‘भाभीजी’ ने किया मीका सिंह का समर्थन, कहा- मैं पाकिस्तान में परफॉर्म करूँगी, रोक सको तो रोक लो

शिल्पा शिंदे ने कहा कि अगर पाकिस्तान उन्हें परफॉर्म करने के लिए बुलाता है और वहाँ उनका स्वागत किया जाता है तो वह वहाँ ज़रूर जाएँगी। शिंदे ने चुनौती देते हुए कहा, "मैं पाकिस्तान जाऊँगी। रोक सको तो रोक लो।"

लोकप्रिय टीवी सीरियल ‘भाभीजी घर पर हैं’ का टाइटल किरदार निभा चुकीं शिल्पा शिंदे ने गायक मीका सिंह का खुल कर समर्थन किया है। बता दें कि पाकिस्तान में परफॉर्म करने को लेकर मीका सिंह पहले से ही सवालों के घेरे में हैं। उन्हें ऑल इंडिया सिने वर्कर्स एसोसिएशन (AICWA) और फेडरेशन ऑफ वेस्टर्न सिने एम्प्लॉयीज (FWICE) ने प्रतिबंधित भी कर दिया है। शिल्पा शिंदे ने इन दोनों ही संस्थाओं को खरी-खोटी सुनाई। बिग बॉस 11 की विजेता रह चुकीं शिल्पा के इस बयान को लेकर लोगों से उनसे नाराज़गी जताई।

शिल्पा शिंदे ने कहा कि अगर पाकिस्तान उन्हें परफॉर्म करने के लिए बुलाता है और वहाँ उनका स्वागत किया जाता है तो वह वहाँ ज़रूर जाएँगी। शिंदे ने चुनौती देते हुए कहा, “मैं पाकिस्तान जाऊँगी। रोक सको तो रोक लो।” शिंदे ने कहा कि पाकिस्तान में इतने अच्छे गायक होने के बावजूद मीका को वहाँ परफॉर्म करने के लिए बुलाया गया, यही बड़ी बात है।

मीका सिंह द्वारा पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ के सम्बन्धी के कार्यक्रम में परफॉर्म करने के बाद उपजे विवाद पर अपनी राय रखते हुए शिल्पा शिंदे ने कहा:

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

“मैं सभी देशभक्तों से पूछना चाहती हूँ कि क्या आपने नुसरत फ़तेह अली ख़ान को सुनना बंद कर दिया है? वे एक लीजेंड थे। क्या आप भारत-पाक क्रिकेट मैच का लुत्फ़ नहीं उठाते? कला की कोई सीमा नहीं होती है इसे राजनीति से दूर रखा जाना चाहिए। देशों के बीच शांति स्थापित करने के लिए कला एक महत्वपूर्ण माध्यम हो सकता है। मैं अभी भी अपने पाकिस्तानी दोस्तों से बातें करती हूँ और वे मेरे जन्मदिन पर मुझे कढ़ाईदार सूट गिफ्ट के रूप में देते हैं। “

टाइम्स ऑफ इंडिया को दिए गए इंटरव्यू में शिल्पा शिंदे ने कहा कि पाकिस्तान भी कभी भारत का ही हिस्सा हुआ करता था और वहाँ की जनता भी शांति चाहती है। उन्होंने इंग्लैंड का उदाहरण देते हुए कहा कि अंग्रेजों ने भारतीयों के साथ नौकरों जैसा व्यवहार किया लेकिन फिर भी वहाँ जाकर अच्छा करने वालों को गर्व की नज़र से देखा जाता है।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

अलीगढ़
भीड़ ने जब मंदिर और पुलिस पर ज्यादा पथराव किया तो बदले में पुलिस ने पत्थरबाजों पर आँसू गैस के गोले छोड़े। इसके बाद वहाँ मौजूद लोगों में भगदड़ मच गई और धरना दे रहीं महिलाएँ भी भाग गईं। देहलीगेट और ऊपरकोट इलाके में सुबह से जारी जुलूस प्रदर्शनों में भीम आर्मी के कार्यकर्ता भी शामिल रहे।

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

154,435फैंसलाइक करें
42,730फॉलोवर्सफॉलो करें
179,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: