Thursday, July 18, 2024
Homeफ़ैक्ट चेकमीडिया फ़ैक्ट चेकBJP ने SDPI को दिया समर्थन, इस्माइल जीत गया चुनाव: मीडिया में चल रही...

BJP ने SDPI को दिया समर्थन, इस्माइल जीत गया चुनाव: मीडिया में चल रही खबर, जुबैर ने किया वायरल – फैक्ट चेक

भाजपा कार्यकर्ता फयाज और मुहम्मद ने क्रॉस वोटिंग करके SDPI के कैंडिडेट टी इस्माइल को जीत दिलाने में भूमिका निभाई। फर्जी फैक्ट चेकर मोहम्मद जुबैर ने यह बात छुपा ली।

कर्नाटक में ग्राम पंचायत चुनाव हुआ। इसमें BJP ने SDPI के एक कैंडिडेट को समर्थन दिया। इसके कारण SDPI का टी इस्माइल चुनाव जीत गया। SDPI राजनीतिक विंग है PFI का। PFI एक इस्लामी आतंकी संगठन है, जिस पर केंद्र की भाजपा सरकार ने ही प्रतिबंध लगवाया है। मतलब जिस पार्टी ने बैन लगाया, वही पार्टी गठबंधन भी कर रही है!

ऊपर जो लिखा गया है, वो एक खबर है। इसे मातृभूमि, वार्ताभारती, डायजिवर्ल्ड जैसे दक्षिण भारत की मीडिया ने पब्लिश किया। हिंदी-अंग्रेजी वाली मीडिया टाइम्स नाउ ने भी चला दिया इस खबर को। ऑल्ट न्यूज वाले फर्जी फैक्ट चेकर मोहम्मद जुबैर ने भी टाइम्स नाउ को रिट्वीट करते हुए खबर को वायरल किया।

फर्जी खबर को वायरल करने वाला जुबैर… क्या खाक बनेगा फैक्ट चेकर!

क्या सच में भाजपा ने SDPI से गठबंधन किया? क्या सच में भाजपा ने SDPI के कैंडिडेट टी इस्माइल को जीत दिलवाई? मीडिया रिपोर्टिंग से परे हकीकत कुछ और ही है।

SDPI के साथ BJP: फेक न्यूज

कर्नाटक में ग्राम पंचायत चुनाव में पार्टियों के चुनाव चिह्न नहीं होते हैं। ऐसे में दो राजनीतिक पार्टियों के बीच गठबंधन कैसे हो सकता है?

भाजपा के नेशनल इंफॉर्मेशन ऐंड टेक्नोलॉजी डिपार्टमेंट के चीफ अमित मालवीय ने ट्वीट कर बताया कि SDPI के साथ उनकी पार्टी का कोई गठबंधन नहीं है। ऐसे में उनको समर्थन देने का कोई सवाल ही नहीं उठता।

भारतीय जनता पार्टी के सांसद तेजस्वी सूर्या ने भी अमित मालवीय के जैसा ही सवाल उठाते हुए ट्वीट किया। इन्होंने मीडिया को खबरों की सत्यता जाँचने के बाद ही पब्लिश करने की सलाह भी दी।

भाजपा के साथ गठबंधन पर SDPI वालों ने क्या कहा?

न्यूज वेबसाइट माध्यमम से बात करते हुए SDPI कर्नाटक के महासचिव अब्दुल लतीफ पुत्तुर ने पंचायत चुनावों में भाजपा के साथ गठबंधन की बात को नकार दिया है। उन्होंने कहा कि भाजपा से पंचायत प्रेजिडेंट चुनाव के लिए समर्थन कभी माँगा ही नहीं है।

माध्यमम वेबसाइट की खबर का अंग्रेजी अनुवाद

SDPI जन प्रतिनिधि के कर्नाटक-इन-चार्ज नवाज उल्लाल ने अब्दुल लतीफ पुत्तुर से भी ज्यादा जानकारी न्यूज वेबसाइट माध्यमम को दी। उल्लाल के अनुसार भाजपा कार्यकर्ता फयाज और मुहम्मद ने मतदान के दौरान अपनी पार्टी के विरोधी SDPI कैंडिडेट टी इस्माइल को क्रॉस वोटिंग कर दी।

24 सदस्यों वाली पंचायत में भाजपा के 13 जबकि SDPI के 10 सदस्य थे। उल्लाल के अनुसार भाजपा कार्यकर्ता फयाज और मुहम्मद की क्रॉस वोटिंग के कारण भाजपा और SDPI दोनों के कैंडिडेट को 11-11 वोट मिले। इसके बाद चुनाव अधिकारी के आदेश पर ड्रॉविंग लॉट के आधार पर SDPI के टी इस्माइल को विजेता घोषित किया गया।

फर्जी फैक्ट चेकर मोहम्मद जुबैर

जब सब कुछ इंटरनेट पर मौजूद है तो फिर ‘फैक्ट चेकर’ मोहम्मद जुबैर ने टाइम्स नाउ के वीडियो को रिट्वीट क्यों किया? क्योंकि इसका काम ही यही है। आतंकियों को बचाना, दंगाइयों को कवर देना… इनसे कुछ समय बच जाए तो भाजपा के खिलाफ प्रोपेगेंडा करना।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

साथियों ने हाथ-पाँव पकड़ा, काज़िम अंसारी ने ताबतोड़ घोंपा चाकू… धराया VIP अध्यक्ष मुकेश सहनी के पिता का हत्यारा, रात के डेढ़ बजे घर...

घटना की रात काज़िम अंसारी ने 10-11 बजे के बीच रेकी भी की थी जो CCTV में कैद है। रात के करीब डेढ़ बजे ये लोग पीछे के दरवाजे से घर में घुसे।

प्राइवेट नौकरियों में 75% आरक्षण वाले बिल पर कॉन्ग्रेस सरकार का U-टर्न, वापस लिया फैसला: IT कंपनियों ने दी थी कर्नाटक छोड़ने की धमकी

सिद्धारमैया के फैसले का भारी विरोध भी हो रहा था, जिसकी वजह से कॉन्ग्रेसी सरकार बुरी तरह से घिर गई थी। यही नहीं, इस फैसले की जानकारी देने वाले ट्वीट को भी मुख्यमंत्री को डिलीट करना पड़ा था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -