Monday, January 25, 2021
Home हास्य-व्यंग्य-कटाक्ष टुकड़े-टुकड़े गैंग का अगला RTI: ऊँट के मुँह में आखिर जीरा डाला किसने था...

टुकड़े-टुकड़े गैंग का अगला RTI: ऊँट के मुँह में आखिर जीरा डाला किसने था और क्यों? गृह मंत्री जवाब दें

कथित एक्टिविस्ट ने ये याचिका क्यों नहीं दायर की कि राहुल गाँधी को आधिकारिक रूप से सरकार 'पप्पू' मानती है या नहीं? अरविन्द केजरीवाल का दूसरा नाम 'एके- 49' है या नहीं? क्या राहुल गाँधी सच में अपने मुँह में 'चाँदी की चम्मच' लेकर पैदा हुए थे? क्या प्रधानमंत्री का सीना सचमुच '56 इंच' का है? क्या जीतने वाला पहलवान सचमुच हारने वाले को उसकी जीभ से 'धूल चटा' देता है?

महाराष्ट्र के कथित एक्टिविस्ट साकेत गोखले ने गृह मंत्रालय में एक आरटीआई दाखिल किया, जिसमें उन्होंने पूछा कि ‘टुकड़े-टुकड़े गैंग’ का क्या अस्तित्व है? सबसे पहले तो सवाल पूछने वाले के पास कितना खाली समय रहा होगा, ये सोचने वाली बात है। अब किसी के घर में बिल्ली आकर छींका फोड़ दे, तो इसका जवाब देने के लिए अमित शाह से थोड़े न पर्ची लिखवाया जाएगा? ख़ैर, गोखले के बारे में बताना आवश्यक है कि वो आदमी एक नंबर का गालीबाज है और तार्किक बहस के दौरान माँ-बाप तक पहुँच जाना उसकी ख़ासियत है। ‘टुकड़े-टुकड़े गैंग’ को लेकर गृह मंत्रालय का अपेक्षित जवाब आया।

ध्यान में रखने वाली बात है कि अमित शाह लम्बे समय तक भाजपा अध्यक्ष भी रहे हैं और देश के गृह मंत्री तो हैं ही। बस दिक्कत इस बात की है कि मूर्ख एक्टिविस्ट ये नहीं सोच पाते कि कौन सी बात वो एक भाजपा नेता की हैसियत से बोल रहे हैं और कौन सा बयान गृह मंत्रालय की तरफ़ से आधिकारिक रूप से दे रहे हैं। पीएम मोदी अपने हर भाषण में ‘सबका साथ, सबका विकास’ की बात करते हैं। तो क्या मुझे पीएमओ में आरटीआई दायर करनी चाहिए कि क्या ये भारत सरकार का आधिकारिक नारा है?

साकेत गोखले से जैसे ही ‘ज़ी न्यूज़’ के पत्रकार सुधीर चौधरी ने कहा कि वो ‘टुकड़े-टुकड़े गैंग’ के बारे में सभी जानकारी देने को तैयार हैं, वो बौखला गया। यही कारण है कि गोखले ने जैसे ही असभ्य भाषा का प्रयोग किया, सुधीर चौधरी ने उसे लताड़ते हुए पूछा कि वो किस पार्टी का कार्यकर्ता है और उसे प्रति आरटीआई कितने रुपए मिलते हैं? वैसे एक बात यहाँ हम भी जोड़ना चाहेंगे, किसी राजनीतिक पार्टी से रुपए लेकर आरटीआई दाखिल करने वाले को ‘दलाल’ की संज्ञा दी जा सकती है लेकिन अगर वो मुफ़्त में ये सब कर रहा है तो फिर उसकी बुद्धि पर तरस खाना चाहिए।

ख़ैर, उपर्युक्त बयान का साकेत गोखले से कुछ लेना-देना नहीं था। गोखले ने एक ही लताड़ के बाद अपनी परवरिश दिखा दी और ‘बाप’ तक पहुँच गए। सुधीर चौधरी को ‘भाजपा के टुकड़ों पर पलने वाला’ करार दिया। साकेत गोखले कहता है कि ऑपइंडिया उससे डरता है और इसीलिए उसका नाम नहीं लेता। ये ऐसी ही बात हो गई, जैसे एनडीटीवी के रवीश कुमार कहते हैं कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उन्हें बधाई क्यों नहीं देते। गोखले को ये समझना चाहिए कि उसका नाम ऑपइंडिया अँग्रेजी की रिपोर्ट में इसीलिए नहीं लिया गया क्योंकि वो हमारे लिए महत्व नहीं रखता। वो इस लायक ही नहीं है।

जहाँ तक आरटीआई की बात है कि गृह मंत्रालय ये भी कह चुका है कि महात्मा गाँधी को आधिकारिक रूप से कभी भी राष्ट्रपिता घोषित नहीं किया गया। खेल मंत्रालय कह चुका है कि उसने कभी हॉकी को भारत का राष्ट्रीय खेल घोषित नहीं किया। चूँकि, उसके पास काफ़ी खाली समय है, गोखले को चाहिए कि वो ऑपइंडिया के पास भी एक निवेदन भेज कर ‘टुकड़े-टुकड़े गैंग’ के बारे में जवाब माँगे। अगर हमारा मन हुआ तो उसे पूरी सूची विवरण के साथ दी जाएगी। और हाँ, मानहानि भी उस व्यक्ति का होता है, जिसका कोई मान होता है। इस पंक्ति का गोखले से कुछ लेना-देना नहीं है।

यहाँ हम बात कर रहे हैं उस ‘Lesser Known Individual’ की, जो मानहानि की धमकी अपने फटे हुए जेब में लेकर फिरता रहता है। जब एक बार उसके घर के बाहर कुत्ते ने टट्टी कर दी थी, तब उसने न सिर्फ़ गृह मंत्रालय को आरटीआई भेज कर जवाब माँगा बल्कि उस कुत्ते के ख़िलाफ़ ‘रवीश की अदालत’ में एक केस भी दायर कर दिया। इसमें हँसने वाली बात नहीं है क्योंकि आजकल हर बिल को क़ानून बनने के लिए संसद और राष्ट्रपति के अलावा एनडीटीवी की स्टूडियो से भी पास कराना पड़ता है।

कथित एक्टिविस्ट ने ये याचिका क्यों नहीं दायर की कि राहुल गाँधी को आधिकारिक रूप से सरकार ‘पप्पू’ मानती है या नहीं? अरविन्द केजरीवाल का दूसरा नाम ‘एके- 49’ है या नहीं? क्या राहुल गाँधी सच में अपने मुँह में ‘चाँदी की चम्मच’ लेकर पैदा हुए थे? क्या प्रधानमंत्री का सीना सचमुच ’56 इंच’ का है? क्या जीतने वाला पहलवान सचमुच हारने वाले को उसकी जीभ से ‘धूल चटा’ देता है? ऐसे ही लोग शायद इस बात का जवाब ढूँढ़ते फिरते होंगे कि आख़िर ऊँट को जीरा किसने और क्यों खिलाया था? मानहानि की धमकी नामक हथियार लेकर लोगों को सच बोलने से डराने वाले साकेत गोखले को ये भी पता होना चाहिए कि ‘कह कर लेना’ में ‘कहा’ क्या जाता है और ‘लिया’ क्या जाता है?

गोखले के इस डेयरडेविल के बाद एक्टिविस्ट्स की एक नई खेप तैयार हो सकती है, जो आरटीआई की बाढ़ लाकर निम्नलिखित सवाल पूछ सकते हैं:

  • आखिर वो कौन सा आदमी था, जिसने अपने पाँव में पहली बार कुल्हाड़ी मारी थी? उसके इलाज में ‘आयुष्मान भारत योजना’ के तहत मदद मिली थी या नहीं?
  • वो कौन सा व्यक्ति ठगा, जिसने पहली बार किसी की आँखों में धूल झोंकी थी? वो धूल मिट्टी की थी या फिर बालू की?
  • ओबामा की पलकों की लम्बाई और चौड़ाई कितनी थी, जिसे उन्होंने मोदी के स्वागत में बिछा दी थी? क्या मीडिया ने झूठ कहा कि मोदी के स्वागत में अमेरिका ने पलकें बिछा दी थीं?
  • क्या नरेंद्र मोदी ने सचमुच विपक्ष की ईंट से ईंट बजा दी है? किसके ईंट का वजन कितना था? मोदी की ईंट किस मिट्टी की बनी हुई थी?
  • क्या सोनिया ने सोनिया गाँधी ने सचमुच मनमोहन सिंह को 10 साल अपनी ऊँगली पर नचाया? सोनिया ने दसों में से कौन सी ऊँगली का इस्तेमाल किया?

जब ‘टुकड़े-टुकड़े गैंग’ को लेकर आरटीआई दायर की जा सकती है तो उपर्युक्त सभी आरटीआई भी उसी बौद्धिक स्तर की है। अपनी एक फटी हुई जेब में मानहानि की धमकी, दूसरे जेब में आरटीआई का परचा, अपने गंदे मुँह में गालियाँ और घुटने में दिमाग रख कर चलने वाले ‘Lesser Known Individual’ को ये पता होना चाहिए कि जिस क़ानून को जनहित के लिए बनाया गया है, उसका मज़ाक नहीं बनाया जाना चाहिए। जनता से जुड़े मुद्दे उठाने चाहिए, जनता का मखौल बनाने वाली बातें नहीं करनी चाहिए। जाते-जाते बता दूँ कि ये एक ‘व्यंग्य’ है, जिसे अँग्रेजी में ‘Satire’ कहते हैं। गोखले चाहें तो ‘फाल्ट न्यूज़’ के पास इसे फैक्ट चेक के लिए भेज सकते हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

अनुपम कुमार सिंहhttp://anupamkrsin.wordpress.com
चम्पारण से. हमेशा राइट. भारतीय इतिहास, राजनीति और संस्कृति की समझ. बीआईटी मेसरा से कंप्यूटर साइंस में स्नातक.

 

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

राम मंदिर के लिए दे रहे हैं दान तो इन 13 फ्रॉड UPI IDs को ध्यान से देख लीजिए, कहीं और न चला जाए...

राम मंदिर के आधिकारिक विवरण से मिलती-जुलती कई फ्रॉड UPI IDs बना ली गई हैं, जिसके माध्यम से श्रद्धालुओं को ठगने की कोशिश हो रही है।

ममता बनर्जी ने मुगल हरम पर रिसर्च कर पाई थी PhD ‘डिग्री’… बस वो यूनिवर्सिटी दुनिया में नहीं है

ममता बनर्जी 1982 में 'अमेरिका के 'ईस्ट जॉर्जिया यूनिवर्सिटी' से PhD होने का दावा करती थीं और अपने नाम में 'डॉक्टर' भी लगाती थीं।

FREE में UPSC/NDA/JEE/NEET की कोचिंग: UP सरकार का बड़ा फैसला, IAS-IPS लेंगे क्लास

मंडल स्तर पर अभ्युदय कोचिंग सेंटर खुलेंगे। योगी सरकार की 'अभ्युदय' योजना के तहत, UPSC, NEET व JEE के छात्रों को फ्री कोचिंग मिलेगी।

RSS को ‘निकरवाला’ बोला राहुल गाँधी ने, ‘लिकरवाला’ सुन जनता हुई ‘मस्त’: इस लेटेस्ट Video में है बहुत मजा

राहुल गाँधी जब बोलते हैं, बहुत मजा देते हैं। उनके मजे देने वाले वीडियो आप खोजेंगे 1 मिलेंगे 11... अब एक और वीडियो जुड़ गया है, एकदम लेटेस्ट।

‘लता मंगेशकर ने 1947 में नेहरू के लिए गाया था ऐ मेरे वतन के लोगों’: विशाल डडलानी ने बताया इतिहास – Fact Check

विशाल डडलानी ने दावा किया है कि लता मंगेशकर ने भारत के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू के लिए 'ऐ मेरे वतन के लोगों' गाना गाया था।

ThePrint को रूसी विदेश मंत्रालय से पड़ी लताड़, भारत-रूस का नाम ले फैला रहा था फेक न्यूज

रूसी विदेश मंत्रालय ने शेखर गुप्ता की 'द प्रिंट' को जम कर लताड़ लगाई। उसने भारत-रूस के बीच होने वाली वार्षिक बैठक को लेकर फेक न्यूज़ फैलाई थी।

प्रचलित ख़बरें

12 साल की लड़की का स्तन दबाया, महिला जज ने कहा – ‘नहीं है यौन शोषण’: बॉम्बे HC का मामला

बॉम्बे हाई कोर्ट की नागपुर बेंच ने शारीरिक संपर्क या ‘यौन शोषण के इरादे से किया गया शरीर से शरीर का स्पर्श’ (स्किन टू स्किन) के आधार पर...

मदरसा सील करने पहुँची महिला तहसीलदार, काजी ने कहा- शहर का माहौल बिगड़ने में देर नहीं लगेगी, देखें वीडियो

महिला तहसीलदार बार-बार वहाँ मौजूद मुस्लिम लोगों को मामले में कलेक्टर से बात करने के लिए कह रही है। इसके बावजूद लोग उसकी बात को दरकिनार करते हुए उसे धमकाते हुए नजर आ रहे हैं।

राहुल गाँधी बोले- किसान मजबूत होते तो सेना की जरूरत नहीं होती… अनुवादक मोहम्मद इमरान बेहोश हो गए

इरोड में राहुल गाँधी के अंग्रेजी भाषण का तमिल में अनुवाद करने वाले प्रोफेसर मोहम्मद इमरान मंच पर ही बेहोश होकर गिर पड़े।

निकिता तोमर को गोली मारते कैमरे में कैद हुआ था तौसीफ, HC से कहा- मैं निर्दोष, यह ऑनर किलिंग

निकिता तोमर हत्याकांड के मुख्य आरोपित तौसीफ ने हाई कोर्ट से घटना की दोबारा जाँच की माँग की है। उसने कहा कि यह मामला ऑनर किलिंग का है।

‘जिस लिफ्ट में ऑस्ट्रेलियन, उसमें हमें घुसने भी नहीं देते थे’ – IND Vs AUS सीरीज की सबसे ‘गंदी’ कहानी, वीडियो वायरल

भारतीय क्रिकेटरों को सिडनी में लिफ्ट में प्रवेश करने की अनुमति सिर्फ तब थी, अगर उसके अंदर पहले से कोई ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी न हो। एक भी...

इमरान की अवन्तिका से शादी और बेटी भी… अब दोस्त की बीवी लेखा से ‘रिश्ते’ के लिए किराए का घर: आमिर की राह पर...

इमरान और लेखा के रिश्ते की भनक मीडिया रिपोर्टों में छप गई है। अवन्तिका ने घर छोड़ दिया। ने लेखा का परिचय अपने जान-पहचान वालों से...
- विज्ञापन -

 

मदरसे बंद करना सही, मुल्ले-मौलवी की कौन सुनता है: अजमल के ‘टोपी-बुर्का’ पर हिमांत बिस्वा सरमा का पलटवार

बदरुद्दीन अजमल ने भाजपा के खिलाफ मुस्लिमों में डर पैदा करने की कोशिश की थी। हिमांत बिस्वा सरमा ने इसका जवाब दिया है।

भारतीय सेना ने 20 चीनी फौजियों को जख्मी कर खदेड़ा, सीमा में घुसने का कर रहे थे प्रयास

सिक्किम के नाकु ला में यह झड़प हुई, जिसके कारण वहाँ हालात तनावपूर्ण हैं लेकिन स्थिति अब काबू में हैं। झड़प के दौरान हथियारों का इस्तेमाल नहीं हुआ।

‘खुद हाथ-पैर बाँध डैम में कूदी पूजा भारती’: झारखंड पुलिस के दावे को ठुकरा परिजनों ने माँगी CBI जाँच

हजारीबाग मेडिकल कॉलेज की छात्रा पूजा भारती पूर्वे के घरवालों ने पुलिस द्वारा कही गई आत्महत्या की बात मानने से साफ़ इनकार कर दिया है।

किसान रैली के लिए 308 पाकिस्तानी ट्विटर अकाउंट सक्रिय, ट्रैक्टर रैली की भी अनुमति… किसान नेता फिर भी नाखुश

दिल्ली पुलिस के साथ कई दौर की बातचीत के बाद किसानों को 26 जनवरी पर ट्रैक्टर रैली निकालने की अनुमति मिल गई है। पुलिस की शर्त है कि...

नवंबर 2020 में निकाह, जनवरी 2021 में शौहर के लिए ‘काफी मोटी’ हो गई सना खान: खुलासा कर कहा- वर्कआउट करूँगी

बकौल सना, अगर उनकी अम्मी ऐसा कह रही हैं तो सचमुच वो मोटी हो गई होंगी। उन्होंने कहा कि अब उन्हें पसीना बहाना पड़ेगा।

राम मंदिर के लिए दे रहे हैं दान तो इन 13 फ्रॉड UPI IDs को ध्यान से देख लीजिए, कहीं और न चला जाए...

राम मंदिर के आधिकारिक विवरण से मिलती-जुलती कई फ्रॉड UPI IDs बना ली गई हैं, जिसके माध्यम से श्रद्धालुओं को ठगने की कोशिश हो रही है।

ममता बनर्जी ने मुगल हरम पर रिसर्च कर पाई थी PhD ‘डिग्री’… बस वो यूनिवर्सिटी दुनिया में नहीं है

ममता बनर्जी 1982 में 'अमेरिका के 'ईस्ट जॉर्जिया यूनिवर्सिटी' से PhD होने का दावा करती थीं और अपने नाम में 'डॉक्टर' भी लगाती थीं।

FREE में UPSC/NDA/JEE/NEET की कोचिंग: UP सरकार का बड़ा फैसला, IAS-IPS लेंगे क्लास

मंडल स्तर पर अभ्युदय कोचिंग सेंटर खुलेंगे। योगी सरकार की 'अभ्युदय' योजना के तहत, UPSC, NEET व JEE के छात्रों को फ्री कोचिंग मिलेगी।

2 गायों की जान बचाने के लिए लोको पायलट ने बीच में रोकी ट्रेन, मीडिया वाले ने बनाया Video, हो गया Viral

कैमरापर्सन राजेश इस घटना के दौरान रेलवे ट्रैक के पास थे और ट्रेन के निकलने का इंतजार कर रहे थे, तभी वह इसका गवाह बने।

छठी बीवी ने सेक्स से किया इनकार तो 7वीं की खोज में निकला 63 साल का अयूब: कई बीमारियों से है पीड़ित, FIR दर्ज

गुजरात में अयूब देगिया की छठी बीवी ने उसके साथ सेक्स करने से इनकार कर दिया, जब उसे पता चला कि उसके शौहर की पहले से ही 5 बीवियाँ हैं।

हमसे जुड़ें

272,571FansLike
80,695FollowersFollow
385,000SubscribersSubscribe