Monday, November 29, 2021
Homeविविध विषयमनोरंजनबॉक्स ऑफिस पर यश की 'KGF 2' और प्रभास से टकराएँगे आमिर खान-वरुण धवन:...

बॉक्स ऑफिस पर यश की ‘KGF 2’ और प्रभास से टकराएँगे आमिर खान-वरुण धवन: ‘लाल सिंह चड्ढा’ की रिलीज डेट फाइनल

इसी बीच ये भी सामने आया है कि यश की 'KGF 2' और प्रभास की 'सालार' के अलावा वरुण धवन की 'भेड़िया' की रिलीज डेट भी यही है। आमिर खान की 'लाल सिंह चड्ढा' इन तीनों फिल्मों से टकराएगी।

बॉक्स ऑफिस पर आमिर खान की फिल्म ‘लाल सिंह चड्ढा’ कन्नड़ अभिनेता यश की ‘KGF 2’ और तेलुगु अभिनेता प्रभास की ‘सालार’ से टकराने वाली है। 14 अप्रैल, 2021 को इन तीनों ही फिल्मों का क्लैश होगा। आमिर खान ने अपनी फिल्म ‘लाल सिंह चड्ढा’ को उस दिन बैसाखी के अवसर पर रिलीज करने का निर्णय लिया है। इससे पहले यश की ‘KGF 2’ और प्रभास की ‘सालार’ के निर्माता पहले ही इसी तारीख़ पर फिल्म की रिलीज का ऐलान कर चुके हैं।

भले ही ये दोनों क्रमशः कन्नड़ और तेलुगु फ़िल्में हों, लेकिन इन्हें हिंदी में भी रिलीज किया जाएगा। यश की ‘KGF’ पूरे भारत में सुपरहिट हुई थी और ये फिल्म इसका दूसरा भाग है। ‘बाहुबली’ सीरीज फेम प्रभास भी अब हर जोन के दर्शकों के बीच जाने-माने नाम हैं। ‘KGF 2’ में मुख्य विलेन का किरदार संजय दत्त निभा रहे हैं तो ‘सालार’ में श्रुति हासन मुख्य अभिनेत्री होंगी। ‘लाल सिंह चड्ढा’ में आमिर खान के अपोजिट करीना कपूर को कास्ट किया गया है।

यश और आमिर खान के फैंस के बीच तो अब से ‘सोशल मीडिया वॉर’ शुरू हो गया है। दोनों के फैंस कह रहे हैं कि दूसरी फिल्म को पीछे हटना पड़ेगा। फिल्म समीक्षक सुमित काडेल ने बताया है कि ‘KGF 2’ आमिर खान की ‘लाल सिंह चड्ढा’ का अच्छा-खासा बिजनेस खा जाएगी। उन्होंने कहा कि जहाँ दक्षिण में ‘लाल सिंह चड्ढा’ की कमाई का कोई चांस नहीं है, उत्तर में ‘KGF 2’ आमिर की फिल्म का पर्याप्त व्यवसाय खा जाएगी। उन्होंने यश की फिल्म को ‘2022 की सबसे बहुप्रतीक्षित फिल्म’ करार दिया।

इसी बीच ये भी सामने आया है कि वरुण धवन की ‘भेड़िया’ की रिलीज डेट भी यही है। इस हॉरर कॉमेडी फिल्म में दिवंगत अभिनेत्री श्रीदेवी की बेटी जाह्नवी कपूर भी हैं। ये फिल्म ‘रूही’ और ‘स्त्री’ की अगली इन्सटॉलमेंट है। उत्तर-पूर्वी राज्य अरुणाचंल प्रदेश में इसकी शूटिंग हुई है। ऐसे में अब देखना ये है कि इनमें से कौन ही फिल्म अपना रिलीज डेट खिसकाती है और कौन सी फिल्म अड़ी रहती है। कुछ फिल्म समीक्षकों का मानना है कि भारत जैसे बड़े देश में दो फ़िल्में एक साथ बड़ा व्यापार करने की क्षमता रखती हैं।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बेचारा लोकतंत्र! विपक्ष के मन का हुआ तो मजबूत वर्ना सीधे हत्या: नारे, निलंबन के बीच हंगामेदार रहा वार्म अप सेशन

संसद में परंपरा के अनुरूप आचरण न करने से लोकतंत्र मजबूत होता है और उस आचरण के लिए निलंबन पर लोकतंत्र की हत्या हो जाती है।

‘जिनके घर शीशे के होते हैं, वे दूसरों पर पत्थर नहीं फेंका करते’: केजरीवाल के चुनावी वादों पर बरसे सिद्धू, दागे कई सवाल

''अपने 2015 के घोषणापत्र में 'आप' ने दिल्ली में 8 लाख नई नौकरियों और 20 नए कॉलेजों का वादा किया था। नौकरियाँ और कॉलेज कहाँ हैं?"

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
140,506FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe