Fact Check: क्या शीला दीक्षित ने कहा कि केजरीवाल वोटों के लिए अपनी माँ को भी बेच सकता है?

वायरल पोस्ट में इस रिपोर्ट के कुछ हिस्से का ही इस्तेमाल किया गया। यह रिपोर्ट शीला दीक्षित के इंटरव्यू से संबंधित हैं। वायरल पोस्ट में कहा गया है कि दिल्ली की मुख्यमंत्री शीला दीक्षित ने कहा की केजरीवाल वोट के लिए अपनी माँ को भी बेच सकता है।

सोशल मीडिया पर अरविन्द केजरीवाल की छवि ख़राब करने के लिए एक अखबार के कटिंग को वायरल किया जा रहा है। वायरल हो रही इस पोस्ट में दावा किया गया है कि केजरीवाल वोट हासिल करने के लिए किसी भी स्तर तक जा सकते हैं। इसमें यह सन्देश दिया जा रहा है कि दिल्ली कॉन्ग्रेस कमेटी की अध्यक्ष शीला दीक्षित ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के बारे में कथित रूप से ये कहा है कि ‘केजरीवाल वोट के लिए अपनी माँ तक को बेच सकते हैं’। देखते हैं कि इस कटिंग की सच्चाई क्या है।

क्या है अफवाह?

सोशल मीडिया पर शीला दीक्षित की तस्वीर के साथ समाचार पत्र का एक कथित क्लिप शेयर किया गया है, जिसमें अरविंद केजरीवाल के बारे में उनके कथित बयान का जिक्र किया गया है।

सोशल मीडिया पर हो रही है वायरल
sheila dikshit fake quote
वायरल किया जा रहा फर्जी पोस्ट

क्या है सच्चाई?

इस फेक न्यूज़ पेपर कटिंग की छानबीन करने पर पता चलता है कि इसी तरह की एक रिपोर्ट ‘आजतक’ की वेबसाइट पर लिखी गई है। आजतक की रिपोर्ट के साथ छेड़छाड़ करके उसे वायरल कर दिया गया है। वायरल पोस्ट ने हिंदी न्यूज़ वेबसाइट ‘आजतक’ की रिपोर्ट को शब्दशः उठाकर फेक न्यूज़ की तरह फैलाया गया है।

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

आजतक में प्रकाशित मूल कहानी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा आतंकवाद से निपटने पर दीक्षित की टिप्पणी के बारे में थी। दिलचस्प बात यह है कि वायरल रिपोर्ट में लीड पैराग्राफ को छोड़कर अरविंद केजरीवाल के नाम का जिक्र कहीं भी नहीं आता है। अखबार की इस फर्जी कटिंग को ध्यान से देखने पर ही पता चलता है कि केजरीवाल वाली लाइन और शेष कहानी के फ़ॉन्ट्स में भारी अंतर है।

different fonts of sheila dikshits fake quote
फर्जी एडिटिंग द्वारा लोगों को उल्लू बना रहे हैं

फर्जी कटिंग वाले वायरल पोस्ट और आजतक के रिपोर्ट की तुलना करने पर दोनों में काफी गलतियाँ मिलती हैं। इस वायरल फर्जी तस्वीर में ‘आजतक’ की रिपोर्ट में शीला दीक्षित को दिल्ली के मुख्यमंत्री के तौर पर सम्बोधित किया गया है। मूल और फर्जी कटिंग, दोनों रिपोर्ट्स ने शिला दीक्षित को दिल्ली की मुख्यमंत्री बताया है।

इस तस्वीर में सामान्य ज्ञान की कमी ढूँढिए

मार्च 15, 2019 को लिखी गई मूल रिपोर्ट में कहा गया है, “दिल्ली की मुख्यमंत्री शीला दीक्षित ने कहा कि मनमोहन सिंह की तुलना में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आतंकवाद के ख़िलाफ़ कड़ी कार्रवाई की।” हालाँकि, वायरल पोस्ट में उनके बयान को बदल दिया गया है और कहा गया है कि दिल्ली की मुख्यमंत्री शीला दीक्षित ने कहा की केजरीवाल वोट के लिए अपनी माँ को भी बेच सकता है।

रिपोर्ट को पढ़ने के बाद आप यह देख सकते हैं कि वायरल पोस्ट में इस रिपोर्ट के कुछ हिस्से का ही इस्तेमाल किया गया। यह रिपोर्ट शीला दीक्षित के इंटरव्यू से संबंधित हैं, जिसमें उन्होंने कहीं भी दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का जिक्र नहीं किया है। दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित का यह इंटरव्यू टीवी एंकर वीर सांघवी ने किया था। वहीं, पेपर की क्लिप में जिस खबर को इस्तेमाल किया गया है, उसे एक हिंदी न्यूज चैनल की साइट से हूबहू उठाया गया है।

निष्कर्ष: खबर को एडिट कर वायरल किया जा रहा है, शीला दीक्षित ने कभी ऐसा कोई बयान नहीं दिया

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

कमलेश तिवारी
कमलेश तिवारी की हत्या के बाद एक आम हिन्दू की तरह, आपकी तरह- मैं भी गुस्से में हूँ और व्यथित हूँ। समाधान तलाश रहा हूँ। मेरे 2 सुझाव हैं। अगर आप चाहते हैं कि इस गुस्से का हिन्दुओं के लिए कोई सकारात्मक नतीजा निकले, मेरे इन सुझावों को समझें।

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

105,514फैंसलाइक करें
19,261फॉलोवर्सफॉलो करें
109,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: