Monday, July 15, 2024
Homeविविध विषयमनोरंजनमुनव्वर फारूकी ने ज्योतिषी को नहीं दिखाया हाथ, कहा- मुझे इसकी इजाजत नहीं: बिग...

मुनव्वर फारूकी ने ज्योतिषी को नहीं दिखाया हाथ, कहा- मुझे इसकी इजाजत नहीं: बिग बॉस के घर में ‘इस्लाम’ प्रेम देख मर मिटे कट्टरपंथी

वायरल हो रहा वीडियो 13 जनवरी 2024 का है। बिग बॉस के घर में मशहूर ज्योतिषी प्रेम आए हुए थे। उन्होंने सभी प्रतियोगियों के हाथ देखे और उनके भविष्य को लेकर कुछ सुझाव दिए। लेकिन जब मुनव्वर की बारी आई, तो उसने साफ तौर पर हाथ दिखाने से मना कर दिया।

कॉमेडी के नाम पर हिंदू देवी-देवताओं पर अभद्र टिप्पणी करने वाले मुनव्वर फारूकी का एक वीडियो वायरल हो रहा है। यह वीडियो ओटीटी प्लेटफॉर्म कलर्स पर प्रसारित होने वाले बिग-बॉस 17 का है। इसमें बिग बॉस के घर आए ज्योतिषी को यह कहते हुए फारूकी हाथ दिखाने से इनकार कर देता है कि उसे इसकी इजाजत नहीं है।

हिंदूफोबिक कॉमेडी के लिए कुख्यात फारूकी ने इससे पहले ओटीटी प्लेटफॉर्म के ही एक रिएलिटी शो लॉकअप (LockUpp) में खुद को बदला हुआ व्यक्ति दिखाने की कोशिश की थी। उसने बचपन में कथित यौन शोषण, तेजाब पीकर अपनी अम्मी के मरने की बातों का खुलास कर संवेदना हासिल करने की कोशिश की थी। लेकिन बिग बॉस के घर के भीतर ज्योतिषी को देखकर उसके भीतर का उम्माह जाग गया। इसके कारण इस्लामी कट्टरपंथी जहाँ उसकी शान में कसीदे पढ़ रहे हैं, वहीं नेटिजन्स बता रहे हैं कि कैसे फारूकी के लिए इस्लाम सबसे ऊपर है।

वायरल हो रहा वीडियो 13 जनवरी 2024 का है। बिग बॉस के घर में मशहूर ज्योतिषी प्रेम आए हुए थे। ज्योतिष विद्या में अपने ज्ञान की वजह से वे दुनिया भर में मशहूर हैं। साल 2018 में भी वो बिग बॉस के घर में आ चुके हैं। इस बार उन्होंने सभी प्रतियोगियों के हाथ देखे और उनके भविष्य को लेकर कुछ सुझाव दिए। लेकिन जब मुनव्वर की बारी आई, तो उसने साफ तौर पर हाथ दिखाने से मना कर दिया।

मुनव्वर ने कहा, “मुझे इजाजत नहीं है भविष्य को जानने की, मुझे माफ कीजिए।” हालाँकि इसके बावजूद प्रेम ज्योतिष ने उसे बताया कि उसका भविष्य इंटरनेशनल फेम (ये बिग बॉस के विजेता को लेकर हिंट भी हो सकता है) वाला है। वो सिर्फ उस पर फोकस करे। खास बात ये है कि मुनव्वर के समर्थक इस बात को पूरे जोर-शोर से प्रचारित भी कर रहे हैं।

मुनव्वर की इस हरकत पर इस्लामिक गैंग भी खूब खुश है। ऑल इन वन नाम के यूट्यूब चैनल, जिसके 1.1 मिलियन से ज्यादा सब्सक्राइबर हैं ने मुनव्वर फारूकी की जमकर तारीफ की है। सैय्यद मुर्तजा नाम का यूट्यूब एंकर उसकी खुलकर तारीफ करता है। वो बोलता है कि मुनव्वर भाई, एक ही तो दिल है, कितनी बार जीतोगे?

वहीं, मुनव्वर का असली चेहरा सामने आने के बाद कुछ लोगों ने उसे पकड़ लिया। लोग खुल कर ये बोल रहे हैं वह न सिर्फ हिंदू विरोधी है, बल्कि वो कट्टर इस्लामी है। कुछ लोग उसे हिप्पोक्रेट यानी ढोंगी भी कह रहे हैं।

मीठी मिर्ची नाम की एक्स यूजर ने लिखा है, “मुनव्वर को अलॉउड नहीं है भविष्य जानना, उसने एस्ट्रोलॉजर से ऐसा कहा। क्या ये उसके धर्म की वजह से है? क्या उसका धर्म उसे मनोरंजन इंडस्ट्री में होने की इजाजत देता है? क्या फालतू हिप्पोक्राइट आदमी है।”

आयुष ने कही सच्चा बात, तो पिल पड़े मुनव्वर के समर्थक

आयुष शर्मा नाम के इंस्ट्राग्राम यूजर ने मुनव्वर की इस्लामिक कट्टरता पर एक वीडियो भी बनाया है। उसके कमेंट बॉक्स में मुनव्वर के समर्थकों ने खूब गाली-गलौच की है। आयुष शर्मा ने मुनव्वर की हरकतों की वजह से उसके बहिष्कार और उसे वोट न करने की अपील की है।

बता दें कि मुनव्वर फारूकी भगवान राम और माता सीता के साथ ही गृहमंत्री अमित शाह पर आपत्तिजनक कमेंट करके जेल भी जा चुका है। साल 2021 में उसे इंदौर में एक कार्यक्रम के दौरान खूब विरोध झेलना पड़ा था। इसके बाद उसे 37 दिनों तक जेल में भी रहना पड़ा था। हालाँकि सुप्रीम कोर्ट से उसे जमानत मिल गई थी।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

कॉन्ग्रेस के चुनावी चोचले ने KSRTC का भट्टा बिठाया, ₹295 करोड़ का घाटा: पहले महिलाओं के लिए बस सेवा फ्री, अब 15-20% किराया बढ़ाने...

कर्नाटक में फ्री बस सेवा देने का वादा करना कॉन्ग्रेस के लिए आसान था लेकिन इसे लागू करना कठिन। यही वजह है कि KSRTC करोड़ों के नुकसान में है।

‘बैकफुट पर आने की जरूरत नहीं, 2027 भी जीतेंगे’: लोकसभा चुनावों के बाद हुई पार्टी की पहली बैठक में CM योगी ने भरा जोश,...

लोकसभा चुनावों के बाद पहली बार भाजपा प्रदेश कार्यसमिति की लखनऊ में आयोजित बैठक में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कार्यकर्ताओं में जोश भरा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -