Friday, June 21, 2024
Homeविविध विषयअन्यसिंधु-मनप्रीत से शुरुआत, निखत-अचंता से समापन: 61 मेडल के साथ भारत ने खत्म किया...

सिंधु-मनप्रीत से शुरुआत, निखत-अचंता से समापन: 61 मेडल के साथ भारत ने खत्म किया कॉमनवेल्थ 2022 का सफर, इनमें 22 स्वर्ण पदक

ओलंपिक में दो बार की पदक विजेता पीवी सिंधू और पुरुष हॉकी टीम के कप्तान मनप्रीत सिंह कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 के उद्घाटन समारोह में भारत के ध्वजवाहक थे।

कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 का आज 11वाँ और अंतिम दिन है। खेल खत्म होने के तुरंत बाद समापन समारोह होगा। स्टार टेबल टेनिस खिलाड़ी अचंता शरत कमल (Achanta Sharath Kamal) और विश्व चैंपियन मुक्केबाज निखत जरीन (Nikhat Zareen) राष्ट्रमंडल खेलों के समापन समारोह में भारत के ध्वजवाहक होंगे।

भारत के दिग्गज खिलाड़ी अचंता शरत कमल ने टेबल टेनिस के पुरुष एकल फाइनल में आज गोल्ड मेडल हासिल किया है। फाइनल मुकाबले में अचंता ने इंग्लैंड के लियाम पिचफोर्ड को मात दी। इससे पहले शरत ने युवा खिलाड़ी श्रीजा अकुला के साथ मिलकर मिक्स्ड डबल्स का फाइनल जीतकर गोल्ड मेडल अपने नाम किया। वहीं जरीन ने महिलाओं के 50 किग्रा भार वर्ग में गोल्ड मेडल जीता है। पहली बार कॉमनवेल्थ गेम्स में हिस्सा ले रही निखत ने रविवार (7 अगस्त 2022) को नॉर्दर्न आयरलैंड की कार्ली एमसी नाउल को 5-0 से गोल्ड पर कब्जा किया था।

इन गेम्स में भारत ने अब तक 61 मेडल अपने नाम कर लिए हैं। इनमें 22 गोल्ड, 16 सिल्वर और 23 ब्रॉन्ज मेडल शामिल हैं। वहीं पीवी सिंधु के गोल्ड जीतने के साथ भारत पदक तालिका में न्यूजीलैंड को पछाड़ते हुए चौथे स्थान पर पहुँच गया है।

40 वर्षीय की उम्र में अचंता शरत ने अपना 7वाँ राष्ट्रमंडल गोल्ड मेडल जीता। मेलबर्न में जीतने के 16 साल बाद, उन्होंने बर्मिंघम में चल रहे कॉमनवेल्थ गेम्स में इंग्लैंड के लियाम पिचफोर्ड को हराकर गोल्ड मेडल अपने नाम किया। उन्होंने (अचंता शरत) 2006 कॉमनवेल्थ गेम्स में 2 पदक, 2010 में 7 पदक, 2014 में 2 पदक, 2018 में 6 पदक और 2022 में 5 पदक अपने नाम किए हैं।

बता दें कि ओलंपिक में दो बार की पदक विजेता पीवी सिंधू और पुरुष हॉकी टीम के कप्तान मनप्रीत सिंह कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 के उद्घाटन समारोह में भारत के ध्वजवाहक थे। इसकी क्लोजिंग सेरेमनी आप टीवी पर सोनी सिक्स, सोनी टेन 2, सोनी टेन 3 और सोनी टेन 4 पर देख सकते हैं। इसके साथ ही इसकी लाइव स्ट्रीमिंग सोनी लाइव ऐप पर होगी। क्लोजिंग सेरेमनी की शुरुआत बर्मिंघम के एलेक्जेंडर स्टेडियम में भारतीय समयानुसार रात 12.30 बजे से होगी।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बिहार का 65% आरक्षण खारिज लेकिन तमिलनाडु में 69% जारी: इस दक्षिणी राज्य में क्यों नहीं लागू होता सुप्रीम कोर्ट का 50% वाला फैसला

जहाँ बिहार के 65% आरक्षण को कोर्ट ने समाप्त कर दिया है, वहीं तमिलनाडु में पिछले तीन दशकों से लगातार 69% आरक्षण दिया जा रहा है।

हज के लिए सऊदी अरब गए 90+ भारतीयों की मौत, अब तक 1000+ लोगों की भीषण गर्मी ले चुकी है जान: मिस्र के सबसे...

मृतकों में ऐसे लोगों की संख्या अधिक है, जिन्होंने रजिस्ट्रेशन नहीं कराया था। इस साल मृतकों की संख्या बढ़कर 1081 तक पहुँच चुकी है, जो अभी बढ़ सकती है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -