Thursday, May 30, 2024
Homeविविध विषयमनोरंजनगर्भ में लिंग की जाँच: मुश्किलों में रणवीर सिंह की ‘जयेशभाई जोरदार’, रिलीज से...

गर्भ में लिंग की जाँच: मुश्किलों में रणवीर सिंह की ‘जयेशभाई जोरदार’, रिलीज से पहले हाई कोर्ट पहुँचा मामला

याचिकाकर्ता का कहना है कि फिल्म का ट्रेलर अल्ट्रासाउंड तकनीक के उपयोग का विज्ञापन करता है, जो कानूनन गलत है।

बॉलीवुड अभिनेता रणवीर सिंह (Ranveer Singh) की फिल्म ‘जयेशभाई जोरदार’ (Jayeshbhai Jordaar) रिलीज से पहले मुश्किलों में आ गई है। दरअसल, फिल्म के ट्रेलर में प्रसव पूर्व लिंग जाँच के सीन को लेकर यूथ अगेंस्ट क्राइम नाम के एक एनजीओ ने दिल्ली हाई कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है। कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश विपिन सांघी और न्यायमूर्ति नवीन चावला की पीठ के समक्ष इस मामले को रखा गया।

लाइव लॉ के मुताबिक, वकील पवन प्रकाश पाठक द्वारा दायर याचिका में कहा गया है कि हालाँकि फिल्म कन्या भ्रूण हत्या विषय पर आधारित है और ‘सेव गर्ल चाइल्ड’ पर जोर देती है, लेकिन फिल्म के ट्रेलर में प्रसव पूर्व लिंग जाँच का सीन को दिखाया गया है, जो सही नहीं हैं। गर्भधारण और प्रसव पूर्व निदान तकनीक अधिनियम, 1994 के तहत यह गैरकानूनी है। उल्लेखनीय है कि यह एक ऐस अधिनियम है जो कन्या भ्रूण हत्या और भारत में गिरते लिंगानुपात को रोकने के लिए लागू किया गया था। इस अधिनियम के तहत प्रसव पूर्व लिंग जाँच पर प्रतिबंध है।

यहाँ देखें ‘जयेशभाई जोरदार’ फिल्म का ट्रेलर

याचिका में कहा गया है, “अल्ट्रासाउंड क्लिनिक सीन, जहाँ बिना सेंसर के लिंग निर्धारण के लिए अल्ट्रासाउंड की तकनीक का खुले तौर पर विज्ञापन दिखाया गया है। यह पीसी और पीएनडीटी अधिनियम की धारा 3, 3 ए, 3 बी, 4, 6 और 22 के अनुसार प्रतिबंधित है।” धारा 3ए के तहत प्रसव पूर्व लिंग निर्धारण गैरकानूनी है। धारा 3बी में अल्ट्रासाउंड मशीनों, लैब, क्लीनिकों आदि ​के जरिए बच्चे के लिंग की जाँच प्रतिबंधित है।

बता दें कि यशराज फिल्म्स के बैनर तले बानी ‘जयेशभाई जोरदार’ को मनीष शर्मा ने प्रोड्यूस किया है। दिव्यांग ठक्कर फिल्म के निर्देशक हैं। उन्होंने इस फिल्म की स्क्रिप्ट भी लिखी है। ‘जयेशभाई जोरदार’ 13 मई को सिनेमाघरों में दस्तक देने वाली है। फिल्म के रणवीर सिंह के अलावा शालिनी पांडे, बोमन ईरानी और ​​रत्ना पाठक शाह भी मुख्य भूमिका में हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

केजरीवाल ने अब माँगी नियमित जमानत, 1 जून को सुनवाई: कोर्ट ने ED से माँगा जवाब, एजेंसी ने बताया- दिल्ली के CM फिट, पंजाब...

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने दिल्ली की राउज अवेन्यु कोर्ट में शराब घोटाला मामले में नियमित जमानत के लिए याचिका लगाई है।

3 साल में 4 गुना हुआ बैंक फ्रॉड, लेकिन नुकसान की रकम एक तिहाई हुई: RBI रिपोर्ट से खुलासा, प्राइवेट बैंक के कस्टमर झाँसे...

वित्त वर्ष 2023-24 में लोगों से बैंक धोखाधड़ी के 36,075 मामले हुए। इस धोखाधड़ी के कारण लोगों का ₹13,930 करोड़ का नुकसान हुआ है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -