Tuesday, June 18, 2024
Homeफ़ैक्ट चेकसोशल मीडिया फ़ैक्ट चेक'कार से निकल कर भाग रहे हैं मंत्री के बेटे आशीष मिश्रा': 10 सेकेंड...

‘कार से निकल कर भाग रहे हैं मंत्री के बेटे आशीष मिश्रा’: 10 सेकेंड के वायरल वीडियो का FACT CHECK

यहाँ तक कि सेवानिवृत्त IAS सूर्य प्रताप सिंह ने भी इस वीडियो को आगे बढ़ाया। उन्होंने लिखा, "देखो, वो भागा जा रहा है। नया वीडियो।"

सोशल मीडिया पर लखीमपुर खीरी हिंसा मामले का एक 10 सेकेंड का वीडियो शेयर कर के आरोप लगाया जा रहा है कि इसमें गाड़ी से निकल कर भाग रहा व्यक्ति केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय कुमार मिश्रा ‘टेनी’ के बेटे आशीष ‘मोनू’ हैं। कॉन्ग्रेस पार्टी के अलावा इसके समर्थकों व ‘गिरोह विशेष’ के पत्रकारों ने इस वीडियो को आगे बढ़ाया। आरोप लगाया गया कि किसानों को कुचलने के बाद आशीष मिश्रा गाड़ी से निकल कर भाग रहे हैं।

मणिपुर प्रदेश कॉन्ग्रेस सेवादल ने अपने आधिकारिक हैंडल से इस वीडियो को शेयर करते हुए लिखा, “ये एक आतंकवादी कृत्य है। अगर इस मामले में कोई अल्पसंख्यक समाज का व्यक्ति दोषी होता तो पूरी दुनिया की मीडिया इसे चलाती। लेकिन, यहाँ एक मंत्री का बेटा है। उस मंत्री को बरख़ास्त करो और उसके बेटे को गिरफ्तार करो।”

कॉन्ग्रेस समर्थक पत्रकार आदेश रावल ने इस वीडियो को शेयर करते हुए लिखा, “और भी सबूत चाहिए?”

यहाँ तक कि सेवानिवृत्त IAS सूर्य प्रताप सिंह ने भी इस वीडियो को आगे बढ़ाया। उन्होंने लिखा, “देखो, वो भागा जा रहा है। नया वीडियो।”

कॉन्ग्रेस के सचिव और उत्तर प्रदेश में पार्टी के इंचार्ज तौकीर आलम ने इस वीडियो को आगे बढ़ाते हुए लिखा, मंत्री जी अगर आपका बेटा वहाँ नहीं था, तो ये जो गाड़ी से भाग रहा है, वह कौन है? अजय मिश्रा। तेरी झूठ पकड़ी गयी। मोदी, लखीमपुर आओ। मोदी, अजय मिश्रा का इस्तीफा लो।”

लखीमपुर खीरी हिंसा: जानिए क्या है ‘आशीष मिश्रा’ बताए जाने वाले वीडियो की सच्चाई

अब हम आपको बताते हैं कि इस वीडियो की सच्चाई क्या है। लखीमपुर के ही रहने वाले NBT के पत्रकार शिवम भट्ट ने स्पष्ट कहा है कि ये व्यक्ति आशीष मिश्रा नहीं हैं। NBT की खबर के अनुसार, अगर दोनों की कद-काठी की तुलना की जाए तो पता चलता है कि जहाँ आशीष का कद सामान्य है और थोड़े मोटे हैं, जबकि वीडियो में भागते दिख रहे व्यक्ति की लंबाई करीब 5 फीट 10 इंच है और इकहरा बदन है।

वीडियो में कार से निकल कर भाग रहे व्यक्ति आशीष मिश्रा नहीं, बल्कि उसकी पहचान सुमित जायसवाल के रूप में हुई है। स्थानीय लोगों ने भी इस तथ्य की पुष्टि की है। सुमित के बारे में बता दें कि वो स्थानीय भाजपा कार्यकर्ता हैं और नगर पालिका परिषद लखीमपुर में शिवपुरी वॉर्ड से सभासद हैं। ये भी पता चला है कि घटना के दिन सुमित जायसवाल भी बनबीरपुर में आयोजित कार्यक्रम में उपस्थित थे।

सुमित जायसवाल ने ‘किसान प्रदर्शनकारियों’ के विरुद्ध FIR भी दर्ज करवाई है। उनकी ही तहरीर पर 10-15 अज्ञात लोगों के खिलाफ हत्या, आपराधिक साजिश और बलवा सहित की धाराओं में FIR दर्ज की गई है। उधर आशीष मिश्रा समेत 14 के विरुद्ध भी मुकदमा दर्ज हुआ है। पुलिस ने कई वीडियो की जाँच करते हुए 24 लोगों को चिह्नित किया है। इन सब के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जिस जगन्नाथ मंदिर में फेंका गया था गाय का सिर, वहाँ हजारों की भीड़ ने जुट कर की महा-आरती: पूछा – खुलेआम कैसे घूम...

रतलाम के जिस मंदिर में 4 मुस्लिमों ने गाय का सिर काट कर फेंका था वहाँ हजारों हिन्दुओं ने महाआरती कर के असल साजिशकर्ता को पकड़ने की माँग उठाई।

केरल की वायनाड सीट छोड़ेंगे राहुल गाँधी, पहली बार लोकसभा लड़ेंगी प्रियंका: रायबरेली रख कर यूपी की राजनीति पर कॉन्ग्रेस का सारा जोर

राहुल गाँधी ने फैसला लिया है कि वो वायनाड सीट छोड़ देंगे और रायबरेली अपने पास रखेंगे। वहीं वायनाड की रिक्त सीट पर प्रियंका गाँधी लड़ेंगी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -