Monday, June 17, 2024
Homeफ़ैक्ट चेकफैक्ट चेक: कॉन्ग्रेस सेवादल ने बेहूदी टिप्पणी के साथ फैलाया स्मृति ईरानी का झूठा...

फैक्ट चेक: कॉन्ग्रेस सेवादल ने बेहूदी टिप्पणी के साथ फैलाया स्मृति ईरानी का झूठा बयान

देखा जाए तो कॉन्ग्रेस अपने शीर्ष से लेकर अंतिम कार्यकर्ता तक झूठ और अफवाह फैलाकर राजनीति और सत्ता में वापसी के सपने देख रही है। भाषा की मर्यादा की अपेक्षा करना इस राजनीतिक दल से बहुत बड़ी उम्मीद होती जा रही है।

कॉन्ग्रेस और उनके कार्यकर्ता सत्ता में आने के प्रयासों में किस तरह से झूठे प्रपंच और आरोप लगाकर अपने समर्थकों का विश्वास जीतने का प्रयास करते हैं, ये आए दिन देखने को मिल रहा है।

उत्तराखंड कॉन्ग्रेस सेवादल (Uttarakhand Pradesh Congress Sevadal, @SevadalUKP) नाम के ट्विटर यूजर ने केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के नाम से एक भद्दी टिप्पणी करते हुए एक झूठी खबर को पब्लिश किया। इस ट्वीट के अनुसार, भाजपा की केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा है कि यदि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हारे, तो वो आत्महत्या कर लेंगी। इसके साथ ही कॉन्ग्रेस सेवादल के इस आधिकारिक एकाउंट ने बेहद भद्दे शब्दों में लिखा है, “इतनी मोहब्बत, इस मोहब्बत को क्या नाम दूँ?”

यह टिप्पणी दर्शाती है कि कॉन्ग्रेस ने मोदी सरकार और इसके मंत्रीयों को अपमानित करने के लिए अपने कार्यकर्ताओं और ‘आधिकारिक’ संगठनों को किस प्रकार के निर्देश दिए हैं। कॉन्ग्रेस के पास ऐसे कई MEME बनाने वाली संस्था की तरह वेरिफाइड एकाउंट हैं जो झूठे बयान फैलाने के लिए तत्परता से मौजूद हैं। इस ट्वीट को बड़े स्तर पर रीट्वीट किया जा रहा है। स्मृति ईरानी ने इस प्रकार का कोई भी बयान कभी भी, किसी भी समाचार चैनल को नहीं दिया है।

ये ट्वीट दिखाता है कि कॉन्ग्रेसी न सिर्फ हारे हुए हैं, बल्कि गिरे हुए भी हैं, जो कि अब किसी भी हद तक जाकर नीचता पर उतर आए हैं। हालाँकि, ये रिपोर्ट लिखे जाने तक यूजर ने पकड़े जाने के डर से इस ट्वीट को डिलीट कर दिया है।

यदि देखा जाए तो कॉन्ग्रेस अपने शीर्ष से लेकर अंतिम कार्यकर्ता तक झूठ और अफवाह फैलाकर राजनीति और सत्ता में वापसी के सपने देख रही है। भाषा की मर्यादा की अपेक्षा करना इस राजनीतिक दल से बहुत बड़ी उम्मीद होती जा रही है। महिला सशक्तिकरण जैसे जुमलों को अपने मेनिफेस्टो में बेचने वाली कॉन्ग्रेस को अक्सर भाजपा में मौजूद महिलाओं पर भद्दे और अपमानजनक टिप्पणी करते देखा जाता है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

ऋषिकेश AIIMS में भर्ती अपनी माँ से मिलने पहुँचे CM योगी आदित्यनाथ, रुद्रप्रयाग हादसे के पीड़ितों को भी नहीं भूले

उत्तराखंड के ऋषिकेश से करीब 50 किलोमीटर की दूरी पर स्थित यमकेश्वर प्रखंड का पंचूर गाँव में ही योगी आदित्यनाथ का जन्म हुआ था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -