Thursday, July 7, 2022
Homeफ़ैक्ट चेकसोशल मीडिया फ़ैक्ट चेक'BJP ने आखिर दे ही दिया कंगना रनौत को लोकसभा का टिकट, मंडी उपचुनाव...

‘BJP ने आखिर दे ही दिया कंगना रनौत को लोकसभा का टिकट, मंडी उपचुनाव में काटा बड़ा नाम’- Fact Check

सोशल मीडिया पर कंगना के नाम वाली लिस्ट कई जगह शेयर होती देखने को मिली। इसे इतनी सफाई से बनाया गया गया कि इसपे स्टांप भी थी और जरूरी हस्ताक्षर भी थे। लोगों को लगा यही भाजपा प्रत्याशियों की आधिकारिक सूची है।

बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत के बेबाक रवैये और उनका भाजपा की ओर झुकाव देख अक्सर विपक्षी विचारधारा के लोग ये इल्जाम लगाते हैं कि वो आने वाले समय में पार्टी से टिकट चाहती हैं, इसलिए बयानबाजी करती हैं। अभिनेत्री ने उनके बीजेपी से जुड़ने की अटकलों को कई बार खारिज किया है। मगर फिर भी ये बातें बंद नहीं होती। इस बार तो उनके विरोध में प्रचार करने वालों ने मंडी से उन्हें भाजपा प्रत्याशी ही बना डाला और इस संबंध में एक लिस्ट भी जारी कर दी।

सोशल मीडिया पर कंगना के नाम वाली लिस्ट कई जगह शेयर होती देखने को मिली। इसे इतनी सफाई से बनाया गया गया कि इसपे स्टांप भी थी और जरूरी हस्ताक्षर भी थे। लोगों को लगा यही भाजपा प्रत्याशियों की आधिकारिक सूची है। हालाँकि पूरे फर्जीवाड़े का खुलासा तब हुआ भाजपा ने मंडी संसदीय क्षेत्र में कारगिल हीरो ब्रिगेडियर कुशाल ठाकुर का नाम घोषित किया गया।

सोशल मीडिया पर रिलीज हुई प्रत्याशियों की फेक लिस्ट

प्रदेश में भाजपा मीडिया प्रभारी करण नंदा ने इस प्रकार की सूची को फर्जी कहा है। उनका कहना है कि इस मामले में भाजपा ने संज्ञान लिया है और टिकट आवंटन से जुड़ी फर्जी सूची जारी करने और दुष्प्रचार करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। भाजपा लीगल सेल की ओर से इसकी साइबर सेल में शिकायत की गई है। पार्टी के लीगल सेल ने पूरे मामले को गंभीरता से लिया है। पता लगाया जा रहा है कि संदेश जारी कहाँ से हुआ।

इस संबंध में मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने धर्मशाला में पार्टी की उच्च स्तरीय बैठक में शामिल होकर भी अटकलों पर विराम लगाया था। उन्होंने कथित तौर पर कहा कि राज्य चुनाव समिति की बैठक में अभिनेत्री का नाम कभी नहीं आया। उन्होंने जोर देकर कहा कि मंडी संसदीय क्षेत्र का टिकट किसी पार्टी कार्यकर्ता को जाएगा, किसी सेलिब्रिटी व्यक्ति को नहीं।

बता दें कि ये पहली दफा नहीं है लोकसभा चुनावों के दौरान कंगना का नाम भाजपा के प्रत्याशी के तौर पर उछाल दिया गया हो। साल 2019 में भी यही कारनाम किया गया था। लेकिन सच्चाई यह थी कि मंडी संसदीय क्षेत्र से रामस्वरूप शर्मा को भाजपा ने आधिकारिक तौर पर टिकट दिया गया था। तब भी भाजपा ने शरारती तत्वों के खिलाफ FIR दर्ज करवाई थी।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘ह्यूमैनिटी टूर’ पर प्रोपेगेंडा, कश्मीर फाइल्स ‘इस्लामोफोबिक’: द क्विंट को विवेक अग्निहोत्री ने किया बेनकाब

"हम इन फे​क FACT-CHECKERS को नजरअंदाज करते थे, लेकिन सच्ची देशभक्ति इन देशद्रोही Urban Naxals (अर्बन नक्सलियों) को बेनकाब करना और हराना है।”

राजस्थान पुलिस की कस्टडी में मुस्कुराता दिखा नूपुर शर्मा का गर्दन माँगने वाला अजमेर दरगाह का खादिम, जिस CO ने ‘नशे की बात’ पर...

राजस्थान के अजमेर शरीफ दरगाह के CO संदीप सारस्वत को उनके पद से हटा दिया गया है। अजमेर SP ने बताया कि उन्हें लाइन हाजिर किया गया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
204,282FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe