Saturday, May 18, 2024
Homeविविध विषयधर्म और संस्कृतिराष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने अयोध्या में रामलला के किए दर्शन: हनुमानगढ़ी में आशीर्वाद लेने...

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने अयोध्या में रामलला के किए दर्शन: हनुमानगढ़ी में आशीर्वाद लेने के बाद सरयू घाट पर सांध्य आरती में भी हुईं शामिल

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने रामलला के दर्शन किए। राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू के आगमन के समय मंदिर में आम भक्तों की एंट्री बंद रखी गई।

देश की राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू अयोध्या पहुँची। राष्ट्रपति ने सबसे पहले हनुमानगढ़ी में दर्शन किए। वहाँ पूजा-अर्चना के बाद राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू रामलला के दर्शन करने पहुंचीं। इससे पहले महर्षि वाल्मीकि एयरपोर्ट पर राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने राष्ट्रपति का स्वागत किया। राष्ट्रपति के अयोध्या आगमन को लेकर श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की ओर से खास तैयारी की गई। राम जन्मभूमि परिसर और हनुमान गढ़ी पर फूलों से द्वार सजाए गए। यही नहीं, मंदिर तक पहुँचने के रास्ते को भी सजाया गया।

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने रामलला के दर्शन किए। राष्ट्रपति के दर्शन का वीडियो एएनआई ने जारी किया है। राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू के आगमन के समय मंदिर में आम भक्तों की एंट्री बंद रखी गई।

अयोध्या पहुँची राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने सरयू घाट का भी दौरा किया। यहाँ वो सांध्य आरती में भी शामिल हुईं।

इससे पहले, राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने सबसे पहले हनुमान गढ़ी में दर्शन किए। उन्होंने हनुमान जी के दर्शन के बाद रामलला के आशीर्वाद लिए।

बता दें कि राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू को रामलला की प्राण प्रतिष्ठा समारोह में भी आमंत्रित किया गया था, लेकिन वो किन्हीं कारणों से पहुँच नहीं पाई थी। इस बात को राहुल गाँधी और कॉन्ग्रेस ने मुद्दा बनाया और तमाम रैलियों, प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि द्रौपदी मुर्मू को इसलिए नहीं बुलाया गया, क्योंकि वो जनजातीय समुदाय से तालुक रखती हैं।

गौरतलब है कि 22 जनवरी 2024 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पूजन बाद 5 वर्षीय रामलला की दिव्या प्रतिमा अयोध्या में स्थापित की गई थी। इसके बाद से अब तक डेढ़ करोड़ लोग से अधिक लोग रामलला के दर्शन कर चुके हैं। देश के कई राज्यों के राज्यपाल, मुख्यमंत्री और वहां के कैबिनेट मंत्री भी रामलला के दर्शन कर चुके हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

CM केजरीवाल के घर से विभव कुमार को दिल्ली पुलिस ने उठाया: स्वाति मालीवाल की आई मेडिकल रिपोर्ट, आँख-चेहरा-पैर में चोट

राज्यसभा सांसद स्वाति मालीवाल के साथ मारपीट के मामले में दिल्ली पुलिस ने सीएम केजरीवाल के पीए विभव कुमार को हिरासत में ले लिया है।

‘AAP झूठ की बुनियाद पर बनी पार्टी, इसकी विश्वसनीयता शून्य नहीं, माइनस में’ – BJP के साथ स्वाति मालीवाल मुद्दे पर जेपी नड्डा का...

दिल्ली सरकार में मंत्री आतिशी ने कहा कि स्वाति मालीवाल लंबे समय से भाजपा नेताओं के संपर्क में हैं और उनके ही इशारे पर ये साजिश रची गई।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -