Monday, June 17, 2024
Homeफ़ैक्ट चेकसोशल मीडिया फ़ैक्ट चेकड्रग तस्कर को पकड़ने गए समीर वानखेड़े पर 60 लोगों का हमला, सोशल मीडिया...

ड्रग तस्कर को पकड़ने गए समीर वानखेड़े पर 60 लोगों का हमला, सोशल मीडिया पर खबर वायरल: फैक्ट चेक

वायरल होते पोस्ट में दावा है कि वानखेड़े की टीम ड्रग पेडलर को पकड़ने गई थी मगर जैसे ही वह ड्रग पेडलर को गाड़ी में डालने लगे तो वहाँ भीड़ इकट्ठा हुई और उन पर हमला किया गया।

ड्रग केस में आर्यन खान की गिरफ्तारी के कारण एनसीबी अधिकारी समीर वानखेड़े के परिवार को लगातार धमकियाँ दी जा रही हैं। इस बीच सोशल मीडिया पर खबर चल रही है कि उनके ऊपर गोरेगाँव में 60 लोगों द्वारा हमला किया गया।

वायरल होते पोस्ट में दावा है कि वानखेड़े की टीम ड्रग पेडलर को पकड़ने गोरेगाँव गई थी, मगर जैसे ही वह ड्रग पेडलर को गाड़ी में डालने लगे तो वहाँ भीड़ इकट्ठा हुई और उन पर हमला किया गया। इसके बाद हीरो वाले अंदाज में उन्होंने पेडलर की कनपटी पर बंदूक तानी और भीड़ को पीछे हटने को कहा। फिर वह ड्रग तस्कर को गिरफ्तार करके ले गए। वहीं मुंबई पुलिस ने बाद में आकर सारी स्थिति को संभाला। वायरल होते पोस्ट में मीडिया को कोसा जा रहा है कि उन्होंने इस घटना को कवर नहीं किया।

सोशल मीडिया पर वायरल होता पोस्ट

इसके अलावा सवाल मुंबई पुलिस और उद्धव सरकार से भी किया जा रहा है। पोस्ट में पूछा जा रहा है कि इतना खतरनाक ड्रग्स कारोबार मुंबई पुलिस की नाक के नीचे चल रहा था लेकिन पुलिस और उद्धव सरकार में से किसी को भी इसकी भनक नहीं लगी।

अब किसी के लिए वाकई ये बात हैरान करने वाली है कि समीर वानखेड़े इन दिनों सबसे चर्चित नामों में से एक हैं। अगर उनके ऊपर वाकई ऐसा हमला हुआ तो इसकी कवरेज मीडिया में क्यों नहीं हुई, लेकिन जब ऑपइंडिया ने इस दावे की पड़ताल करनी शुरू की तो पता चला कि हमले की बात सही है लेकिन इसका आजकल से कोई लेना-देना नहीं है। ऐसी कोई घटना समीर वानखेड़े के साथ हाल-फिलहाल में नहीं घटी।

हमने एनसीबी पर गोरेगाँव में हुए हमले को लेकर गूगल सर्च किया और पाया कि वायरल दावा एक साल पुरानी घटना पर है। नीचे देख सकते हैं कि पोस्ट के दावे और खबरों से मिले तथ्य एक जैसे हैं।

कीवर्ड्स डालने के बाद सामने आए रिजल्ट्स

दरअसल, वानखेड़े की टीम पर ऐसा हमला हुआ है लेकिन वो मामला 22 नवंबर 2020 का है। जहाँ 6 एनसीबी अधिकारियों पर भीड़ ने हमला किया था। वानखेड़े इस पूरे अभियान को लीड कर रहे थे। जैसे ही टीम ने ड्रग तस्कर को हिरासत में लिया। कई लोगों की भीड़ इकट्ठा हो गई और हमला कर दिया। घटना में दो एनसीबी अधिकारी घायल हुए थे। बाद में पुलिस ने आकर स्थिति को संभाला था और ड्रग तस्कर गिरफ्तार हुआ था। वहीं हमलावरों में से भी कुछ लोग पकड़े गए थे। हाल फिलहाल में एनसीबी पर हुए हमले की बात करें तो ये अगस्त में हुआ था। तब एनसीबी ने मुंबई के मानखुर्द से 1 कोरड़ की ड्रग बरामद की थी और नाइजीरियन गैंग ने उन पर हमला किया था।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

केरल की वायनाड सीट छोड़ेंगे राहुल गाँधी, पहली बार लोकसभा लड़ेंगी प्रियंका: रायबरेली रख कर यूपी की राजनीति पर कॉन्ग्रेस का सारा जोर

राहुल गाँधी ने फैसला लिया है कि वो वायनाड सीट छोड़ देंगे और रायबरेली अपने पास रखेंगे। वहीं वायनाड की रिक्त सीट पर प्रियंका गाँधी लड़ेंगी।

बकरों के कटने से दिक्कत नहीं, दिवाली पर ‘राम-सीता बचाने नहीं आएँगे’ कह रही थी पत्रकार तनुश्री पांडे: वायर-प्रिंट में कर चुकी हैं काम,...

तनुश्री पांडे ने लिखा था, "राम-सीता तुम्हें प्रदूषण से बचाने के लिए नहीं आएँगे। अगली बार साफ़-स्वच्छ दिवाली मनाइए।" बकरीद पर बदल गए सुर।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -