Monday, August 15, 2022
Homeविविध विषयअन्य17 की मौत, 100+ अभी भी लापता: आंध्र प्रदेश में बाढ़ से तबाही, बचाव...

17 की मौत, 100+ अभी भी लापता: आंध्र प्रदेश में बाढ़ से तबाही, बचाव कार्यों में लगी वायुसेना, PM-CM दोनों एक्शन में

भारतीय वायुसेना ने बचाव कार्यों में MI-17 हेलीकाप्टरों को लगाया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस हालात पर मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी को केंद्र सरकार की तरफ से हरसंभव मदद का आश्वासन दिया है।

आंध्र प्रदेश के कडप्पा जिले में अचानक आई बाढ़ ने भारी तबाही मचाई है। चेयेरू छोटी नदी में अचानक पानी भर जाने से आस-पास के क्षेत्र जलमग्न हो गए हैं। यह बाढ़ शुक्रवार (19 अक्टूबर 2021) को आई है। इसके चलते अब तक 17 लोगों की मौत की खबर है। कई अन्य (100 लोग) लापता भी बताए जा रहे हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस हालात पर मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी को केंद्र सरकार की तरफ से हरसंभव मदद का आश्वासन दिया है। इसी के साथ उन्होंने सभी के सुरक्षित रहने की प्रार्थना भी की है।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार बाढ़ का असर चित्तूर, कडप्पा, कुरनूल और अनंतपुर जिलों में अधिक देखा जा रहा है। बंगाल की खाड़ी में बने चक्रवात के चलते गुरुवार (18 नवम्बर 2021) की रात से ही भारी बारिश हो रही थी। आंध्र प्रदेश के तीन रायलसीमा जिलों और एक दक्षिण तटीय जिले में 20 सेंटीमीटर तक बारिश हुई। यही बाढ़ की वजह बताई जा रही है। आंध्र प्रदेश पुलिस, भारतीय वायु सेना, एसडीआरएफ और दमकल सेवा बचाव कार्यों में लगी हुई है।

एक अन्य रिपोर्ट के अनुसार कडप्पा जिले में इसी बाढ़ की चपेट में कार्तिक पूर्णिमा के अवसर पर शिव मंदिर में पूजा कर रहे श्रद्धालु भी आ गए। इसके चलते कुछ लोग राजमपेट क्षेत्र में बाढ़ के पानी में बह गए। नन्दलुरु के पास भी तीन शव बरामद हुए हैं। बाढ़ में बहे अन्य की तलाश की जा रही है। पिछले कई वर्षों में कित्तूर और कडप्पा में आई ये सबसे भयानक बाढ़ बताई जा रही है।

भारतीय वायुसेना ने बचाव कार्यों की जानकारी दी है। वायुसेना के अनुसार विषम हालातों में बचाव कार्यों में MI-17 हेलीकाप्टरों को लगाया गया है। यह बचाव कार्य अनंतपुर जिले में चल रहा है। वीडियो में बाढ़ के पानी में फँसी JCB की छत पर बैठे लोगों को बचाते दिखाया गया है।

कडप्पा जिले में ही आंध्र प्रदेश परिवहन की 3 बसें बाढ़ में फँस गई। इसके चलते 12 लोगों की जान चली गई और 18 अन्य लापता हो गए। यात्री कंडक्टर के साथ बसों की छतों पर दिखाई दिए। आंध्र प्रदेश पुलिस ने इस घटना में बचाव कार्यों की जानकारी दी है।

भारी बारिश के चलते तिरुपति मंदिर में भी बाढ़ का पानी घुसने की खबर है। आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी ने बाढ़ प्रभावित जिलों के DM से वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से बात की है। उन्होंने राहत एवं बचाव कार्य पूरी सक्रियता से करने के निर्देश दिए हैं। जानकारी के मुताबिक चेयुरु का जलाशय टूटने के चलते स्थिति और अधिक खराब हुई।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

स्वतंत्रता के हुए 75 साल, फिर भी बाँटी जा रही मुफ्त की रेवड़ी: स्वावलंबन और स्वदेशी से ही आएगी आर्थिक आत्मनिर्भरता

जब हम यह मानते हैं कि सत्य की ही जय होती है तब ईमानदार सत्यवादी देशभक्त नेताओं और उनके समर्थकों को ईडी आदि से भयभीत नहीं होना चाहिए।

जालौर में इंद्र मेघवाल की मौत: मृतक की जाति वाले टीचर ने नकारा भेदभाव, स्कूल में 8 में से 5 स्टाफ SC/ST

जालौर में इंद्र मेघवाल की मौत पर दावा कि आरोपित हेडमास्टर ने मटकी से पानी पीने पर मारा, जबकि अन्य लोगों का कहना है कि वहाँ कोई मटकी नहीं है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
213,900FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe