Tuesday, July 27, 2021
Homeविविध विषयमनोरंजनफिरौती, फिक्सिंग, फ्रॉड, पोर्न: पहले मॉं-अब पति; शिल्पा शेट्टी को भी समन भेज सकती...

फिरौती, फिक्सिंग, फ्रॉड, पोर्न: पहले मॉं-अब पति; शिल्पा शेट्टी को भी समन भेज सकती है मुंबई पुलिस

पोर्न वीडियोज के मामले में राज कुंद्रा की गिरफ्तारी पहला मामला नहीं है जब शिल्पा शेट्टी के अपनों के दामन पर दाग लगे हैं।

पोर्न वीडियोज बनाने और कुछ एप्स के जरिए उनको बेचने के आरोप में बिजनेसमैन राज कुंद्रा की गिरफ्तारी के बाद, हर जगह बॉलीवुड एक्ट्रेस शिल्पा शेट्टी को लेकर बातें हो रही हैं। कुछ लोग जानना चाहते हैं कि क्या कुंद्रा के कारनामों की जानकारी शिल्पा को पहले से थी और कुछ इस बात का दुख मना रहे हैं कि एक्ट्रेस के पति ने उनकी इज्जत मिट्टी में मिला दी है। इसके अलावा उनपर बन रहे मीम्स की भी भरमार है। लेकिन, बता दें कि यह पहला मौका नहीं है जब शिल्पा शेट्टी के अपनों के दामन पर दाग लगे हैं।

जब डॉन की मदद लेने के लगे आरोप

इससे पहले शिल्पा शेट्टी की माँ सुनंदा शेट्टी पर एक साड़ी के व्यापारी को धमकाने का आरोप लगा था। मामला 18 साल पुराना है। सूरत के प्रफुल्ल साड़ी ब्रांड ने शिल्पा शेट्टी को 4 लाख रुपए में अपनी साड़ियों की मॉडलिंग करने के लिए हायर किया था। लेकिन इस हायरिंग में कोई लिखित कॉन्ट्रैक्ट नहीं था। प्रफुल्ल साड़ी ब्रांड ने इसी के चलते शिल्पा के विज्ञापनों का इस्तेमाल 2003 तक जारी रखा। कुछ समय तक तो वह इसके लिए शिल्पा को पैसे देते रहे। लेकिन बाद में उन्होंने रकम देनी बंद कर दी। उस समय चूँकि इस मामले को शिल्पा शेट्टी की ओर से उनकी माँ सुनंदा और पिता सुरेंद्र शेट्टी हैंडल कर रहे थे तो उन्होंने प्रफुल्ल साड़ी के मालिक से पैसे लेने के लिए छुटभैये डॉन फजलुर रहमान की मदद ली और ब्रांड के मालिक शिवनारायण अग्रवाल को धमकाया गया। उस दौरान अग्रवाल से 2 करोड़ रुपए अतिरिक्त माँगे गए थे। पूरे मामले में शिल्पा की माँ पर अक्टूबर 2019 में आरोप तय हुए थे और उनके साथ 4 अन्य लोगों को आरोपित बनाया गया था।

आईपीएल सट्टेबाजी के भी दाग

साल 2013 में राज कुंद्रा पर आईपीएल सट्टेबाजी और स्पॉट फिक्सिंग के आरोप लगे थे। उस समय मामला इतना बड़ा हो गया था कि शिल्पा शेट्टी की टीम राजस्थान रॉयल्स को दो साल के लिए निलंबित करना पड़ा था। राजस्थान रॉयल्स से पूछताछ के दौरान तीन क्रिकेटर पकड़े गए थे और सबने सह मालिक राज कुंद्रा का नाम लिया था। इसके बाद BCCI ने राज कुंद्रा को पूरी जिंदगी आईपीएल से बैन करने का अपना निर्णय सुनाया था।

एक्टर-प्रोड्यूसर ने धोखाधड़ी में घेरा

पिछले साल एक धोखाधड़ी के मामले में शिल्पा शेट्टी और उनके पति राज कुंद्रा का नाम उछला था। एक्टर-प्रोड्यूसर सचिन जोशी ने शिल्पा शेट्टी और राज कुंद्रा के खिलाफ मुंबई के खार पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज करवाई थी। उनका कहना था कि शिल्पा शेट्टी की सोना व्यापार करने वाली सतयुग गोल्ड प्राइवेट लिमिटेड कंपनी ने उनको प्रलोभन देते हुए धोखा दिया। अपनी शिकायत में उन्होंने सिर्फ राज कुंद्रा और शिल्पा शेट्टी ही नहीं बल्कि कुछ और लोगों के नाम भी लिए थे। जोशी का कहना था सतयुग गोल्ड स्कीम के तहत खरीददारों को कम दामों पर ‘सतयुग गोल्ड कार्ड’ दिया गया था, जिसके 5 साल बाद सोने की एक तय मात्रा की कीमत अदा करने का वादा किया गया था। वादे के चक्कर में जोशी ने 2014 में करीब 19 लाख रुपए में एक किलो सोना खरीदा। लेकिन अब जब उन्होंने अपने उस सोना का भुगतान चाहा तो पता लगा कि कंपनी के ऑफिस में ताला लगा है और कोई भी जिम्मेदारी लेने के लिए तैयार नहीं है।

पोर्न की नई मुसीबत

उक्त मामले वो हैं जिन्हें लेकर शिल्पा शेट्टी पहले भी विवादों में आईं। अब वह राज कुंद्रा की गिरफ्तारी के कारण चर्चा में हैं। मुंबई पुलिस के ज्वाइंट कमिश्नर मिलिंद भरांभे ने राज कुंद्रा मामले में बताया कि फरवरी 2021 में मालवणी पुलिस ने पोर्नोग्राफी मामले में एक केस रजिस्टर्ड किया था। केस में जाँच हुई तो पता चला कि महिला को काम दिलाने व ब्रेक देने के नाम पर बोल्ड सीन करने के लिए कहा गया फिर बोल्ड सीन, सेमी न्यूड और आगे तक बढ़ता गया। मामले में अब तक 11 गिरफ्तारियाँ हुई हैं। कुछ प्रोड्यूसर हैं इसमें जो जबरन ऐसी फिल्में करवाते हैं। टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार, आगे इस मामले में मुंबई पुलिस शिल्पा शेट्टी को भी समन भेज सकती है। सागरिका शोना नामक एक्ट्रेस ने दावा भी किया है कि राज के ऐसे कामों की शिल्पा को जानकारी थी।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कारगिल कमेटी’ पर कॉन्ग्रेस की कुण्डली: लोकतंत्र की सुरक्षा के लिए राष्ट्रीय सुरक्षा राजनीतिक दृष्टिकोण का न हो मोहताज

हमें ध्यान में रखना होगा कि जिस लोकतंत्र पर हम गर्व करते हैं उसकी सुरक्षा तभी तक संभव है जबतक राष्ट्रीय सुरक्षा का विषय किसी राजनीतिक दृष्टिकोण का मोहताज नहीं है।

असम-मिजोरम बॉर्डर पर भड़की हिंसा, असम के 6 पुलिसकर्मियों की मौत: हस्तक्षेप के दोनों राज्‍यों के CM ने गृहमंत्री से लगाई गुहार

असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने ट्वीट कर बताया कि असम-मिज़ोरम सीमा पर तनाव में असम पुलिस के 6 जवानों की जान चली गई है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,362FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe