय तक जेल में था। उसे साल 2017 में ड्रग से जुड़े किसी मामले में 20 साल की सजा सुनाई गई थी। घटना को अंजाम देने के बाद उसने अपने जुर्म मंगलवार को कोर्ट में स्वीकार कर लिया। उस पर तीन हत्या और एक महिला पर धारधार हथियार से हमला करने का आरोप लगा है।

अधिकारियों ने बताया है कि एंडरसन उस दिन अपने अंकल आंटी की बिना मर्जी उनके घर गया था। वह उसे देख अचंभित थे कि वह जेल से बाहर आ गया। वह उसे अपने घर का एड्रेस नहीं बताना चाहते थे न ही उसे वहाँ बुलाना चाहते थे।

वहीं एंड्रिया की बेटी ने अपनी माँ की बर्बर हत्या को लेकर कहा कि वह चाहती है कि एंडरसन पूरा जीवन इस बारे में सोचते हुए गुजारे जबतक कि उसे वैसी मौत न मिले जैसी उसने लोगों को दी।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बांग्लादेश का नया नाम जिहादिस्तान, हिन्दुओं के दो गाँव जल गए… बाँसुरी बजा रहीं शेख हसीना’: तस्लीमा नसरीन ने साधा निशाना

तस्लीमा नसरीन ने बांग्लादेश में हिंदुओं पर कट्टरपंथी इस्लामियों द्वारा किए जा रहे हमले पर प्रधानमंत्री शेख हसीना पर निशाना साधा है।

पीरगंज में 66 हिन्दुओं के घरों को क्षतिग्रस्त किया और 20 को आग के हवाले, खेत-खलिहान भी ख़ाक: बांग्लादेश के मंत्री ने झाड़ा पल्ला

एक फेसबुक पोस्ट के माध्यम से अफवाह फैल गई कि गाँव के एक युवा हिंदू व्यक्ति ने इस्लाम मजहब का अपमान किया है, जिसके बाद वहाँ एकतरफा दंगे शुरू हो गए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,820FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe