Friday, May 24, 2024
Homeफ़ैक्ट चेकराजनीति फ़ैक्ट चेककॉन्ग्रेस नेता नगमा ने फैलाई फेक न्यूज, CAA विरोधी प्रदर्शनकारी अल्वी को बताया वाजपेयी...

कॉन्ग्रेस नेता नगमा ने फैलाई फेक न्यूज, CAA विरोधी प्रदर्शनकारी अल्वी को बताया वाजपेयी की भतीजी

वीडियो में नज़र आने वाली महिला अटल बिहारी वाजपेयी की भतीजी नहीं है। उसमें साफ़ देखा जा सकता है कि वीडियो का स्रोत ‘HNP News’ है। महिला का असली नाम अतिया अल्वी है और वह एक सामाजिक कार्यकर्ता के रूप में काम करती है।

अभिनेत्री और कॉन्ग्रेस नेता नगमा ने मंगलवार (6 अक्टूबर 2020) को फेक न्यूज को हवा देते हुए बीजेपी सरकार की आलोचना करने वाली एक महिला को पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेयी की भतीजी बताया। मोदी सरकार को घेरने की जल्दबादी में नगमा ने इस महिला के वीडियो को ट्वीट किया। महिला मोदी सरकार पर कथित वादे पूरे नहीं करने का आरोप लगा रही थी।

हिन्दी में लिखे गए अपने ट्वीट में कॉन्ग्रेस नेता नगमा ने कहा, “अटल जी की भतीजी कह रही है ये देश को बाँटने की भयंकर साज़िश आरएसएस और भाजपा का एजेंडा है और वे इस पर अमादा है। देश की एकता और अखंडता को गोदी मीडिया के साथ मिल कर बर्बाद कर रहे हैं। नौजवानों को रोज़गार देने में ये विफल रहे हैं। किसानों को बर्बाद कर दिया है और बेटियों की सुरक्षा नहीं कर पा रहे हैं।” 

(साभार – ट्विटर, नगमा)

इसके अलावा तमाम इंटरनेट यूज़र्स और कॉन्ग्रेस कार्यकर्ता-समर्थकों ने भी यह वीडियो साझा किया। वीडियो साझा करते हुए उन्होंने यह भी कहा कि अटल जी की भतीजी मोदी सरकार की आलोचना कर रही है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार यही वीडियो क्लिप इस साल की शुरुआत में लोगों ने खूब साझा की थी, जब देश में सीएए और एनआरसी का विरोध अपने चरम पर था। उस वक्त भी वीडियो शेयर करने वालों का यही कहना था कि महिला पूर्व प्रधानमंत्री अटल जी की भतीजी है।     

साभार – इंडिया टुडे

असल तथ्य यह है कि वीडियो में नज़र आने वाली महिला अटल बिहारी वाजपेयी की भतीजी नहीं है। उसमें साफ़ देखा जा सकता है कि वीडियो का स्रोत ‘HNP News’ है। महिला का असली नाम अतिया अल्वी है और वह एक सामाजिक कार्यकर्ता के रूप में काम करती है। वायरल वीडियो इस साल के जनवरी महीने में दिल्ली के जंतर-मंतर पर बनाया गया था, जब सीएए और एनआरसी का विरोध हो रहा था। 

इन तथ्यों के आधार पर स्पष्ट है कि कॉन्ग्रेस नेता नगमा द्वारा इस महिला के बारे में किया गया दावा गलत है। बहुत जल्द यह बात सुर्ख़ियों में आ गई कि उनके द्वारा किया गया दावा झूठा है, इसके बावजूद उन्होंने अपना ट्वीट डिलीट नहीं किया।

fact check congress leader nagma spreads fake news vajpayee niece

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बाबरी का पक्षकार राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा समारोह में आ गया, लेकिन कॉन्ग्रेस ने बहिष्कार किया’: बोले PM मोदी – इन्होंने भारतीयों पर मढ़ा...

प्रधानमंत्री ने स्पष्ट ऐलान किया कि अब यह देश न आँख झुकाकर बात करेगा और न ही आँख उठाकर बात करेगा, यह देश अब आँख मिलाकर बात करेगा।

कॉन्ग्रेस नेता को ED से राहत, खालिस्तानियों को जमानत… जानिए कौन हैं हिन्दुओं पर हमले के 18 इस्लामी आरोपितों को छोड़ने वाले HC जज...

नवंबर 2023 में जब राजस्थान में विधानसभा चुनाव को लेकर सरगर्मी चरम पर थी, जब जस्टिस फरजंद अली ने कॉन्ग्रेस उम्मीदवार मेवाराम जैन को ED से राहत दी थी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -