Saturday, May 18, 2024
Homeफ़ैक्ट चेकसोशल मीडिया फ़ैक्ट चेक'UPTET के अभ्यर्थियों को सड़क पर गुजारनी पड़ी जाड़े की रात, परीक्षा हो गई...

‘UPTET के अभ्यर्थियों को सड़क पर गुजारनी पड़ी जाड़े की रात, परीक्षा हो गई रद्द’: जानिए सोशल मीडिया पर चल रहे प्रोपेगंडा का सच

अंत में यूपी पुलिस ने सच्चाई की जानकारी दी। ये तस्वीरें दरअसल राजस्थान के बेरोजगारों की है। राजस्थान सरकार इनकी नहीं सुन रही है, जिसके बाद ये उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ स्थित कॉन्ग्रेस दफ्तर के बाहर धरना देने पहुँचे थे।

सोशल मीडिया पर एक तस्वीर जम कर वायरल हो रही है, जिसके आधार पर दावा किया जा रहा है कि ये उत्तर प्रदेश में UPTET की परीक्षा देने वाले अभ्यर्थियों की तस्वीर है। कई लोगों ने ये तस्वीर शेयर कर के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की भाजपा सरकार पर निशानया साधा। कहा गया कि जाड़े की रात अभ्यर्थियों को इस तरह से रात गुजारनी पड़ी और बाद में पता चले कि परीक्षा रद्द हो गई, तो आपको कैसे लगेगा? दरअसल, UPTET की परीक्षा रद्द किए जाने की घोषणा के बाद इस तरह कि बातें की जा रही हैं।

नीचे आप देख सकते हैं कि किस तरह समाजवादी पार्टी से जुड़े और भाजपा विरोधी हैंडलों ने जम कर प्रॉपगंडा फैलाया।

अंत में यूपी पुलिस ने सच्चाई की जानकारी दी। ये तस्वीरें दरअसल राजस्थान के बेरोजगारों की है। राजस्थान सरकार इनकी नहीं सुन रही है, जिसके बाद ये उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ स्थित कॉन्ग्रेस दफ्तर के बाहर धरना देने पहुँचे थे। प्रियंका गाँधी अक्सर रोजगार की बातें करती हैं और वो उत्तर प्रदेश में खासी सक्रिय हैं, ऐसे में ये मामला उनकी फजीहत करा सकता है। लेकिन, इसे उलटा भाजपा के खिलाफ ही उपयोग किया जा रहा है। ये युवा राजस्थान में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की सरकार से आक्रोशित हैं।

उत्तर प्रदेश पुलिस ने जानकारी दी, “वायरल फ़ोटो UPTET के अभ्यर्थियों की नहीं है अपितु राजस्थान के युवकों की है। UPTET के परीक्षार्थियों को उनके एडमिट कार्ड के आधार पर सुविधापूर्वक यूपीएसआरटीसी की बसों से घर भेजा जा रहा है और यह परीक्षा राजकीय व्यय पर पुनः एक माह में आयोजित करायी जाएगी। कृपया भ्रामक खबर ना फैलाएँ।” उत्तर प्रदेश ने इस तस्वीर के सहारे अफवाह फैलाने की साजिशों को नाकाम करने के लिए ऐसा करने वालों पर कार्रवाई भी शुरू कर दी है।

उत्तर प्रदेश पुलिस ने तस्वीर शेयर कर जानकारी दी “UPTET परीक्षा के संबंध में फेसबुक अकाउंट ‘आपन देवरिया’ से भ्रामक फोटो/तथ्य पोस्ट किए जाने पर देवरिया पुलिस द्वारा अभियोग पंजीकृत करते हुए अभियुक्त प्रिंस यादव को गिरफ्तार कर नियमानुसार विधिक कार्यवाही की जा रही है। कृपया भ्रामक पोस्ट कर अफवाह न फैलाएँ।” राजस्थान में पिछले कुछ परीक्षाओं में भी गड़बड़ी की बातें सामने आई है। अशोक गहलोत सरकार मंत्रिमंडल विस्तार से लेकर आपसी कलह सुलझाने में व्यस्त है।

हालाँकि, पेपर लीक किए जाने के मामले में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने तत्काल ही आरोपियों की संपत्ति जब्त करने के आदेश पारित किए थे, जिसके क्रम में अब कार्रवाई भी शुरू हो गई है। गाजीपुर में सामूहिक नकल कराने और पेपर लीक के आरोप में शिक्षा माफिया महेंद्र कुशवाहा की संपत्ति को मुनादी करने के बाद सीज कर लिया गया। इस संपत्ति की कुल कीमत 4 करोड़ 80 लाख रुपए आँकी गई है। सीएम योगी ने इस मामले में कडा रुख अपनाते हुए बयान भी दिया था।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

CM केजरीवाल के घर से विभव कुमार को दिल्ली पुलिस ने उठाया: स्वाति मालीवाल की आई मेडिकल रिपोर्ट, आँख-चेहरा-पैर में चोट

राज्यसभा सांसद स्वाति मालीवाल के साथ मारपीट के मामले में दिल्ली पुलिस ने सीएम केजरीवाल के पीए विभव कुमार को हिरासत में ले लिया है।

‘AAP झूठ की बुनियाद पर बनी पार्टी, इसकी विश्वसनीयता शून्य नहीं, माइनस में’ – BJP के साथ स्वाति मालीवाल मुद्दे पर जेपी नड्डा का...

दिल्ली सरकार में मंत्री आतिशी ने कहा कि स्वाति मालीवाल लंबे समय से भाजपा नेताओं के संपर्क में हैं और उनके ही इशारे पर ये साजिश रची गई।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -