Monday, July 26, 2021
Homeफ़ैक्ट चेकसोशल मीडिया फ़ैक्ट चेकसोनू सूद को UN से मिला बड़ा वाला अवार्ड? UNDP ने खुद ट्वीट कर...

सोनू सूद को UN से मिला बड़ा वाला अवार्ड? UNDP ने खुद ट्वीट कर बताई पूरी बात, आपने पढ़ी क्या?

इसमें कोई संदेह नहीं है कि सोनू सूद ने मुश्किल समय आने पर कई लोगों की मदद की और उन्हें उनके गृह राज्य पहुँचाया। उन्हें उनके उन कार्य के लिए सहारा जाना चाहिए। मगर, यह भी सच है कि सोनू सूद को...

लॉकडाउन के दौरान गरीब प्रवासी मजदूरों की मदद करने वाले सोनू सूद को लेकर सोशल मीडिया पर हर जगह चर्चा है। ऐसे में यदि कोई इस बात को कहे कि उन्हें उनके उत्कृष्ट कार्य के लिए सम्मान दिया जा रहा है, तो कोई भी बड़ी आसानी से विश्वास कर लेगा। कुछ ऐसा ही कल हुआ। कई न्यूज चैनल ने यह दावा किया कि सोनू सूद को उनकी इंसानियत के नाते किए गए कामों के लिए UNDP ने SDG स्पेशल ह्यूमेनिटेरियन एक्शन अवार्ड से सम्मानित किया है।

अब चूँकि पिछले दिनों हमने कुछ ऐसे मामले देखे, जहाँ व्यक्ति विशेष को सम्मान दी जाने की बातें झूठी निकलीं, मगर सोशल मीडिया पर उन्हें तेजी से शेयर किया गया और मीडिया में बिना प्रमाणिकता जाँचे उन्हें खबर की तरह चलाया गया। इसीलिए ऑपइंडिया ने सोनू सूद को सम्मान दिए जाने की पुष्टि UNDP वेबसाइट और एसडीजी एक्शन कैंपेन अवार्ड वेबसाइट पर जाकर की।

हमने पाया कि उन वेबसाइट्स पर अभी तक इस संबंध में कोई सूचना नहीं है। इसके अलावा सोशल मीडिया पर भी किसी के पास इस अवार्ड संबंधी कोई जानकारी नहीं थी। हमें अपनी पड़ताल में पता चला कि SDG एक्शन कैंपेन अवार्ड वेबसाइट के लिए तो अभी तक बस आवेदन दिए जा रहे हैं। इनके बंद होने की अंतिम तिथि 9 अक्टूबर 2020 है। वहीं वेबसाइट पर पिछले साल के विजेताओं की सूची है। इस साल के संबंध में वहाँ कोई लिस्ट नहीं है।

सोशल मीडिया पर मचे इस बवाल के बाद UNDP इंडिया ने खुद इस पर अपनी सफाई दी। 12:18 पर उन्होंने एक बयान ट्विटर पर डाला। इस बयान में उन्होंने नेटिजन्स के मन में उठने वाले सभी सवालों का जवाब दिया। उन्होंने अपने बयान में बताया कि यह पुरस्कार सोनू सूद को पंजाब सरकार के योजना विभाग द्वारा सतत विकास लक्ष्यों समन्वय केंद्र के साथ प्रदान किया गया था। इस पर फैसला एक स्वतंत्र जूरी ने लिया था। सिलेक्शन प्रक्रिया में यूएनडीपी शामिल नहीं थी।

यहाँ बता दें कि इस बात में कोई संदेह नहीं है कि सोनू सूद ने मुश्किल समय आने पर कई लोगों की मदद की और उन्हें उनके गृह राज्य पहुँचाया। आज उन्हें उनके उन कार्य के लिए सहारा जाना चाहिए। मगर, यह भी सच है कि सोनू सूद को उनके अच्छे कामों के लिए UNDP से अवार्ड नहीं मिला है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

असम-मिजोरम बॉर्डर पर भड़की हिंसा, असम के 6 पुलिसकर्मियों की मौत: हस्तक्षेप के दोनों राज्‍यों के CM ने गृहमंत्री से लगाई गुहार

असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने ट्वीट कर बताया कि असम-मिज़ोरम सीमा पर तनाव में असम पुलिस के 6 जवानों की जान चली गई है।

‘लखनऊ को दिल्ली बनाया जाएगा, चारों तरफ से रास्ते सील किए जाएँगे’: चुनाव से पहले यूपी में बवाल की टिकैत ने दी धमकी

राकेश टिकैत ने कहा कि दिल्ली की तरह लखनऊ का भी घेराव किया जाएगा। जिस तरह दिल्ली में चारों तरफ के रास्ते सील हैं, ऐसे ही लखनऊ के भी सील होंगे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,341FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe