Wednesday, June 19, 2024
Homeविविध विषयमनोरंजन'रीढ़विहीन लोग जो अपने जुबान पर कायम नहीं रहते': 'पंचायत' वाले 'विधायक जी' ने...

‘रीढ़विहीन लोग जो अपने जुबान पर कायम नहीं रहते’: ‘पंचायत’ वाले ‘विधायक जी’ ने अनुराग कश्यप के धोखे को किया याद, पंकज त्रिपाठी पर भी बरसे

बकौल पंकज झा, उन्हें पता चला कि निर्देशक खुद इतनी बुरी हालत में थे कि उन्हें काम नहीं मिल रहा था और एक साथ 36 जगह काम कर रहे थे।

अगर आपने ‘पंचायत’ का तीनों सीजन देखा है तो आपको ‘चंद्रकिशोर सिंह’ (चंदू) का किरदार याद होगा। अरे, वही अपने ‘विधायक जी’। इस किरदार को बिहार के सहरसा में जन्मे पंकज झा ने निभाया है। पंकज झा का ‘पंचायत’ में किरदार कॉमेडी वाला है, जिसे गंभीर रह कर कॉमेडी करनी है। अब उन्होंने बॉलीवुड के एक अन्य अभिनेता पंकज त्रिपाठी और निर्देशक अनुराग कश्यप पर निशाना साधा है। पंकज त्रिपाठी ‘मिर्जापुर’ सीरीज से शोहरत बटोर चुके हैं, वहीं अनुराग कश्यप ‘गैंग्स ऑफ वासेपुर’ जैसी फिल्म सीरीज बना चुके हैं।

पंकज झा ने कहा है कि कुछ अभिनेता दूसरे बड़े अभिनेता की चप्पल चुराने के अपने ‘संघर्ष’ का भी महिमामंडन करते हैं। उनका इशारा पंकज त्रिपाठी की तरफ था, जिन्होंने बताया था कि कैसे संघर्ष के दिनों में जब वो किसी होटल में काम करते थे तो उन्होंने मनोज वाजपेयी की चप्पल अपने पास रख ली थी क्योंकि वो उनके पसंदीदा अभिनेता थे। पंकज झा ने इस दौरान पीठ पीछे राजनीति करने वालों पर भी निशाना साधा और कहा कि ऐसी चीजों से वो टूटने वाले नहीं हैं।

पंकज झा ने कहा कि उन्हें इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि उनके पीठ पीछे कौन लोग क्या बात कर रहे हैं, ऐसे लोग डरपोक होते हैं क्योंकि वो सामने ये बातें नहीं कर सकते। वहीं उन्होंने अनुराग कश्यप की बात करते हुए कहा कि ‘सत्य’ और ‘गुलाल’ जैसी फ़िल्में सिर्फ अभिनेता ही नहीं, बल्कि निर्देशक भी बनाती हैं। उन्होंने कहा कि यहाँ इतने डरपोक और रीढ़विहीन लोग हैं जो अपनी जुबान पर टिके नहीं रह सकते। बकौल पंकज झा, उन्हें पता चला कि निर्देशक खुद इतनी बुरी हालत में थे कि उन्हें काम नहीं मिल रहा था और एक साथ 36 जगह काम कर रहे थे।

अनुराग कश्यप की फिल्म ‘गैंग्स ऑफ वासेपुर’ के दिनों को याद करते हुए पंकज झा ने बताया कि जब वो शूटिंग के लिए पटना गए हुए थे तो वहाँ उन्हें अनुराग कश्यप का मैसेज मिला कि ‘आ जाओ।’ उन्होंने बताया कि पंकज झा ने जवाब दिया कि वो शूट के बीच में हैं और 2-3 दिन में आएँगे। बाद में उन्हें पता चला कि इस रोल में किसी और को कास्ट कर लिया गया है। उस रोल में पंकज त्रिपाठी को ले लिया गया। हालाँकि, झा कहते हैं कि उन्हें कश्यप से कोई शिकायत नहीं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘हमारे बारह’ पर जो बॉम्बे हाई कोर्ट ने कहा, वही हम भी कह रहे- मुस्लिम नहीं हैं अल्पसंख्यक… अब तो बंद हो देश के...

हाई कोर्ट ने कहा कि उन्हें फिल्म देखखर नहीं लगा कि कोई ऐसी चीज है इसमें जो हिंसा भड़काने वाली है। अगर लगता, तो पहले ही इस पर आपत्ति जता देते।

NEET पर जिस आयुषी पटेल के दावों को प्रियंका गाँधी ने दी हवा, उसके खुद के दस्तावेज फर्जी: कहा था- NTA ने रिजल्ट नहीं...

इलाहाबाद हाई कोर्ट में झूठी साबित होने के बाद आयुषी पटेल ने अपनी याचिका भी वापस लेने का अनुरोध किया। कोर्ट ने NTA को छूट दी है कि वह आयुषी पटेल के खिलाफ नियमानुसार एक्शन ले।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -