Wednesday, August 4, 2021
Homeफ़ैक्ट चेकसोशल मीडिया फ़ैक्ट चेकबीजेपी नेता की तस्वीर का इस्तेमाल कर विपक्षी नेताओं ने किया हाथरस के एक...

बीजेपी नेता की तस्वीर का इस्तेमाल कर विपक्षी नेताओं ने किया हाथरस के एक आरोपित का पिता होने का झूठा दावा, फैलाया फेक न्यूज़

डॉ श्याम प्रकाश द्विवेदी के फेसबुक अकाउंट पर भाजपा के शीर्ष नेताओं के साथ उनकी कई तस्वीरें हैं। द्विवेदी भाजपा युवा मोर्चा के काशी मंडल के क्षेत्रीय उपाध्यक्ष और प्रयागराज के वरिष्ठ नेता हैं।

हाथरस की घटना ने पूरे देश को दहला दिया है। अलग-अलग जगहों से लोग 19 वर्षीय मृतका के लिए इंसाफ माँग रहे है। हालाँकि, अभी तक इस घटना की जाँच पूरी नहीं हुई है। हर दिन मामले में अलग-अलग साक्ष्य सामने आ रहे है।

बता दें इस मामले का पूरा विवरण अभी तक सामने नहीं आया है, फिर भी विपक्षी पार्टी और मीडिया की ओर से घटना का राजनीतिकरण जारी है। भाजपा को नीचा दिखाने और अपनी राजनीतिक रोटियाँ सेकने के लिए कोई भी विपक्षी पार्टी पीछे नहीं है।

हाथरस पीड़िता की दुर्भाग्यपूर्ण मौत का राजनीतिकरण करने और राजनीतिक लाभ हासिल करने की एक और कोशिश करते हुए विपक्षियों द्वारा सोशल मीडिया पर आरोपितों में से एक के पिता को भाजपा नेता साबित करने के लिए कई तस्वीरें शेयर की जा रही है। साथ ही तस्वीरों में आरोपित के पिता की निकटता राजनाथ सिंह, यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ और अन्य भाजपा के वरिष्ठ नेताओं के साथ भी बताया जा रहा है।

टीएमसी नेता डॉ काकोली दस्तीदार ने हाथरस की घटना के आरोपितों में से एक के पिता का भाजपा के टॉप नेताओं के साथ कथितरूप से संबंधों को बताते हुए एक व्यक्ति की कई तस्वीरों को साझा किया है। कथिततौर पर जिस व्यक्ति को आरोपित का पिता बताया गया है उसकी फोटो यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ के साथ भी है। साथ ही टीएमसी नेता ने यह आरोप लगाया कि भाजपा ने 19 वर्षीय लड़की के हत्यारों का समर्थन किया।

कई अन्य सोशल मीडिया ने भी इन चित्रों को साझा करते हुए एक जैसा ही दावा किया है। यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ, पीएम मोदी और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के साथ दिख रहे एक व्यक्ति को हाथरस के केस में गिरफ्तार चार आरोपितों में से एक का पिता बताया गया है।

एक अन्य टीएमसी नेता उत्तर 24 परगना के जिला महासचिव पारोमिता सेन ने भी फेसबुक पर तस्वीरें साझा करके आरोप लगाया कि आरोपित के पिता का भाजपा के वरिष्ठ नेतृत्व के साथ घनिष्ठ संबंध हैं।

टीएमसी नेता पारोमिता सेन का फेसबुक पोस्ट

वहीं शिवसेना के कार्यवाहक लालाभाई गढ़वी ने भी यह कहते हुए तस्वीरें साझा की कि हाथरस की घटना में गिरफ्तार अभियुक्त के पिता के साथ योगी जी और मोदी जी दिखाई दे रहे हैं।

शिवसेना के कार्यवाहक लालाभाई गढ़वी द्वारा शेयर की गई फोटो

फैक्ट चेक

गौरतलब है कि जिन तस्वीरों को वायरल कर विपक्षी आरोपित के पिता का संबंध भाजपा के साथ जोड़ कर लोगों को गुमराह करने की कोशिश कर रहे थे, दरअसल वह तस्वीर आरोपित के पिता की नहीं बल्कि प्रयागराज के भाजपा नेता डॉ श्याम प्रकाश द्विवेदी की है। जिसका पता रिवर्स सर्च से चला है।

भाजपा नेता डॉ श्याम प्रकाश द्विवेदी की फेसबुक प्रोफाइल

डॉ श्याम प्रकाश द्विवेदी के फेसबुक अकाउंट पर भाजपा के शीर्ष नेताओं के साथ उनकी कई तस्वीरें हैं। द्विवेदी भाजपा युवा मोर्चा के काशी मंडल के क्षेत्रीय उपाध्यक्ष और प्रयागराज के वरिष्ठ नेता हैं।

इसलिए पीएम मोदी और योगी आदित्यनाथ सहित भाजपा के अन्य शीर्ष नेताओं के साथ हाथरस के आरोपित पिता की फ़ोटो होने का दावा फर्जी है। अपनी राजनीति चमकाने और जनता के बीच भाजपा की लोकप्रियता पर दाग लगाने की एक मात्र कोशिश की गई है। रिवर्स सर्च से यह साबित हो गया है कि जिन चित्रों को साझा किया जा रहा है, वह उत्तर प्रदेश के प्रयागराज के भाजपा नेता डॉ श्याम प्रकाश द्विवेदी की हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

5 करोड़ कोविड टीके लगाने वाला पहला राज्य बना उत्तर प्रदेश, 1 दिन में लगे 25 लाख डोज: CM योगी ने लोगों को दी...

उत्तर प्रदेश देश का पहला राज्य बन गया है, जिसने पाँच करोड़ कोरोना वैक्सीनेशन का आँकड़ा पार कर लिया है। सीएम योगी ने बधाई दी।

अ शिगूफा अ डे, मेक्स द सीएम हैप्पी एंड गे: केजरीवाल सरकार का घोषणा प्रधान राजनीतिक दर्शन

अ शिगूफा अ डे, मेक्स द CM हैप्पी एंड गे, एक अंग्रेजी कहावत की इस पैरोडी में केजरीवाल के राजनीतिक दर्शन को एक वाक्य में समेट देने की क्षमता है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,863FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe