Thursday, June 20, 2024
Homeविविध विषयमनोरंजनब्रह्मास्त्र नहीं 'ड्रैगन' था फिल्म का नाम, रणबीर कपूर को 'शिव' नहीं 'मोहम्मद रूमी'...

ब्रह्मास्त्र नहीं ‘ड्रैगन’ था फिल्म का नाम, रणबीर कपूर को ‘शिव’ नहीं ‘मोहम्मद रूमी’ बनना था: फिल्म डायरेक्टर के पुराने बयान से खुलासा

फिल्म निर्देशक अयान मुखर्जी का एक पुराना पोस्ट वायरल है। इसमें उन्होंने बता रखा है कि इस फिल्म का नाम पहले 'ड्रैगन' था और रणबीर कपूर उसमें पहले 'शिव' का नहीं बल्कि ‘जलाल अल-दीन मुहम्मद रूमी’ का रोल निभाने वाले थे।

‘ब्रह्मास्त्र’ के रिलीज होने से पहले सोशल मीडिया पर बॉयकॉट की माँग तेज हो गई है। इसी बीच फिल्म निर्देशक अयान मुखर्जी का एक पुराना बयान वायरल है। इसमें वह बता रहे हैं कि इस फिल्म का नाम पहले ‘ड्रैगन’ था और रणबीर कपूर उसमें पहले ‘शिव’ का नहीं बल्कि ‘जलाल अल-दीन मुहम्मद रूमी’ का रोल निभाने वाले थे।

हालाँकि अब इस फिल्म में अभिनेता का नाम शिव है और वे अग्निअस्त्र को प्रेजेंट करने वाले हैं। पहले वाला नाम 13 वीं शताब्दी के एक फारसी कवि जलाल अल-दीन मुहम्मद रूमी के नाम पर था।

बता दें कि फिल्म का नाम ‘ड्रैगन’ से ‘ब्रह्मास्त्र’ कर दिए जाने की खबर अब से करीब 5 साल पहले ही सामने आ चुकी थी। लेकिन अब ये बात हर जगह सार्वजनिक है। फिल्म के निर्देशक अयान मुखर्जी की साल 2019 में की गई एक पोस्ट वायरल हो रही है। यह पोस्ट उन्होंने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर शेयर की थी और बताया था, “ब्रह्मास्त्र को शुरू हुए एक लंबा समय बीत गया है। फिल्म को शुरुआती दिनों में ड्रैगन कहा जाता था। मुझे वीएफएक्स के बारे में ज्यादा पता नहीं था, लेकिन फिर भी एक फिल्म का सपना देखा था।”

इसके कुछ दिनों के बाद निर्देशक ने एक और तस्वीर साझा की, जिसमें अभिनेता रणबीर कपूर दिखाई दे रहे हैं और उनके बाल काफ़ी लंबे दिखाई दे रहे हैं। इसको शेयर करते हुए उन्होंने लिखा कि पहले रणबीर का रूमी लुक ऐसा था। लंबे बालों वाला एक रूमी। यह तस्वीर फिल्म के शुरुआती लुक टेस्ट की है।

इसी पोस्ट में उन्होंने आगे लिखा, “कई तरह के विचार और विमर्श के बाद ड्रैगन को ब्रह्मास्त्र बनाया गया। हमने रणबीर के बाल कटवाए और रूमी बन गया शिव।” बताया यह भी जा रहा है कि पिछले साल दिसंबर में अयान मुखर्जी ने सूचित किया कि फिल्म का पहले वाला नाम सुविचारित नहीं था। उन्होंने यह भी बताया कि फिल्म का ‘ड्रैगन’ टाइटल अस्थायी है।

अयान मुखर्जी ने यह भी कहा, “मैंने इस पर ज्यादा विचार नहीं किया क्योंकि फिल्म में शिव के पास आग की ताकत है, मैंने इसे स्क्रिप्ट पर ‘ड्रैगन’ कहा है।” उन्होंने कहा, “लेकिन फिल्म हमेशा भारतीय संस्कृति और इतिहास से प्रेरित थी। जब इसे एक मुख्य और अंतिम शीर्षक देने का समय आया, तो ब्रह्मास्त्र ही सही शीर्षक लगा। लेकिन ड्रैगन नाम इसलिए दिया गया था क्योंकि यह आग, शक्ति से संबंधित था।”

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

तेजस्वी यादव के PS ने सिकंदर यदुवंशी के लिए बुक करवाया कमरा: NEET पेपर लीक में बिहार के डिप्टी CM का खुलासा, अमित आनंद...

तेजस्वी यादव पहले मंत्री रहे हैं, इसलिए अनुराग नाम के अभ्यर्थी के लिए जो कमरा बुक किया गया था, उसकी बुकिंग के आगे ब्रेकट में (मंत्री जी) लिखा है।

चोर औरंगजेब की पिटाई को इस्लामी कट्टरपंथी बता रहे ‘मुस्लिम को हिंदू भीड़ ने मार डाला’, अलीगढ़ मामले में पुलिस ने बताई सच्चाई

अलीगढ़ में 'औरंगजेब' की हत्या के मामले में पुलिस ने बताया कि वो एक हिंदू के घर में चोरी करने के इरादे से घुसा था, वहीं पुलिस ने उसे पकड़ा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -