Saturday, October 1, 2022
Homeफ़ैक्ट चेकसोशल मीडिया फ़ैक्ट चेक'टोपी-कुर्ता-दाढ़ी वाला ही होता है हैवानियत का शिकार': AAP विधायक अमानतुल्लाह खान ने शेयर...

‘टोपी-कुर्ता-दाढ़ी वाला ही होता है हैवानियत का शिकार’: AAP विधायक अमानतुल्लाह खान ने शेयर किया वीडियो, जानिए सच्चाई

हुआ कुछ यूँ कि महेंद्र बसवनाथे नामक व्यक्ति के घर के बाहर उनकी बाइक खड़ी थी। शाम 5 बजे अचानक से एक चार पहिया वाहन आया और उसने बाइक को टक्कर मार दी। फिर...

सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसे आम आदमी पार्टी (AAP) के विधायक अमानतुल्लाह खान ने आगे बढ़ाया है। इस वीडियो में देखा जा सकता है कि कुछ लोग मिल कर एक व्यक्ति को पीट रहे हैं और वो जमीन पर गिरा हुआ है। एक शख्स ने इस दौरान उस युवक को बाइक से कुचलने का भी प्रयास किया। भीड़ द्वारा पीटे जा रहे इस व्यक्ति के वीडियो को लेकर तरह-तरह के दावे किए जा रहे हैं।

दिल्ली वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष अमानतुल्लाह खान ने इस वीडियो को अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से शेयर करते हुए लिखा, “नए भारत में नए कीर्तिमान अब कुछ इस तरह बनाए जा रहे हैं। अगर आप में इंसानियत ज़िंदा है तो आपको भी देख कर दुःख होगा। हर बार की तरह ‘टोपी-कुर्ता-दाढ़ी’ वाला शख्स ही हैवानियत का शिकार होता दिखेगा। BJP सरकार भले ही विकास करने में असमर्थ रही हो, लेकिन नफ़रत फैलाने में अव्वल साबित हुई। दुःखद!”

अब हम आपको बताते हैं कि इस वीडियो की सच्चाई क्या है। दरअसल, वीडियो में लोग मराठी में बातें करते हुए दिख रहे हैं। ‘दैनिक भास्कर’ ने अपने मराठी संस्करण ‘दिव्य मराठी’ के हवाले से बताया है कि इस वीडियो में कहीं भी मजहब-जाति को लेकर टिप्पणी नहीं की गई है। वीडियो में लोगों की बात सुनने के बाद पता चलता है कि ये मामला सांप्रदायिक नहीं है। 15 जून का ये मामला महाराष्ट्र के अमरावती का है।

हुआ कुछ यूँ कि महेंद्र बसवनाथे नामक व्यक्ति के घर के बाहर उनकी बाइक खड़ी थी। शाम 5 बजे अचानक से एक चार पहिया वाहन आया और उसने बाइक को टक्कर मार दी। इतना ही नहीं, वो बाइक को 2 किलोमीटर तक घसीटता ही चला गया। ड्राइवर को आक्रोशित लोगों ने पकड़ कर पीटा और पुलिस के हवाले कर दिया। उसका नाम मोहम्मद फेजान था। ये जनता के आक्रोश का मामला था, जिस तरह की घटनाएँ अक्सर देखने को मिलती हैं।

अख़बार के स्थानीय संवाददाताओं ने इस घटना के सांप्रदायिक होने से इनकार किया है। अक्सर ऐसा देखा जाता है कि तेज़ रफ़्तार गाड़ी से अगर किसी को नुकसान पहुँचता है तो लोगों का गुस्सा सबसे पहले उस गाड़ी के ड्राइवर पर ही फूटता है। इस दौरान वो ये नहीं देखते कि सामने वाला किस धर्म-जाति-मजहब का है। कई बार चोरी के मामले में भी ऐसा होता है। इसके सहारे अमानतुल्लाह खान जैसे लोग राजनीति चमकाने में लगे हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

दुर्गा पूजा कार्यक्रम में गरबा करता दिखा मुनव्वर फारूकी, सेल्फी लेने के लिए होड़: वीडियो आया सामने, लोगों ने पूछा – हिन्दू धर्म का...

कॉमेडी के नाम पर हिन्दू देवी-देवताओं को गाली देकर शो करने वाला मुनव्वर फारुकी गरबा के कार्यक्रम में देखा गया, जिसके बाद लोग आक्रोशित हैं।

धर्म ही नहीं जमीन भी गँवा रहे हिंदू: कब्जे की भूमि पर चर्च-कब्रिस्तान से लेकर मिशनरी स्कूल तक, पहाड़ों का भी हो रहा धर्मांतरण

जमीनी स्थिति भयावह है। सरकारी से लेकर जनजातीय समाज की जमीनों पर ईसाई मिशनरियों का कब्जा है। अदालती आदेशों के बाद भी जमीन खाली नहीं हो रहे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
225,570FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe