Monday, August 15, 2022
Homeविविध विषयमनोरंजन'मेरे जिस्म पर कुछ तो था, आपके पति के जिस्म पर क्या है?': शर्लिन...

‘मेरे जिस्म पर कुछ तो था, आपके पति के जिस्म पर क्या है?’: शर्लिन चोपड़ा ने दीपिका पादुकोण को सुनाया, याद दिलाई घूरने वाली घटना

"मैं बताना चाहती हूँ कि कैमरे पर वो लुक कैसा था, ऐसे ऊपर से नीचे जिस्म पर एक छोटा सा टॉप था। गनीमत है कुछ तो था, जिस्म पर। लेकिन आपके पति के जिस्म पर क्या है मैडम?"

बॉलीवुड एक्टर रणवीर सिंह आजकल पब्लिक न्यूडिटी को लेकर विवादों में हैं। कुछ लोग उनका सपोर्ट कर रहे हैं, तो कुछ उनका विरोध। रणवीर सिंह की न्यूड तस्वीरों के सामने आने के बाद अब एक्ट्रेस शर्लिंन चोपड़ा ने दीपिका पादुकोण पर निशाना साधा है। उन्होंने दीपिका पादुकोण को कहा कि जब उन्होंने एक अंतरराष्ट्रीय मैग्जीन के लिए बोल्ड फोटो शूट करवाया था तो उस वक्त उनके ऊपर कीचड़ उछाले गए थे और उन्हें कैरेक्टरलेस कहा गया था। अब रणवीर सिंह के मामले में ये दोगलापन क्यों?

शर्लिन ने कहा कि जब मैने न्यूड फोटोशूट करवाया था तो मेरे शरीर पर कपड़े थे। एक्ट्रेस कहती है कि अब ये मत कहिए कि हो गया। ये तो चलता है। उन्होंने दीपिका पादुकोण को संबोधित कर कहा, “अब ये मत कहिए कि ये तो चलता है। हम इसे क्यों इतना बड़ा मुद्दा बना रहे हैं। यही एक मुद्दा है, जिस तरीके से दीपिका पादुकोण ने मुझे देखा था। मैं बताना चाहती हूँ कि कैमरे पर वो लुक कैसा था, ऐसे ऊपर से नीचे जिस्म पर एक छोटा सा टॉप था। गनीमत है कुछ तो था, जिस्म पर। लेकिन आपके पति के जिस्म पर क्या है मैडम?”

दरअसल, इससे पहले रणवीर के न्यूड फोटोशूट पर शर्लिन ने उन लोगों को घेरा था, जिन्होंने उनके फोटो शूट पर उनपर सवाल खड़े किए थे। शर्लिन का कहना था कि उस वक्त तो मीडिया और लोगों ने उन्हें चरित्रहीन, जलील और क्या-क्या कहा था। लेकिन अब जब ये जनाब वैसा ही कर रहे हैं तो ये उर्दूवु़ड मीडिया इनकी प्रशंसा कर रहा है।

गौरतलब है कि न्यूड फोटो शूट के मामले में एक्टर के खिलाफ महिलाओं की भावनाओें को आहत करने के मामले में मुंबई के एक एनजीओ ने केस दर्ज कराया है। पेपर मैगज़ीन के लिए न्यूड शूट के लिए उन पर भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा 509, 292 और 294 और आईटी एक्ट की धारा 67 ए के तहत मामला दर्ज किया गया था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

वो हिंदुस्तानी जो अभी भी नहीं हैं आजाद: PoJK के लोग देख रहे आशाभरी नजरों से भारत की ओर, हिंदू-सिखों का यहाँ हुआ था...

विभाजन की विभीषिका को भी भुलाया नहीं जा सकता। स्वतंत्रता-प्राप्ति का मूल्य समझकर और स्वतन्त्रता का मूल्य चुकाकर ही हम अपनी स्वतंत्रता को सुरक्षित और संरक्षित कर सकते हैं।

वे नहीं रहे… क्योंकि वे हिन्दू थे: अपनी नवजात बेटी को भी नहीं देख पाए गौ प्रेमी किशन भरवाड

27 वर्षीय हिंदू युवक किशन भरवाड़ को कट्टरपंथी मुस्लिमों ने 25 जनवरी 2022 को केवल हिंदू होने के कारण मार डाला था। वजह वही क्योंकि वे हिन्दू थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
213,977FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe