Monday, August 2, 2021
Homeविविध विषयअन्य'सीरीज से बाहर बैठना कठिन... लेकिन मेरा परिवार डरा हुआ': पाकिस्तान-बांग्लादेश क्रिकेट सीरीज खटाई...

‘सीरीज से बाहर बैठना कठिन… लेकिन मेरा परिवार डरा हुआ’: पाकिस्तान-बांग्लादेश क्रिकेट सीरीज खटाई में!

बांग्लादेश के विकेटकीपर ने दौरे से अपने हाथ पीछे खींचते हुए कहा, "मेरा परिवार पाकिस्तान में सुरक्षा के माहौल से डरा हुआ है।"

पाकिस्तान दौरे पर जाने से पहले बांग्लादेश कोचिंग टीम के 5 सदस्यों ने इस दौरे से अपने हाथ खींच लिए हैं। इसके बाद से बांग्लादेश क्रिकेट टीम का पाकिस्तान दौरा खटाई में पड़ता हुआ नज़र आ रहा है। वहीं इससे पहले बांग्लादेश के विकेटकीपर ने दौरे से अपने हाथ पीछे खींचते हुए कहा था, “मेरा परिवार पाकिस्तान में सुरक्षा के माहौल से डरा हुआ है।”

आतंकियों को पनाह देने वाले देश के रूप में कुख्यात हो चुके पड़ोसी देश पाकिस्तान में जाने से पहले किसी भी व्यक्ति को एक नहीं बल्कि हज़ार बार सोचना पड़ता है। अब इस कड़ी में उन हस्तियों का भी नाम जुड़ चुका है, जिनको सुरक्षा के नाम पर बहुत सी सुविधाएँ दी जाती हैं और पहले से ही सुरक्षा की गारंटी दी जाती है। लेकिन इस सबके बाद भी बांग्लादेश की पूरी क्रिकेट टीम पाकिस्तान दौरे के लिए सहमत नहीं है। अब ख़बर आ रही है कि बांग्लादेश के 5 कोचिंग स्टाफ ने पाकिस्तान दौरे से अपना नाम वापस ले लिया है।

दरअसल बोर्ड द्वारा सीरीज खेले जाने की हामी भरने के बाद से ही बांग्लादेश क्रिकेट टीम आपस में बँटती हुई नज़र आ रही है, जिससे बांग्लादेश का पाकिस्तान दौरा खटाई में पड़ता हुआ दिखाई दे रहा है।

इससे पहले बांग्लादेश के विकेटकीपर बल्लेबाज पूर्व कप्तान मुशफिकुर रहीम अपने पाकिस्तान दौरे पर जाने से मना कर चुके हैं। उन्होंने दौरे से अपना नाम वापस लेते हुए कहा था, “मेरा परिवार पाकिस्तान की सुरक्षा के माहौल से डरा हुआ है। इस हालात में मैं पाकिस्तान नहीं जा सकता और वहाँ जाकर खेल नहीं सकता। बांग्लादेश क्रिकेट टीम से एक सीरीज के दौरान बाहर बैठना मेरे लिए हमेशा ही बहुत कठिन रहा है।”

आपको बता दें कि बांग्लादेश टीम को 24 जनवरी से पाकिस्तान दौरे पर तीन टी-20 मैच और दो टेस्ट मैचों की सीरीज खेलनी है। वहीं दोनों देशों के बोर्ड के बीच हुई बातचीत के बाद तैयार हुए नए कार्यक्रम के मुताबिक दोनों टेस्ट मैचों के बीच एक वनडे मैच खेला जाएगा। इससे पहले बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड (बीसीबी) के अध्यक्ष नजमुल हसन ने कहा था कि सरकार ने बोर्ड को बहुत संक्षिप्त समय के लिए टीम भेजने की अनुमति दी है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

चौटाला से मिल नीतीश पहुँचे पटना, कुशवाहा ने बता दिया ‘पीएम मैटेरियल’, बीजेपी बोली- अगले 10 साल तक वैकेंसी नहीं

कुशवाहा के बयान पर पलटवार करते हुए भाजपा नेता सम्राट चौधरी ने कहा कि अगले दस साल तक प्रधानमंत्री पद के लिए कोई वैकेंसी नहीं हैं

वीर सावरकर के नाम पर फिर बिलबिलाए कॉन्ग्रेसी; कभी इसी कारण से पं हृदयनाथ को करवाया था AIR से बाहर

पंडित हृदयनाथ अपनी बहनों के संग, वीर सावरकर द्वारा लिखित कविता को संगीतबद्ध कर रहे थे, लेकिन कॉन्ग्रेस पार्टी को ये अच्छा नहीं लगा और उन्हें AIR से निकलवा दिया गया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,635FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe