Sunday, May 19, 2024
Homeविविध विषयअन्य'सीरीज से बाहर बैठना कठिन... लेकिन मेरा परिवार डरा हुआ': पाकिस्तान-बांग्लादेश क्रिकेट सीरीज खटाई...

‘सीरीज से बाहर बैठना कठिन… लेकिन मेरा परिवार डरा हुआ’: पाकिस्तान-बांग्लादेश क्रिकेट सीरीज खटाई में!

बांग्लादेश के विकेटकीपर ने दौरे से अपने हाथ पीछे खींचते हुए कहा, "मेरा परिवार पाकिस्तान में सुरक्षा के माहौल से डरा हुआ है।"

पाकिस्तान दौरे पर जाने से पहले बांग्लादेश कोचिंग टीम के 5 सदस्यों ने इस दौरे से अपने हाथ खींच लिए हैं। इसके बाद से बांग्लादेश क्रिकेट टीम का पाकिस्तान दौरा खटाई में पड़ता हुआ नज़र आ रहा है। वहीं इससे पहले बांग्लादेश के विकेटकीपर ने दौरे से अपने हाथ पीछे खींचते हुए कहा था, “मेरा परिवार पाकिस्तान में सुरक्षा के माहौल से डरा हुआ है।”

आतंकियों को पनाह देने वाले देश के रूप में कुख्यात हो चुके पड़ोसी देश पाकिस्तान में जाने से पहले किसी भी व्यक्ति को एक नहीं बल्कि हज़ार बार सोचना पड़ता है। अब इस कड़ी में उन हस्तियों का भी नाम जुड़ चुका है, जिनको सुरक्षा के नाम पर बहुत सी सुविधाएँ दी जाती हैं और पहले से ही सुरक्षा की गारंटी दी जाती है। लेकिन इस सबके बाद भी बांग्लादेश की पूरी क्रिकेट टीम पाकिस्तान दौरे के लिए सहमत नहीं है। अब ख़बर आ रही है कि बांग्लादेश के 5 कोचिंग स्टाफ ने पाकिस्तान दौरे से अपना नाम वापस ले लिया है।

दरअसल बोर्ड द्वारा सीरीज खेले जाने की हामी भरने के बाद से ही बांग्लादेश क्रिकेट टीम आपस में बँटती हुई नज़र आ रही है, जिससे बांग्लादेश का पाकिस्तान दौरा खटाई में पड़ता हुआ दिखाई दे रहा है।

इससे पहले बांग्लादेश के विकेटकीपर बल्लेबाज पूर्व कप्तान मुशफिकुर रहीम अपने पाकिस्तान दौरे पर जाने से मना कर चुके हैं। उन्होंने दौरे से अपना नाम वापस लेते हुए कहा था, “मेरा परिवार पाकिस्तान की सुरक्षा के माहौल से डरा हुआ है। इस हालात में मैं पाकिस्तान नहीं जा सकता और वहाँ जाकर खेल नहीं सकता। बांग्लादेश क्रिकेट टीम से एक सीरीज के दौरान बाहर बैठना मेरे लिए हमेशा ही बहुत कठिन रहा है।”

आपको बता दें कि बांग्लादेश टीम को 24 जनवरी से पाकिस्तान दौरे पर तीन टी-20 मैच और दो टेस्ट मैचों की सीरीज खेलनी है। वहीं दोनों देशों के बोर्ड के बीच हुई बातचीत के बाद तैयार हुए नए कार्यक्रम के मुताबिक दोनों टेस्ट मैचों के बीच एक वनडे मैच खेला जाएगा। इससे पहले बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड (बीसीबी) के अध्यक्ष नजमुल हसन ने कहा था कि सरकार ने बोर्ड को बहुत संक्षिप्त समय के लिए टीम भेजने की अनुमति दी है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

CCTV फुटेज गायब, फोन फॉर्मेट: जाँच में सहयोग नहीं कर रहा विभव कुमार, AAP के मार्च के बीच बोलीं स्वाति मालीवाल – काश मनीष...

स्वाति मालीवाल पिटाई मामले में बिभव की गिरफ्तारी से अरविंद केजरीवाल बौखलाए दिख रहे हैं। उन्होंने बीजेपी ऑफिस तक मार्च करने का ऐलान किया है।

पानी की टंकी में हथियार, जवानों के खाने-पीने की चीजों में ज़हर… जानें क्या था ‘लाल आतंकियों’ का ‘पेरमिली दलम’ जिसे नेस्तनाबूत करने में...

पेरमिली दलम ने गढ़चिरौली के जंगलों में ट्रेनिंग कैम्प खोल रखे थे। जनजातीय युवकों को सरकार के खिलाफ भड़का कर हथियार चलाने की ट्रेनिंग देते थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -