Monday, July 15, 2024
Homeविविध विषयमनोरंजनवाजिद खान का निधन: किडनी और हार्ट की बीमारी के बाद कोरोना टेस्ट भी...

वाजिद खान का निधन: किडनी और हार्ट की बीमारी के बाद कोरोना टेस्ट भी आया था पॉजिटिव, बॉलिवुड में शोक

फिल्म इंडस्ट्री में साजिद-वाजिद की जोड़ी के रूप में मशहूर वाजिद खान के निधन को लेकर प्रियंका चोपड़ा, सोनू निगम, सलीम मर्चेंट सहित बॉलिवुड के तमाम अन्य बड़ी हस्तियों और उनके समर्थक ट्विटर पर शोक जाहिर कर रहे हैं।

बॉलीवुड इंडस्ट्री के मशहूर संगीतकार वाजिद खान का कल (1 मई 2020) रात मुंबई के चेम्बूर में स्थित सुरराणा सेठिया अस्पताल में निधन हो गया। वे 42 साल के थे। वाजिद कई सालों से किडनी और हार्ट की बीमारी से पीड़ित थे। हाल ही में उनका किडनी ट्रांसप्लांट भी हुआ था। एक हफ्ते पहले उनका कोरोना टेस्ट भी पॉजिटिव आया था।

किडनी की समस्या के कारण उनका इम्युनिटी लेवल बहुत कम हो गया था। जिसके चलते रविवार शाम को उनकी हालत बिगड़ गई और उन्हें वेंटिलेटर सपोर्ट पर रखा गया मगर तमाम कोशिशों के बाद भी डॉक्टर उन्हें बचा नहीं पाए।

वाजिद की मौत की वजहों में कोविड-19, किडनी का संक्रमण से लेकर हार्ट अटैक जैसी अलग-अलग अटकलें लगाई जा रही हैं। पिछले साल भी वाजिद को हार्ट अटैक आया था, जिसके बाद उनकी एंजिओप्लास्टी की गई थी। फिल्म इंडस्ट्री में साजिद-वाजिद की जोड़ी के रूप में मशहूर वाजिद खान के निधन को लेकर प्रियंका चोपड़ा, सोनू निगम, सलीम मर्चेंट सहित बॉलिवुड के तमाम अन्य बड़ी हस्तियों और उनके समर्थक ट्विटर पर शोक जाहिर कर रहे हैं।

बता दें कि वाजिद खान ने फिल्मी जगत के कई मशहूर सितारों के साथ काम किया है। उनकी जोड़ी ने सलमान खान की कई फिल्मों में जैसे कि ‘तुमको ना भूल पाएँगे’, ‘तेरे नाम’, ‘गर्व’, ‘मुझसे शादी करोगी’, ‘पार्टनर’, ‘गॉड तुस्सी ग्रेट हो’, ‘वांटेड’, ‘मैं और मिसेज खन्ना’, ‘वीर’, ‘दबंग’, ‘नो प्रॉब्लम’ और ‘एक था टाइगर’ में अपना संगीत दिया है। सलमान के लिए ‘हमका पीनी है’, ‘मेरा ही जलवा’ समेत कई हिट गाने उन्हीं ने दिए हैं।

इसके अलावा उनकी जोड़ी ने शो ‘सा रे गा मा पा सिंगिंग सुपरस्टार’ और ‘बिग बॉस सीजन जैसे कई रियलिटी शो के लिए टाइटल ट्रैक किया था। आईपीएल के चौथे सीजन के थीम म्यूजिक ‘धूम धूम धूम धड़ाका’ को कोई कैसे भूल सकता है। इसका भी टाइटल ट्रैक वाजिद खान ने ही गाया था।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

IAS बेटी ऑडी पर बत्ती लगाकर बनाती थी भौकाल, माँ-बाप FIR के बाद फरार: पूजा खेडकर को जाँच के बाद डॉक्टरों ने नहीं माना...

पूजा खेडकर का मामला मीडिया में उठने के बाद उनके माता-पिता से जुड़ी कई वीडियो सामने आई है। ऐसे में पुलिस ने उनकी माँ के खिलाफ एफआईआर की है।

शूटिंग क्लब का सदस्य था डोनाल्ड ट्रम्प पर गोली चलाने वाला, शिकारी वाली वेशभूषा थी पसंद: रिपब्लिकन पार्टी ने बुलाया राष्ट्रीय सम्मेलन, पूर्व राष्ट्रपति...

वो लगभग 1 साल से पास में ही स्थित 'क्लेयरटन स्पोर्ट्समेन क्लब' का सदस्य भी था। इसमें कई शूटिंग रेंज हैं। पहले से कोई भी आपराधिक या ट्रैफिक चालान का मामला दर्ज नहीं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -