Wednesday, November 30, 2022
Homeविविध विषयमनोरंजनसैफ हैं गालीबाज, अमृता सिंह चलाती हैं पोर्न साइट: जानें सारा अली खान ने...

सैफ हैं गालीबाज, अमृता सिंह चलाती हैं पोर्न साइट: जानें सारा अली खान ने माँ-बाप को लेकर क्यों सोची ऐसी बात

सारा अली खान मानती थीं कि उनके पापा सैफ अली खान गाली देने वाले आदमी हैं और उनकी अमृता सिंह माँ तो सच में पोर्न साइट चलाती हैं।

कुछ ही समय में पूरे बॉलीवुड में अपनी जगह बना लेने वाली सैफ अली खान और अमृता सिंह की बेटी सारा अली खान अक्सर अपनी चुलबुली बातों की वजह मीडिया में चर्चा में रहती हैं। अभी हाल में उन्होंने हार्पर बाजार इंडिया को एक इंटरव्यू दिया था। इसमें उन्होंने अपने माता-पिता से जुड़ी एक बात बताई, जिसका वास्तविकता से कोई संबंध नहीं है, लेकिन सारा के ख्याली पुलाव ऐसे हैं कि उन्हें सुन किसी को भी हँसी आ जाए।

सारा ने इंटरव्यू में खुलासा किया कि जब वे बच्ची थीं तब उन्हें लगता था कि उनके माता-पिता गंदे लोग हैं। सैफ की फिल्म ओंकारा और अमृता सिंह की फिल्म कलयुग देखने के बाद वो मानने लगीं थी कि उनके पापा गाली देने वाले आदमी हैं और उनकी माँ तो सच में पोर्न साइट चलाती हैं।

Harper’s Bazaar India से बातचीत में सारा अली खान ने कहा, “ओंकारा और कलयुग देखने के बाद मैं काफी परेशान हो गई थी। मुझे लगता था कि मेरे पेरेंट्स गलत इंसान हैं। (हँसते हुए) तब मैं काफी छोटी थी। मैं सोचती थी कि मेरे पिता गंदी-गंदी भाषा बोलते हैं और माँ पोर्न साइट चलाती हैं। ये हँसी में नहीं था। उसी साल उन दोनों को बेस्ट एक्टर नॉमिनेशन मिला था, मैं सोचती थी कि ये सब क्या है।”

बता दें कि सारा अली खान सिर्फ 9 साल की थीं जब अमृता और सैफ एक दूसरे से अलग हुए। उन्होंने बताया कि उनके माँ-बाप का अलग होना इतना भी मुश्किल नहीं था। दोनों आज खुश हैं और पॉजिटिव स्पेस में हैं। वह कहती हैं, “मैं अपनी माँ को हँसते हुए, मजाक करते हुए, हरकतें करते हुए देखती हूँ, जो कि कई समय से गायब था। उन्हें ऐसे देखना बहुत सुकून दायक है।” उल्लेखनीय है कि सारा अली खान सोशल मीडिया पर अपने भाई इब्राहिम अली खान के साथ नॉक-नॉक जोक्स के लिए फेमस हैं। वो अक्सर हिंदी में तुकबंदी के प्रयास भी वीडियो में करती रहती हैं। आने वाले समय में वो डायरेक्टर आनंद एल राय की अतरंगी रे में नजर आएँगी।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

रोता हुआ आम का पेड़, आरती के समय मंदिर में देवता को प्रणाम करने वाला ताड़ का वृक्ष… वेदों से प्रेरित था जगदीश चंद्र...

छुईमुई का पौधा हमारे छूते ही प्रतिक्रिया देता है। जगदीश चंद्र बोस ने दिखाया कि अन्य पेड़-पौधों में भी ऐसा होता है, लेकिन नंगी आँखों से नहीं दिखता।

‘मौलाना साद को सौंपी जाए निजामुद्दीन मरकज की चाबियाँ’: दिल्ली HC के आदेश पर पुलिस को आपत्ति नहीं, तबलीगी जमात ने फैलाया था कोरोना

दिल्ली हाईकोर्ट ने पुलिस को तबलीगी जमात के निजामुद्दीन मरकज की चाबी मौलाना साद को सौंपने की हिदायत दी। पुलिस ने दावा किया है कि वह फरार है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
236,143FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe