Monday, August 2, 2021
Homeव्हाट दी फ*हत्या के बाद माँ की शव के किए 1000 टुकड़े, फ्रिज में रख कुत्ते...

हत्या के बाद माँ की शव के किए 1000 टुकड़े, फ्रिज में रख कुत्ते के साथ धीरे-धीरे खाता रहा: बेटे के खिलाफ सुनवाई शुरू

युवक ने पूरी घटना बताते हुए कहा, “मैंने और मेरे कुत्ते ने उन्हें पूरी तरह से खा लिया है।” युवक की बात सुन पुलिस ने घर की छानबीन शुरू की। देखा तो फ्रिज और प्लास्टिस बैग में मारिया गोमेज के टुकड़े पड़े थे।

स्पेन के मैड्रिड में उस युवक के खिलाफ अदालत में सुनवाई शुरू हो गई है, जिस पर अपनी माँ की हत्या कर शव को खाने का आरोप है। यह घटना 2019 की है। मैड्रिड निवासी 28 वर्षीय एल्बर्टो सांचेज गोमेज (Alberto Sánchez Gómez ) पर अपनी माँ मारिया गोमेज को मारने का आरोप है। हत्या के बाद उसने शव को हजार टुकड़े में काट दिया। फिर उसे अपने कुत्ते के साथ मिल कर खाता रहा। मारिया के एक दोस्त की शिकायत पर पुलिस सांचेज के घर पहुँची थी और उसे गिरफ्तार किया था। 

दोस्त ने पुलिस को मारिया के अचानक गायब होने के बारे में बताया। इसके बाद वहाँ की पुलिस ने अपनी पड़ताल शुरू की। शिकायत के आधार पर जब पुलिस गोमेज के घर पहुँची तो उसकी माँ मारिया गोमेज के शरीर के कुछ हिस्से फ्रिज में पड़े मिले, कुछ प्लास्टिक कंटेनर में और कुछ अपार्टमेंट में इधर-उधर पड़े थे।

पुलिस के मुताबिक जब वह घर पहुँची तो शव के टुकड़े देख उनके होश उड़ गए। दरवाजा सांचेज ने ही खोला था। जब मारिया की गुमशुदगी को लेकर उससे सवाल किया गया तो उसने अपना जुर्म कबूल कर लिया। उसने कहा कि मारिया गोमेज यहीं पर हैं, लेकिन अब वह मर चुकी हैं।

युवक ने पूरी घटना बताते हुए कहा, “मैंने और मेरे कुत्ते ने उन्हें पूरी तरह से खा लिया है।” युवक की बात सुन पुलिस ने घर की छानबीन शुरू की। देखा तो फ्रिज और प्लास्टिस बैग में मारिया गोमेज के टुकड़े पड़े थे।

बीबीसी की रिपोर्ट के मुताबिक, सांचेज गोमेज का पूरा मामला इस समय कोर्ट में है। उसके बचाव में हाल में दलील दी गई कि उसे याद भी नहीं है कि उसने अपनी माँ को खाया। कथित तौर पर युवक पर्सनालिटी डिसॉर्डर से ग्रसित है। इसके अलावा वह ड्रग का आदी भी रह चुका है।

विदेशी रिपोर्ट्स बताती हैं कि सांचेज को जब पुलिस पकड़ने पहुँची, उस समय वह अपनी माँ के बचे हुए टुकड़ों को पका कर खाने वाला था। गिरफ्तारी के बाद उसने स्वीकारा कि उसने अपनी माँ की गला दबाकर हत्या की थी और बाद में उसने उन्हें टुकड़ों में काटकर अपने कुत्ते के साथ खाया।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

वीर सावरकर के नाम पर फिर बिलबिलाए कॉन्ग्रेसी; कभी इसी कारण से पं हृदयनाथ को करवाया था AIR से बाहर

पंडित हृदयनाथ अपनी बहनों के संग, वीर सावरकर द्वारा लिखित कविता को संगीतबद्ध कर रहे थे, लेकिन कॉन्ग्रेस पार्टी को ये अच्छा नहीं लगा और उन्हें AIR से निकलवा दिया गया।

‘किताब खरीद घोटाला, 1 दिन में 36 संदिग्ध नियुक्तियाँ’: MGCUB कुलपति की रेस में नया नाम, शिक्षा मंत्रालय तक पहुँची शिकायत

MGCUB कुलपति की रेस में शामिल प्रोफेसर शील सिंधु पांडे विक्रम विश्वविद्यालय में कुलपति थे। वहाँ पर वो किताब खरीद घोटाले के आरोपित रहे हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,635FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe