Wednesday, May 18, 2022
Homeविविध विषयमनोरंजन'दोनों लड़के घबराए थे... मैंने सहज बना दिया': तापसी पन्नू के साथ इंटिमेट सीन...

‘दोनों लड़के घबराए थे… मैंने सहज बना दिया’: तापसी पन्नू के साथ इंटिमेट सीन से ‘डर’ गए थे विक्रांत और हर्षवर्धन

"नहीं, मैंने अपने साथी को अपने इंटीमेट सीन के बारे में नहीं बताया। यह मेरा प्रोफेशनल जीवन है। मैं इसे अपने निजी जीवन से बहुत दूर रखती हूँ।"

बॉलीवुड एक्ट्रेस तापसी पन्नू ने अपनी आने वाली फिल्म हसीन दिलरुबा के को-एक्टर्स को लेकर एक खुलासा किया है। उन्होंने विक्रांत मेस्सी और हर्षवर्धन राणे को लेकर बताया कि कैसे वो दोनों उनके साथ इंटिमेट सीन करने में डर गए थे। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, एक इंटरव्यू में तापसी ने इसका खुलासा किया। उन्होंने कहा कि शायद एक्टर्स को उनकी छवि या फिर कोई और समस्या थी जिसकी वजह से दोनों ‘डरे’ हुए थे।

तापसी ने कहा, “मुझे उम्मीद है कि मैंने उनके लिए इसे सहज बना दिया क्योंकि वे बहुत डरे हुए लग रहे थे… वे सोचते थे पता नहीं ये क्या करेगी हमारे साथ। मुझे लगा दोनों लड़के बहुत घबराए हुए थे… मुझे नहीं पता मेरी इमेज की वजह से या फिर कोई दूसरी समस्या थी। लेकिन मैं विनील के पास जाती थी और शिकायत करती थी।”

एक्ट्रेस से जब पूछा गया कि क्या उन्होंने ऐसे सीन के बारे में पहले से अपने पार्टनर को बता दिया था। इस पर तापसी ने कहा, “नहीं, मैंने अपने साथी को अपने इंटीमेट सीन के बारे में नहीं बताया। यह मेरा प्रोफेशनल जीवन है। मैं इसे अपने निजी जीवन से बहुत दूर रखती हूँ। मैं उम्मीद नहीं करती कि वह अपने प्रोफेशनल जीवन में मुझसे अनुमति लेंगे, इसलिए उन्हें मुझसे भी यही उम्मीद करनी चाहिए।”

वहीं विक्रांत मेस्सी ने माना कि कभी-कभी उनकी साथी ने उनकी स्क्रिप्ट पढ़ी और ऐसी सीन के बारे में जानती थी, लेकिन उन्होंने खुद से कभी जानबूझकर उन्हें पहले से कुछ नहीं बताया। हर्षवर्धन ने कहा कि उन्हें जिस तरह की स्क्रिप्ट दी गई उसमें ऐसे सीन करना काफी सामान्य है।

बता दें कि हसीन दिलरुबा में नजर आने जा रहे विक्रांत मेस्सी लगातार चौथी नेटफ्लिक्स रिलीज में दिखेंगे। इससे पहले वह कार्गो, डॉली किट्टी, वो चमकते सितारे और गिन्नी वेड्स सन्नी में दिख चुके हैं। वहीं हर्षवर्धन आखिरी बार तैश में दिखाई दिए थे। हसीन दिलरुबा को विनिल मैथ्‍यू ने डायरेक्‍ट किया है, जबकि कहानी कनिका ढ‍िल्‍लन ने लिखी है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

सबा नकवी ने एटॉमिक रिएक्टर को बता दिया शिवलिंग, विरोध होने पर डिलीट कर माँगी माफ़ी: लोग बोल रहे – FIR करो

सबा नकवी ने मजाक उड़ाते हुए कहा कि भाभा एटॉमिक रिसर्च सेंटर में सबसे बड़े शिवलिंग की खोज हुई। व्हाट्सएप्प फॉरवर्ड बता कर किया शेयर।

गुजरात में बुरी तरह फेल हुई AAP की ‘परिवर्तन यात्रा’, पंजाब से बुलाई गाड़ियाँ और लोग: खाली जगह की ओर हाथ हिलाते रहे नेता

AAP नेता और पूर्व पत्रकार इसुदान गढ़वी रैली में हाथ दिखाकर थक चुके थे लेकिन सामने कोई उनकी बात का जवाब नहीं दे रहा था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
186,677FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe