Thursday, April 25, 2024
Homeविविध विषयमनोरंजनबॉलीवुड फिल्मों के फेल होने के पीछे कंगना ने स्टार किड्स को बताया जिम्मेदार,...

बॉलीवुड फिल्मों के फेल होने के पीछे कंगना ने स्टार किड्स को बताया जिम्मेदार, बोलीं- उबले अंडे जैसी शक्ल होती है इनकी, कौन देखेगा

कंगना ने कहा कि आरआरआर और केजीएफ 2 जैसी फिल्मों ने बॉलीवुड फिल्मों को बॉक्स ऑफिस पर फेल कर दिया। ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि लोग स्टार किड्स को पसंद नहीं करते और ये लोग भी अपने दर्शकों से नहीं जुड़ पाते। इन्हें देखकर ऐसा लगता है जैसे ये कोई उबले अंडे हों।

बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत ने अपनी फिल्म धाकड़ के प्रमोशन के दौरान एक बार फिर से स्टार किड्स के ऊपर निशाना साधा। उन्होंने एबीपी लाइव को दिए इंटरव्यू में साउथ की फिल्मों की तारीफ करते हुए कंगना ने कहा कि आरआरआर और केजीएफ 2 जैसी फिल्मों ने बॉलीवुड फिल्मों को बॉक्स ऑफिस पर फेल कर दिया। ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि लोग स्टार किड्स को पसंद नहीं करते और ये लोग भी अपने दर्शकों से नहीं जुड़ पाते। इन्हें देखकर ऐसा लगता है जैसे ये कोई उबले अंडे हों।

कंगना रनौत ने बॉलीवुड के स्टार किड्स पर अपनी टिप्पणी करते हुए कहा, “बीते कुछ समय से साउथ फिल्में बॉक्स ऑफिस पर धमाल मचा रही हैं। RRR और KGF चैप्टर 2 दोनों ही फिल्मों ने 100 करोड़ से ज्यादा की कमाई की। वहीं, अल्लू अर्जुन की फिल्म पुष्पा ने भी 100 करोड़ रुपए का बिजनेस किया। कंगना कहती हैं कि इन सारी फिल्मों के हिंदी वर्जन ने बॉलीवुड फिल्मों को कई मायनों में पीछे छोड़ दिया है।”

कंगना से जब साउथ की फिल्मों की सफलता और बॉलीवुड के नीचे जाते ग्राफ पर बात की गई तो कंगना ने इसके पीछे स्टार किड्स को वजह बताया। कंगना ने कहा कि दर्शकों को स्टार किड्स पसंद नहीं है, लेकिन बॉलीवुड में उनकी ही फिल्म देखने को दी जा रही हैं। दर्शक उनसे जुड़ाव ही महसूस नहीं कर पाते जबकि साउथ फिल्म इंडस्ट्री का अपने दर्शकों से कनेक्शन हैं। इसी कारण ये फिल्में ज्यादा सफल होती हैं। उन्होंने कहा कि स्टार किड्स शुरू से तो पढ़ने के लिए विदेश में रहते हैं। फिर अंग्रेजी में बात करते हैं, हॉलीवुड फिल्में देखते हैं और चाकू-छुरी से खाना खाते हैं, उनका तो एक्सेंट भी अलग होता है।

कंगना कहती हैं, “स्टार किड्स देखने में भी अजीब ही लगते हैं। जैसे उबले हुए अंडे हों। उनका पूरा लुक बदल चुका होता है। इसलिए दर्शक उनसे कनेक्ट नहीं कर पाते हैं।” कंगना ने अपने बयान में साफ किया कि उनका मकसद किसी को ट्रोल का नहीं है। लेकिन साउथ के अल्लू अर्जुन की पुष्पा अगर देखें तो पता लगता है कि मजदूर उनसे जुड़ पा रहा है। वह पूछती हैं, “बॉलीवुड का कौन सा हीरो मजदूक की तरह लगता है और इस रोल में फिट बैठता है।”

गौरतलब है कि इससे पहले कंगना रनौत साउथ सुपरस्टार महेश बाबू के समर्थन में भी अपनी टिप्पणी दे चुकी हैं। कंगना ने 12 मई को महेश बाबू के बयान पर कहा था, “महेश बाबू सही थे कि बॉलीवुड उन्हें अफॉर्ड नहीं कर सकता। मैं उनसे सहमत हूँ। मैं जानती हूँ कि कई फिल्ममेकर्स ने उन्हें अपनी फिल्मों के लिए अप्रोच किया है।” कंगना ने आगे कहा था, “महेश बाबू की जनरेशन ने अपने बलबूते पर तेलुगू इंडस्ट्री को भारत की नंबर बन इंडस्ट्री बनाया है। अब बॉलीवुड तो यकीनन उन्हें अफॉर्ड नहीं कर सकता। मुझे नहीं पता क्यों इस बात का इतना बड़ा विवाद बना दिया गया है। मैं नहीं जानती किस सेंस में महेश बाबू ने ये बयान दिया, लेकिन मैं और कई लोग अक्सर मजाक करते हैं कि हॉलीवुड हमें अफॉर्ड नहीं कर सकता।”

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जिस जज ने सुनाया ज्ञानवापी में सर्वे करने का फैसला, उन्हें फिर से धमकियाँ आनी शुरू: इस बार विदेशी नंबरों से आ रही कॉल,...

ज्ञानवापी पर फैसला देने वाले जज को कुछ समय से विदेशों से कॉलें आ रही हैं। उन्होंने इस संबंध में एसएसपी को पत्र लिखकर कंप्लेन की है।

माली और नाई के बेटे जीत रहे पदक, दिहाड़ी मजदूर की बेटी कर रही ओलम्पिक की तैयारी: गोल्ड मेडल जीतने वाले UP के बच्चों...

10 साल से छोटी एक गोल्ड-मेडलिस्ट बच्ची के पिता परचून की दुकान चलाते हैं। वहीं एक अन्य जिम्नास्ट बच्ची के पिता प्राइवेट कम्पनी में काम करते हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe