Saturday, June 22, 2024
Homeविविध विषयअन्य'अब करेंगे नए चैप्टर की शुरुआत': हरभजन सिंह का क्रिकेट से संन्यास, राजनीति में...

‘अब करेंगे नए चैप्टर की शुरुआत’: हरभजन सिंह का क्रिकेट से संन्यास, राजनीति में आने की अटकलें; 2016 में खेला था लास्ट इंटरनेशनल मैच

हरभजन सिंह ने अपनी वीडियो के अंत में कहा, "अब नई चुनौतियों के साथ एक दूसरा चैप्टर मेरी जिंदगी में शुरू हो रहा है। यकीन मानिए आपका टर्बनेटर इम्तिहान के लिए तैयार है। बस प्यार बनाए रखना।"

भारतीय क्रिकेट टीम में ऑफ स्पिनर के तौर पर दो दशकों से ज्यादा तक अपनी जगह बनाए रखने वाले हरभजन सिंह ने अब क्रिकेट के सभी फॉर्मेट से संन्यास ले लिया है। हरभजन सिंह ने शुक्रवार (24 दिसंबर) को ट्वीट कर इसकी जानकारी दी। वह टेस्ट मैचों में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाजों की लिस्ट में चौथे पायदान पर आते हैं। उन्होंने अपना पहला टेस्ट मैच 1998 में खेला था और आखिरी इंटरनेशनल मैच 2016 में खेला था।

अपने ट्वीट में उन्होंने लिखा, “हर अच्छी चीज खत्म हो जाती हैं और आज मैं उस खेल को अलविदा कहता हूँ, जिसने मुझे जीवन में सब कुछ दिया, मैं उन सभी को धन्यवाद देना चाहता हूंँ, जिन्होंने इस 23 साल की लंबी यात्रा को सुंदर और यादगार बनाया। आप सबका तहे दिल से शुक्रिया, आभार।”

ट्वीट के अलावा हरभजन सिंह ने अपनी एक यूट्यूब वीडियो भी जारी की है। अपनी वीडियो में उन्होंने क्रिकेट के सफर को सबसे खूबसूरत और रिटायरमेंट को उन्होंने सबसे कठिन फैसला बताया। उन्होंने कहा कि वो रिटायरमेंट का बहुत समय से ऐलान करना चाहते थे मगर ऐसा हो नहीं पा रहा था। उन्होंने कहा कि आईपीएल के दौरान उन्होंने मन बनाया था कि वो क्रिकेट को अलविदा कह देंगे।

अपनी सफलता का श्रेय उन्होंने अपने गुरु हरचरण सिंह को दिया, जिन्होंने हरभजन की जिंदगी को एक दिशा दी। फिर उन्होंने अपने माता-पिचा के संघर्ष को याद कर कहा कि अगर वो दोबारा जन्म पाते हैं तो दोबारा वो इसी घर में लौटना चाहेंगे। अपनी खुशियों के पीछे अपनी बहनों की प्रार्थनाओं को वजह बताया। साथ ही अपनी पत्नी गीता और बेटियों से प्रेम जाहिर करते हुए कहा कि वो अब अपने परिवार को समय देंगे और कोई शिकायत का मौका नहीं देंगे।

हरभजन ने अपने क्रिकेट करियर के दौरान स्पेशल पलों को याद कर कहा कि उन्हें सबसे ज्यादा खुशी ही तब मिली थी जब उन्होंने कलकत्ता में हैटट्रिक ली थी। इसके अलावा उस सीरीज में उन्होंने 3 मैच में जो 32 विकेट लिए, वो आज तक रिकॉर्ड कायम है। उन्होंने कहा कि उन्हें 2007 का टी-20 वर्ल्ड कप और 2011 का वर्ल्ड कप सबसे ज्यादा अहम था। ये वो क्षण थे जिन्हें वो भुला नहीं पाएँगे कि उन्हें इससे कितनी खुशी मिली है।

अपनी वीडियो के अंत में उन्होंने दूसरी पारी के संकेत भी दिए हैं। वह बोले, “अब नई चुनौतियों के साथ एक दूसरा चैप्टर मेरी जिंदगी में शुरू हो रहा है। यकीन मानिए आपका टर्बनेटर इम्तिहान के लिए तैयार है। बस प्यार बनाए रखना। बहुत शुक्रिया जय हिंद जय भारत।” इस वीडियो को देख लोग उनके राजनीति में आने के कयास लगा रहे हैं।

बता दें कि 41 वर्षीय हरभजन सिंह ने 1998 से करियर शुरूआत की थी। इसके बाद उन्होंने अपनी गेंदबाजी से दुनिया भर में काफी नाम कमाया। कुल 103 टेस्ट मैच खेल चुके हरभजन सिंह के नाम 417 विकेट लेने का रिकॉर्ड दर्ज है। 236 एक दिवसीय क्रिकेट में उन्होंने 269 विकेट लिए हैं। टी-20 में भी उन्होंने भारत के लिए 28 मुकाबले खेले हैं। वहीं आईपीएल में वह मुंबई इंडियन्स, चेन्नई सुपर किंग्स, कोलकाता नाइट राइडर्स की ओर से खेलते देखे गए। 163 आईपीएल मैचों में उनके नाम पर 150 विकेट दर्ज हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘हे माँ, हमें माफ़ कर दो, गलती हो गई कि यहाँ चोरी की’: गिरफ्तार होते ही चोरों के गिरोह का हुआ हृदय-परिवर्तन, मंदिर में...

ये सब झालावाड़ जिला के रहने वाले हैं। चोरों ने मंदिर में माता की प्रतिमा के सामने हाथ जोड़ कर कहा, "हे माँ, हमें माफ़ कर दो। हमसे गलती हो गई कि हमने यहाँ चोरी की।"

केंद्र सरकार की नौकरी के मजे? अब 15 मिनट से ज्यादा की देरी पर आधे दिन की छुट्टी: ऑफिस टाइमिंग को लेकर कड़ा फैसला

भारत सरकार के कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग (DoPT) ने आदेश जारी किया है कि जिन दफ्तरों के खुलने का समय 9 बजे है, वहाँ अधिकतम 15 मिनट का ही ग्रेस पीरियड मिलेगा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -