Tuesday, May 11, 2021

विषय

Environment

उत्तराखंड के जंगलों में आग: अंग्रेजों की नीति Vs ग्राम समुदाय के पास जंगल का नियंत्रण – क्या है समाधान?

चीड़ के पेड़ हिमालय में आग फैलाने के लिए मुख्य रूप से उत्तरदायी तो हैं पर उन्हें काट देना ही आग रोकने का समाधान नहीं है।

भगवान बिना मंदिर, मिट्टी में दफन हैंडपंप… ओडिशा के सतभाया (7 गाँवों का समूह) को कौन निगल र​हा

ओडिशा के केंद्रपाड़ा जिले में तटीय क्षेत्र में बसे 7 गाँव धीरे-धीरे नक्शे से गायब हो रहे हैं। 17 किलोमीटर के रास्ते पर कभी सतभाया पंचायत (सात गाँवों का समूह) थी।

ओडिशा के टाइगर रिजर्व में आग पशु तस्करों की चाल या प्रकृति का कोहराम? BJP नेता ने कहा- असम से सीखें

सिमिलिपाल का नाम 'सिमुल' से आया है, जिसका अर्थ है सिल्क कॉटन के वृक्ष। ये एक राष्ट्रीय अभयारण्य और टाइगर रिजर्व है।

चिल्लाती माँ, लगातार फोन कॉल… और बच गई 25 जिंदगियाँ: उत्तराखंड के चमोली में माँ मंगश्री देवी के आगे मौत ने मानी हार

"मैं आज ज़िंदा हूँ तो सिर्फ और सिर्फ विपुल की माँ द्वारा दी गई चेतावनी की वजह से। हमें अपने माता-पिता को कभी नज़रअंदाज़ नहीं करना चाहिए।”

‘दुर्गन्ध इतनी कि साँस भी नहीं, रेडियो-एक्टिव डिवाइस है कारण’ – चमोली आपदा पर रैणी गाँव के लोग

अब उत्तराखंड के चमोली स्थित रैणी गाँव के लोगों में चर्चा है कि इसके पीछे 1965 में खोई एक रेडियो-एक्टिव डिवाइस का हाथ हो सकता है।

चमोली आपदा: PM मोदी ने 4 बार CM रावत को किया कॉल, अनाथ बच्चों को गोद लेगा पतंजलि, नहीं बचे 2 पॉवर प्रोजेक्ट्स

उत्तराखंड चमोली आपदा में ऋषिगंगा हाइड्रो प्रोजेक्ट को नदी अपने साथ ही बहा कर ले गई। 530MW धौलीगंगा हाइडल पॉवर प्रोजेक्ट को भारी नुकसान पहुँचा।

उत्तराखंड में 170 अब भी लापता, तपोवन के टनल से 16 जिंदा निकाले गए; ग्लेशियर हादसे के मृतकों के परिजनों को ₹6 लाख

उत्तराखंड में ग्लेशियर फटने से भारी तबाही के बीच 7 लोगों की मौत की पुष्टि हो चुकी है। 170 से ज्यादा लोग अभी भी लापता हैं।

उत्तराखंड ग्लेशियर हादसा: चमोली में 100-150 लोगों के बहने की आशंका, मदद के लिए हेल्पलाइन नंबर जारी

1070 या 9557444486 नंबर पर कॉल कर आप इस संबंध में सूचना ले या दे सकते हैं। आपदा से निपटने या किसी जानकारी के लिए...

अल्लाह, एलियन या परमाणु परीक्षण… 2004 की सुनामी के पीछे चले मिथक: जिसने बर्बाद कर दी 7+ लाख जिंदगियाँ

साल 2004 की सुनामी का प्रभाव इतना गहरा था कि पृथ्वी का आकार भी बदल गया। कुछ आईलैंड कई मीटर तक अपनी पूर्व जगहों से खिसक कर...

पर्यावरण के नाम पर वसूले ₹883 करोड़, खर्चे बस ₹14 करोड़: केजरीवाल सरकार ने RTI में खोली खुद की पोल

केजरीवाल सरकार ने बीते चार साल में पर्यावरण के नाम पर 883 करोड़ रुपए इकट्ठे किए हैं। लेकिन, प्रदूषण रोकने पर इस राशि का केवल 1.6 फीसदी ही खर्च किया गया है।

ताज़ा ख़बरें

प्रचलित ख़बरें

हमसे जुड़ें

295,402FansLike
92,043FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe