Friday, July 1, 2022
Homeफ़ैक्ट चेकसोशल मीडिया फ़ैक्ट चेकमस्जिद में मिले बम और हथियार... फ्रांस ने उसी बम से मस्जिद उड़ा दी:...

मस्जिद में मिले बम और हथियार… फ्रांस ने उसी बम से मस्जिद उड़ा दी: वायरल दावे की हकीकत क्या

ऑपइंडिया की तहकीकात में यह साफ होता है कि सोशल मीडिया पर वायरल होने वाला पोस्ट गलत है और भ्रामक है। इसमें किए गए दावों का वास्तविकता से कोई लेना-देना नहीं है।

सोशल मीडिया पर फ्रांस के बारे में एक पोस्ट वायरल हो रहा है। इस पोस्ट में दावा किया जा रहा है कि फ्रांस की एक मस्जिद में बम और हथियार मिले थे, जिसके बाद वहाँ की सरकार ने उसी बम से मस्जिद को उड़ा दिया। कुछ लोग इसे सादे पोस्ट की तरह शेयर कर रहे हैं। वहीं कुछ ने इसके साथ एक फोटो भी जोड़ी हुई है।

वायरल दावा
वायरल पोस्ट

अब वायरल दावे की सच्चाई क्या है इसकी तहकीकात में हमने कुछ विदेशी मीडिया साइट्स को चेक किया और कुछ आधिकारिक ट्विटर हैंडल भी खँगाले। लेकिन, कहीं ऐसी कोई जानकारी सामने नहीं आई। कुछ रिपोर्ट्स जो मिलीं वो 5-6 साल पुरानी थीं। यानी ये स्पष्ट था कि ये घटना या दावा हालिया नहीं है।

फ्रांस में मस्जिदों पर हुई कार्रवाई संबंधी न्यूज।
फ्रांस में मस्जिदों पर हुई कार्रवाई संबंधी न्यूज।

इंटरनेट पर मौजूद जानकारी से यह पता चला है कि 13 नवंबर 2015 को पेरिस हमले के बाद फ्रांस सरकार ने इस्लामी कट्टरवाद के ख़िलाफ़ एक्शन लेते हुए 100 से ज्यादा मस्जिदों को बंद किया था और इसी क्रम में एक मस्जिद से उन्होंने 24 सैन्य हथियार और 334 हथियार जब्त किए थे।

अलजजीरा में प्रकाशित एक रिपोर्ट का स्क्रीनशॉट

वायरल पोस्ट के दावे के हिसाब से हमने कोई तथ्यपरक जानकारी न मिलने पर शेयर की जा रही तस्वीर के जरिए इसे खोजा। हालाँकि तस्वीर और उसके इर्द-गिर्द का इलाका दर्शा ही रहा है कि ये तस्वीर फ्रांस की नहीं हो सकती। लेकिन फोटो को खोजने पर और पुख्ता हो जाता है कि ये तस्वीर बिहार के बांका की है। वहाँ 8 जून 2021 को एक विस्फोट हुआ था, जिस पर पुलिस ने कार्रवाई भी की थी।

शेयर की जा रही तस्वीर बांका के मदरसे में हुए विस्फोट की है। फोटो के जरिए गूगल सर्च करने पर ये नतीजे सामने आते हैं।
बाँका में हुए विस्फोट पर खबर

अंतत: ऑपइंडिया की तहकीकात में यह साफ होता है कि सोशल मीडिया पर वायरल होने वाला पोस्ट गलत है और भ्रामक है। इसमें किए गए दावों का वास्तविकता से कोई लेना-देना नहीं है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘एकनाथ शिंदे मुख्यमंत्री बनेंगे, नहीं थी किसी को कल्पना’: राजनीति के धुरंधर एनसीपी चीफ शरद पवार भी खा गए गच्चा, कहा- उम्मीद थी वो...

शरद पवार ने कहा कि किसी को भी इस बात की कल्पना नहीं थी कि एकनाथ शिंदे को महाराष्ट्र का सीएम बना दिया जाएगा।

आँखों के सामने बच्चों को खोने के बाद राजनीति से मोहभंग, RSS से लगाव: ऑटो चलाने से महाराष्ट्र के CM बनने तक शिंदे का...

साल में 2000 में दो बच्चों की मौत के बाद एकनाथ शिंदे का राजनीति से मोहभंग हुआ। बाद में आनंद दिघे उन्हें वापस राजनीति में लाए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
201,269FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe