Sunday, July 25, 2021
Homeविविध विषयअन्य'सौगंध मुझे इस मिट्टी की' PM मोदी की इन पंक्तियों को सुरों से सजाया...

‘सौगंध मुझे इस मिट्टी की’ PM मोदी की इन पंक्तियों को सुरों से सजाया स्वर कोकिला लता मंगेशकर ने

"2014 के मेरे उन शब्दों को माँ भारती के वीरों को नमन करते हुए आज मैं फिर से दोहरा रहा हूँ। सौगंध मुझे इस मिट्टी की, मैं देश नहीं मिटने दूँगा, मैं देश नहीं रुकने दूँगा, मैं देश नहीं झुकने दूँगा। मेरा वचन है भारत माँ को। तेरा शीश झुकने नहीं दूँगा।"

हाल ही में बालाकोट में IAF के हमले के बाद प्रधानमंत्री मोदी ने भाषण देते हुए एक कविता की पंक्ति ‘सौगंध मुझे इस मिट्टी की’ का इस्तेमाल किया था। जिसके ज़रिए उन्होंने देश के लोगों को आश्वासन दिया था कि उनके हाथ में देश सुरक्षित है। अब इन्हीं पंक्तियों को लयबद्ध करने का कार्य स्वयं लता मंगेशकर ने किया हैं।

जी हाँ। लता मंगेशकर ने सेना के जवानों को समर्पित करते हुए इन पंक्तियों को अपनी आवाज़ में रिकॉर्ड किया है। जिसे बीजेपी अपनी चुनाव कैंपेन का गीत बनाएगी। लता मंगेश्कर ने अपना यह गाना ट्विटर पर शेयर किया हैं।

अपनी ऑडियो में इस गाने को गाने से पहले लता कहती हैं कि पिछले दिनों वे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का भाषण सुन रही थी, जिसमें उन्होंने एक कविता की कुछ पंक्तियाँ कही थीं, जो उन्हें वास्तव में हर भारतीय की मन की बात लगी।

उन्होंने कहा कि वो पंक्तियाँ वाकई उनके मन को छू गई। उन्होंने उसे रिकॉर्ड किया है। साथ ही देश के वीर जवानों को और देश की जनता को समर्पित करते हुए उन्होंने गाने को शुरू किया।

सरस्वती का दूसरा रूप कही जाने वाली लता मंगेशकर की आवाज़ में यह कविता और उसकी पंक्तियाँ किसी भी व्यक्ति के भीतर राष्ट्र प्रेम जगाने के लिए काफ़ी है। याद दिला दें कि प्रधानमंत्री के जिस भाषण पर लता मंगेशकर ने यह गीत लयबद्ध किया है। उसमें पीएम ने कहा था, “2014 के मेरे उन शब्दों को माँ भारती के वीरों को नमन करते हुए आज मैं फिर से दोहरा रहा हूँ। सौगंध मुझे इस मिट्टी की, मैं देश नहीं मिटने दूँगा, मैं देश नहीं रुकने दूँगा, मैं देश नहीं झुकने दूँगा। मेरा वचन है भारत माँ को। तेरा शीश झुकने नहीं दूँगा।”

मोदी के मुख से की इन पंक्तियों को सुनकर लोगों ने खूब तालियाँ बजाईं थी और काफ़ी समय मोदी की आवाज में इन पंक्तियों की गूँज न्यूज़ चैनल्स पर सुनाई पड़ती रहती थी।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

मणिपुर के सेब, आदिवसियों की बेर और ‘बनाना फाइबर’ से महिलाओं की कमाई: Mann Ki Baat में महिला शक्ति की कहानी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार (25 जुलाई, 2021) को 'मन की बात' के 79वें एपिसोड के जरिए देश की जनता को सम्बोधित किया।

हेमंत सोरेन की सरकार गिराने वाले 3 ‘बदमाश’: सब्जी विक्रेता, मजदूर और दुकानदार… ₹2 लाख में खरीदते विधायकों को?

अब सामने आया है कि झारखंड सरकार गिराने की कोशिश के आरोपितों में एक मजदूर है और एक ठेला लगा सब्जी/फल बेचता है। एक इंजिनियर है, जो अपने पिता की दुकान चलाता है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,111FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe