Sunday, April 14, 2024
Homeव्हाट दी फ*66 साल के शख्स की 16 बेगमें, 151 बच्चे, बताया- 'पत्नियों को संतुष्ट करना...

66 साल के शख्स की 16 बेगमें, 151 बच्चे, बताया- ‘पत्नियों को संतुष्ट करना ही मेरा काम’

"मैं अपने शेड्यूल के हिसाब से अपने बेडरूम में जाता हूँ। फिर अपनी पत्नी को संतुष्ट करता हूँ और अगले कमरे में चला जाता हूँ। यही मेरा काम है।"

जनसंख्या नियंत्रण वाले दौर में किसी इंसान के अगर 16 बेगमें (पत्नियाँ) और 151 बच्चे हों तो भला इसे क्या कहेंगे। जिम्बाब्वे के रहने वाले एक 66 वर्षीय शख्स मिशेक न्यंदोरो (Misheck Nyandoro) के 16 पत्नियाँ और 151 बच्चे हैं।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, जिम्बाब्वे के 66 वर्षीय मिशेक न्यानदोरो का दावा है कि वह 16 पत्नियाँ और 151 बच्चे होने के बावजूद वह कोई काम नहीं करते और उनकी फुलटाइम जॉब अपनी पत्नियों को संतुष्ट करना है।

मिशेक का कहना है कि उसकी बूढ़ी पत्नियाँ उसकी सेक्स ड्राइव को मैच नहीं कर पाती हैं। इसलिए उसे लगातार युवा महिलाओं से शादी करनी पड़ती है। 151 बच्चों के पिता का कहना है कि वह आगे भी इसी तरह अपना परिवार बढ़ाते रहेंगे। आने वाली सर्दियों में वह 17वीं शादी करने जा रहे हैं।

मिशेक की ख्वाहिश है कि मरने से पहले उनकी 100 पत्नियाँ और 1,000 बच्चे हों

पत्नियों को संतुष्ट करना ही मेरा काम: 151 बच्चों का पिता

मशोनालैंड सेंट्रल प्रांत के बायर जिले में रहने वाले मिशेख का कहना है कि उन्होंने अपने लिए एक शेड्यूल तैयार किया है और हर रात वह अपनी चार पत्नियों को संतुष्ट करते हैं। 

उन्होंने स्थानीय समाचार आउटलेट द हेराल्ड को बताया, “मैं अपने शेड्यूल के हिसाब से अपने बेडरूम में जाता हूँ। फिर अपनी पत्नी को संतुष्ट करता हूँ और अगले कमरे में चला जाता हूँ। यही मेरा काम है। मेरे पास इसके अलावा और कोई काम नहीं है।”

मिशेख 1983 में अनेक पत्नियों वाले व्यक्ति बने थे। उन्होंने कहा कि जब तक उनकी मौत नहीं हो जाती, तब तक वह शादी करना जारी रखेंगे। उन्होंने कहा कि उनकी सभी दुल्हनें अपने जीवन से बेहद खुश हैं और अभी कम से कम दो गर्भवती भी हैं।

द हेराल्ड के मुताबिक, मिशेक ने बताया कि 151 बच्चे होने के बावजूद मुझ पर कभी भी किसी तरह का दबाव नहीं पड़ा है। बल्कि इतने सारे बच्चे पैदा करने का मुझे फायदा ही हुआ है। ये सभी मुझे गिफ्ट और पैसे देते रहते हैं।

बता दें कि ये परिवार खेती के जरिए ही अपना भरण पोषण करता है। मिशेक के छह बच्चे जिम्बाब्वे की नेशनल आर्मी में नियुक्त हैं, 2 बच्चे पुलिस में काम करते हैं और 11 बच्चे अलग-अलग प्रोफेशन्स में हैं। वहीं, इनकी 13 बेटियों की शादी हो चुकी है। उनके 23 बेटों की शादी हो चुकी है, जिसमें से एक बेटे ने भी चार शादियाँ की हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जनजातीय समाज से राष्ट्रपति, बाबसाहेब के स्थल विकसित होकर बने पंचतीर्थ, भगवान बिरसा मुंडा की जयंती गौरव दिवस: MP में PM मोदी ने बताया...

"कॉन्ग्रेस ने जनजातीय समाज के योगदान को कभी भी स्वीकार नहीं किया, जबकि भगवान बिरसा मुंडा के जन्मदिवस को 'राष्ट्रीय जनजातीय गौरव दिवस' के रूप में घोषित करने का सौभाग्य भी भाजपा सरकार को मिला है।"

बिहार के जिस बम ब्लास्ट में हुई 2 बच्चों की मौत, उस केस में मोहम्मद इस्लाइल और नूर मोहम्मद गिरफ्तार: घर से विस्फोटक बनाने...

बिहार के बांका जिले में 13 अप्रैल को इस्माइल अंसारी के मकान में हुए बम विस्फोट में दो छोटे बच्चों की मौत हो गई थी। अब पुलिस ने इस मामले में 2 आरोपितों को पकड़ा है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe