Saturday, July 31, 2021
Homeविविध विषयमनोरंजन'कॉमेडियन' अग्रिमा जोशुआ ने छत्रपति शिवाजी महाराज के मेमोरियल का उड़ाया मजाक: MNS के...

‘कॉमेडियन’ अग्रिमा जोशुआ ने छत्रपति शिवाजी महाराज के मेमोरियल का उड़ाया मजाक: MNS के तोड़फोड़ के बाद माँगी माफी

छत्रपति शिवाजी महाराज के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी करने को लेकर आक्रोशित राज ठाकरे की महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (MNS) पार्टी के कार्यकर्ताओं ने उस स्टूडियो में जाकर तोड़-फोड़ की, जहाँ पर कॉमेडिन अग्रिमा जोशुआ ने वीडियो शूट किया था।

अरब सागर में छत्रपति शिवाजी महाराज के स्मारक का अपमान करने वाली स्टैंड-अप ‘कॉमेडियन’ अग्रिमा जोशुआ के वीडियो के एक हिस्से के वायरल होने के बाद सोशल मीडिया पर एक बड़ा विवाद हो गया

एक ऐतिहासिक व्यक्तित्व के अपमान के लिए कॉमेडियन के खिलाफ पूरे राज्य में आक्रोश और गुस्से की लहर फैल गई। बता दें कि छत्रपति शिवाजी को भारतीय सांस्कृतिक पुनर्जागरण के लिए उनके अद्वितीय योगदान के लिए व्यापक रूप से याद किया जाता है।

हालाँकि, यह वीडियो पिछले साल का है, मगर 5 अप्रैल को ‘कॉमेडियन’ अग्रिमा के द्वारा इसका एक मिनट का क्लिप शेयर करने के बाद यह वायरल हो गया। वीडियो में शिव स्मारक और छत्रपति शिवाजी महाराज के स्मारक को लेकर आपत्तिजनक टिप्पणी की गई थी, जिसकी घोषणा महाराष्ट्र में देवेंद्र फडणवीस के नेतृत्व वाली भाजपा सरकार ने की थी। वीडियो के वायरल होने के बाद लोगों ने ने काफी आक्रोश जताया।

छत्रपति शिवाजी महाराज के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी करने को लेकर आक्रोशित राज ठाकरे की महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (MNS) पार्टी के कार्यकर्ताओं ने उस स्टूडियो में जाकर तोड़-फोड़ की, जहाँ पर कॉमेडिन अग्रिमा जोशुआ ने वीडियो शूट किया था।

MNS कार्यकर्ता यश रानाडे ने अपने फेसबुक अकाउंट पर एक वीडियो शेयर किया है जिसमें MNS कार्यकर्ताओं को ‘मराठी गौरव’ के प्रतीक छत्रपति शिवाजी का उपहास उड़ाने के लिए स्टैंड-अप कॉमेडियन को अनुमति देने के लिए स्टूडियो में तोड़फोड़ करते हुए देखा जा सकता है।

वीडियो में, यश को स्टूडियो में अधिकारियों से कॉमेडियन से लिखित माफी माँगने के लिए कहते हुए देखा जा सकता है। वहीं अन्य MNS कार्यकर्ता कार्यक्रम स्थल पर मेज और कुर्सियों को लात मारते और नुकसान पहुँचाते नजर आते हैं। इसके बाद आयोजकों ने कॉमेडियन अग्रिमा जोशुआ को छत्रपति शिवाजी के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी करने की अनुमति देने के लिए मौखिक और लिखित माफी माँगी।

महाराष्ट्र के सबसे बड़े प्रतीक-छत्रपति शिवाजी महाराज के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी ने शिवसेना के विधायक प्रताप सरनाईक को भी नाराज़ कर दिया। उन्होंने राज्य के गृह मंत्री अनिल देशमुख को पत्र लिखकर कॉमेडियन के खिलाफ कार्रवाई की माँग की।

सरनाइक ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर शेयर किए गए एक वीडियो में कहा, “अगिमा जोशुआ नाम के एक कॉमेडियन ने अपने स्टैंड-अप कॉमेडी में शिवाजी महाराज के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी की है। मैंने वीडियो देखा और मुझे लगता है कि उनके दिल में शिवाजी महाराज के लिए कोई सम्मान नहीं है या फिर वह उनके बारे में जानती नहीं है। मैंने गृह मंत्री को भी उनकी गिरफ्तारी की माँग करते हुए लिखा है।”

उन्होंने यह भी कहा कि यदि उक्त हास्य कलाकार शिवाजी महाराज के नाम का उपयोग प्रसिद्धि और पैसा कमाने के लिए कर रही थी, तो महाराष्ट्र युवती सेना / महिला अगाड़ी इस तरह के विकृत व्यवहार को बर्दाश्त नहीं करेगी।

सरनायक ने कहा, “यदि आप चाहें, तो आप महाराज के भक्तों से उनके बारे में जानकारी ले सकते हैं। महाराज के इस तरह के अपमानजनक व्यवहार को हिंदुत्व के अनुयायियों द्वारा बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।”

वीडियो के वायरल होने के बाद चारो तरफ से घिर जाने पर अग्रिमा जोशुआ ने ट्विटर माफी माँगते हुए कहा, “महान व्यक्तित्व छत्रपति शिवाजी महाराज के अनुयायियों की भावनाओं को आहत करने के लिए मुझे खेद है। महान व्यक्तित्व के अनुयायियों के लिए मेरी हार्दिक क्षमा याचना है, जिनका मैं दिल से सम्मान करती हूँ। वीडियो को पहले ही हटा लिया गया है।”

गौरतलब है कि वायरल हुए वीडियो में अग्रिमा जोशुआ ने कहा था, “मैं अरब सागर में शिवाजी की प्रतिमा के बारे में अधिक जानना चाहती थी, इसलिए मैं इंटरनेट पर सबसे भरोसेमंद स्थल Quora पर गई। वहाँ किसी ने निबंध लिख रखा है- शिवाजी की प्रतिमा महाराष्ट्र के लोगों के लिए प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा एक मास्टरस्ट्रोक है, इसमें सोलर सेल होंगे जो पूरे महाराष्ट्र को शक्ति प्रदान करेंगे। इसके बाद दूसरा बंदा आया। उसने सोचा कि ये क्रिएटिव कॉनटेस्ट है, तो उसने लिखा, हाँ, इसमें जीपीएस ट्रैकर भी होगा और यह अरब सागर में पाकिस्तानी आतंकवादियों को मारने के लिए अपनी आँखों से लेजर किरणों को शूट करेगा। फिर तीसरा बंदा आया, उसने लिखा कि कृपया अपनी जानकारी को सही करें, यह शिवाजी नहीं, शिवाजी महाराज हैं और मैंने उसी को फॉलो किया।”

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

20 से ज्यादा पत्रकारों को खालिस्तानी संगठन से कॉल, धमकी- 15 अगस्त को हिमाचल प्रदेश के CM को नहीं फहराने देंगे तिरंगा

खालिस्तान समर्थक सिख फॉर जस्टिस ने हिमाचल प्रदेश के 20 से अधिक पत्रकारों को कॉल कर धमकी दी है कि 15 अगस्त को सीएम तिरंगा नहीं फहरा सकेंगे।

‘हमारे बच्चों की वैक्सीन विदेश क्यों भेजी’: PM मोदी के खिलाफ पोस्टर पर 25 FIR, रद्द करने से सुप्रीम कोर्ट का इनकार

सुप्रीम कोर्ट ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आलोचना वाले पोस्टर चिपकाने को लेकर दर्ज एफआईआर को रद्द करने से इनकार कर दिया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,104FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe