Wednesday, June 19, 2024
Homeविविध विषयअन्य'पिता ही नहीं बन सकता, प्रेगनेंट कैसे करूँगा': महिला पत्रकार ने लगाया रेप का...

‘पिता ही नहीं बन सकता, प्रेगनेंट कैसे करूँगा’: महिला पत्रकार ने लगाया रेप का आरोप तो कोर्ट में बोले अभिनेता दर्शन जरीवाला

जरीवाला ने उस महिला के खिलाफ मानहानि का मुकदमा दायर करवाया है। उनकी वकील सवीना बेदी ने दावा किया कि वो बच्चा दर्शन जरीवाला का हो ही नहीं सकता क्योंकि उन्हें मेडिकल समस्या है जिसके कारण वह पिता नहीं बन सकते।

बॉलीवुड अभिनेता दर्शन जरीवाला पर एक महिला पत्रकार ने कुछ माह पहले का आरोप लगाते हुए था कि उन्होंने उसको प्रेगनेंट करके छोड़ दिया। ये आरोप महिला ने दिसंबर 2023 में लगाया था जिसके बाद अभिनेता का काफी विरोध हुआ और अब खबर है कि उन्होंने सिने एंड टीवी आर्टिस्ट एसोसिएशन की कार्यकारी समिति के सदस्य पद से अपना इस्तीफा दे दिया है। साथ ही उस महिला के खिलाफ मानहानि का मुकदमा दायर करवाया है।

इस बीच उनकी वकील सवीना बेदी ने दावा किया कि महिला का बच्चा दर्शन जरीवाला का हो ही नहीं सकता क्योंकि उन्हें तो मेडिकल समस्या है जिसके कारण वह पिता नहीं बन सकते। वहीं दर्शन जरीवाला ने भी इस मामले में किसी भी तरह की संलिप्ता से इनकार किया है। उन्होंने कहा है कि वो इस केस में अपने आप को निर्दोष साबित करने के लिए कोर्ट तक जाएँगे। उनकी वकील ने इस मामले में पत्रकार पर झूठा इल्जाम लगाने और मानहानि करने के आरोप में केस दर्ज करवाने की प्रक्रिया शुरू कर दी है।

वकील ने जानकारी दी कि वो पत्रकार जब भी अपने पोस्ट डालती है तो बहुत ही अपमानजनक शब्दों का इस्तेमाल करती है। इसके अलावा वो व्हॉट्सएप मैसेज को फेसबुक पर और अपने दोस्तों के साथ-साथ CINTAA सदस्यों को फैला रही है जो कि गलत है। इन मैसेजों में अभिनेता को CINTAA के सहयोगियों के साथ कुछ अभिनेताओं पर भी टिप्पणी करते दिखाया गया है।

हालाँकि जरीवाला का कहना है कि जो मैसेज महिला पत्रकार फैला रही है वो ओरिजनल मैसेज नहीं हैं। उनके अनुसार, उन्होंने कभी ऐसी बात ही नहीं, वो मैसेज नकली हैं। फिर भी वो उन्हें पोस्ट कर रही है। जरीवाला ने कहा कि यही सारी बातें पत्रकार के खिलाफ मानहानि का केस करने का मूल आधार है। केस दायर हो चुका है।

दर्शन की वकील सवीना ने यह भी बताया कि पत्रकार अपने गर्भवती होने का जो दावा कर रही है, उससे दर्शन का कनेक्शन नहीं है। उन्होंने बताया,

“दर्शन का कहना है कि उन्हें स्वास्थ्य समस्या है, इसलिए वह पिता नहीं बन सकते। उनके अपने पार्टनर को भी यह बात माननी मुश्किल हो रही है। उनकी पार्टनर गर्भधारण करना चाहती हैं लेकिन दर्शन की मेडिकल प्रॉब्लम के कारण ऐसा नहीं हो पा रहा। ये महिला कहती है कि वो अचानक प्रेगनेंट हो गई। आज तक मैंने इसकी कोई रिपोर्ट नहीं देखी सिर्फ कुछ सोनोग्राफी के अलावा। ये मानहानि का मामला निकलकर आएगा। गर्भधारण के हफ्ते और स्कैन तस्वीरें भी मैच नहीं होतीं। मेडिकल रूप में देखें तो सोनोग्राफी फेक है। ये वैसी नहीं है जैसी आनी चाहिए। रिपोर्ट डबल स्क्रीन पर होनी चाहिए, लेकिन उसने इसे सिंगल पर रखा। खैर यही कहना है कि मेडिकल कारणों से वो पिता नहीं बन सकते और बच्चा उनका भी नहीं है।”

टाइम्स नाऊ की रिपोर्ट के अनुसार इस मामले में विवाद बढ़ने के बाद जब CINTAA के महासचिव अमित बहल से बात की गई तो उन्होंने बताया कि वो महिला लगातार कुछ न कुछ दिखाकर CINTAA की छवि खराब कर रही थी। उन्होंने कहा, “हमें हमारी महिला सदस्यों के जरिए कॉल आ रहा था। दर्शन को हटाने की बातें हो रही थीं। लेकिन दर्शन का कहना था कि वो एक बार निर्दोष साबित हो गए तो खुद पद छोड़ देंगे… वो अब भी ट्रस्टी हैं। अगर महिला अब भी CINTAA का नाम उछालती रही तो उसके खिलाफ कार्रवाई होगी।”

बता दें कि दो माह पूर्व एक महिला पत्रकार ने दावा किया था कि उसने दर्शन जरीवाला के साथ ‘गंधर्व विवाह’ किया और बाद में प्रेगनेंट हुई। इसके बाद कुछ पोस्ट भी सामने आए जिसके जरिए महिला बताती रही कि उसके जरीवाला के साथ संबंध हैं। उसने आरोप लगाया कि जरीवाला को जब उसके गर्भवती होने का पता चला तो वो उसे अकेले छोड़ गया।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

14 फसलों पर MSP की बढ़ोतरी, पवन ऊर्जा परियोजना, वाराणसी एयरपोर्ट का विस्तार, पालघर का पोर्ट होगा दुनिया के टॉप 10 में: मोदी कैबिनेट...

पालघर के वधावन पोर्ट की क्षमता अब 298 मिलियन टन यूनिट की जाएगी। इससे भारत-मिडिल ईस्ट कॉरिडोर भी मजबूत होगा। 9 कंटेनर टर्मिनल होंगे।

किताब से बहती नदी, शरीर से उड़ते फूल और खून बना दूध… नालंदा की तबाही का दोष हिन्दुओं को देने वाले वामपंथी इतिहासकारों का...

बख्तियार खिजली को क्लीन-चिट देने के लिए और बौद्धों को सनातन से अलग दिखाने के लिए वामपंथी इतिहासकारों ने नालंदा विश्वविद्यालय को तबाह किए जाने का दोष हिन्दुओं पर ही मढ़ दिया। इसके लिए उन्होंने तिब्बत की एक किताब का सहारा लिया, जो इस घटना के 500 साल बाद लिखी गई थी और जिसमें चमत्कार भरे पड़े थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -