Sunday, May 19, 2024
Homeविविध विषयमनोरंजनक़तर पर सुब्रमण्यन स्वामी के झूठ की पोल शाहरुख खान ने खोली, कहा -...

क़तर पर सुब्रमण्यन स्वामी के झूठ की पोल शाहरुख खान ने खोली, कहा – सारा श्रेय भारत सरकार का, मेरी इसमें भूमिका नहीं

इसमें कहा गया है कि क़तर से पूर्व नौसेना अधिकारियों की रिहाई के संबंध में शाहरुख़ खान की कथित भूमिका वाली ख़बरों के संबंध में अभिनेता का कार्यालय द्वारा स्पष्ट किया जाता है कि इसमें उनकी भागीदारी का कोई भी दावा एकदम गलत है।

हाल ही में भारत ने अपने 8 पूर्व नौसेना अधिकारियों की क़तर की जेल से रिहाई सुनिश्चित की। इन सभी को क़तर में सज़ा-ए-मौत सुनाई गई थी, लेकिन भारत के हस्तक्षेप के बाद इसे आजीवन कारावास में परिवर्तित कर दिया गया था। पूर्व नौसैनिकों ने रिहाई के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का धन्यवाद दिया। वहीं भाजपा के पूर्व राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यन स्वामी ने कह डाला कि बॉलीवुड अभिनेता शाहरुख़ खान के हस्तक्षेप पर ये संभव हो पाया।

हालाँकि, अब खुद शाहरुख़ खान ने इस पर बयान जारी कर के सब कुछ स्पष्ट कर दिया है। शाहरुख़ खान की मैनेजर पूजा डडलानी ने अभिनेता के कार्यालय द्वारा जारी किया गया बयान सोशल मीडिया पर शेयर किया है। इसमें कहा गया है कि क़तर से पूर्व नौसेना अधिकारियों की रिहाई के संबंध में शाहरुख़ खान की कथित भूमिका वाली ख़बरों के संबंध में अभिनेता का कार्यालय द्वारा स्पष्ट किया जाता है कि इसमें उनकी भागीदारी का कोई भी दावा एकदम गलत है।

SRK के दफ्तर ने कहा है कि ऐसी खबरें निराधार हैं। साथ ही ये भी बताया गया है कि इस अभियान को सफल बनाने का सारा श्रेय भारत सरकार के अधिकारियों को जाता है और शाहरुख़ खान की इसमें कोई भूमिका नहीं है। साथ ही बयान में जोड़ा गया कि कूटनीति और शासन-कार्य से जुड़े सभी मामले हमारे सक्षम नेताओं द्वारा देखे जाते हैं। बयान में कहा गया है कि सभी भारतीयों की तरह शाहरुख़ खान भी पूर्व नौसेना अधिकारियों की वापसी से खुश हैं।

बता दें सुब्रमण्यन स्वामी के ट्वीट के बाद ये चर्चाएँ शुरू हुई थीं। उन्होंने लिखा था, “मोदी को अपने साथ सिनेमा स्टार शाहरुख़ खान को लेकर क़तर जाना चाहिए। जब केंद्रीय विदेश मंत्रालय (MEA) और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (NSA) क़तर के शेखों को मनाने में विफल हो गए, तब मोदी ने शाहरुख़ खान से विनती की कि वो हस्तक्षेप करें। इसके बाद हमारे पूर्व नौसेना अधिकारियों की रिहाई के लिए क़तर के शेखों के साथ एक बहुत ही खर्चीली डील हुई।”

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जिसे वामपंथन रोमिला थापर ने ‘इस्लामी कला’ से जोड़ा, उस मंदिर को तोड़ इब्राहिम शर्की ने बनवाई थी मस्जिद: जानिए अटाला माता मंदिर लेने...

अटाला मस्जिद का निर्माण अटाला माता के मंदिर पर ही हुआ है। इसकी पुष्टि तमाम विद्वानों की पुस्तकें, मौजूदा सबूत भी करते हैं।

रोफिकुल इस्लाम जैसे दलाल कराते हैं भारत में घुसपैठ, फिर भारतीय रेल में सवार हो फैल जाते हैं बांग्लादेशी-रोहिंग्या: 16 महीने में अकेले त्रिपुरा...

त्रिपुरा के अगरतला रेलवे स्टेशन से फिर बांग्लादेशी घुसपैठिए पकड़े गए। ये ट्रेन में सवार होकर चेन्नई जाने की फिराक में थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -