Sunday, June 16, 2024
Homeविविध विषयअन्यपैसे की 'भीख' माँग रहा पाकिस्तान का क्रिकेट बोर्ड: कहा- भारत चैंपियस ट्रॉफी में...

पैसे की ‘भीख’ माँग रहा पाकिस्तान का क्रिकेट बोर्ड: कहा- भारत चैंपियस ट्रॉफी में न आया तो होगा बड़ा नुकसान, मुआवजे का वादा करे ICC

पीसीबी की माँग है कि यदि भारत सुरक्षा कारणों का हवाला देते हुए पकिस्तान में चैम्पियंस ट्रॉफी खेलने से मना करता है तो ICC को एक स्वतंत्र जाँच कमिटी का गठन करना होगा। यह कमिटी इस बात की जाँच रिपोर्ट देगी की सुरक्षा व्यवस्था कैसी है।

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) वर्ष 2025 में पाकिस्तान में आयोजित होने वाले चैम्पियंस ट्रॉफी को लेकर परेशानी में है। उसका कहना है कि भारत अगर इस टूर्नामेंट के लिए पाकिस्तान नहीं आता है तो उसका नुकसान हो जाएगा। उसने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट काउंसिल से इस संबंध में समझौते की माँग की है।

वर्ष 2025 में चैम्पियंस ट्रॉफी का आयोजन पाकिस्तान में होना है। लेकिन भारतीय टीम के पाकिस्तान जाने की संभावनाएँ बनती नहीं दिख रही इसलिए पीसीबी घबराया हुआ है। इससे पहले इसी वर्ष पाकिस्तान में आयोजित एशिया कप में भी खेलने के लिए पाकिस्तान नहीं गया था। इस कारण से इसका आयोजन हाइब्रिड मोड में श्रीलंका में हुआ था।

पीसीबी ने ICC से माँग की है कि यदि भारत 2025 चैम्पियंस ट्रॉफी को पाकिस्तान में खेलने से राजनीतिक या सुरक्षा कारणों के आधार पर खेलने से मना करता है तो इसके एवज में पीसीबी को मुआवजा दिया जाए। इसके लिए पीसीबी के कुछ अधिकारी ICC से मिले भी हैं।

जानकारी के अनुसार, जहाँ यह तय हो गया है कि 2025 की चैम्पियंस ट्रॉफी की मेजबानी पाकिस्तान ही करेगा, वहीं अभी इसके लिए ICC और पीसीबी के बीच समझौते पर हस्ताक्षर नहीं हुए हैं। इसके लिए पीसीबी के चेयरमैन ज़का अशरफ और सीओओ सलमान नसीर ने वर्ल्डकप के दौरान ICC के अधिकारियों से अहमदबाद में मुलाक़ात भी की थी।

भारत 2008 के 26/11 मुंबई हमले के बाद से एक भी बार पाकिस्तान क्रिकेट खेलने के लिए नहीं गया है। इसके लिए वह सुरक्षा और राजनीतिक कारणों का हवाला देता रहा है। भारत में क्रिकेट फैन्स की भावनाएँ भी पाकिस्तान में जा कर खेलने के खिलाफ हैं।

पीसीबी की माँग है कि यदि भारत सुरक्षा कारणों का हवाला देते हुए पकिस्तान में चैम्पियंस ट्रॉफी खेलने से मना करता है तो ICC को एक स्वतंत्र जाँच कमिटी का गठन करना होगा। यह कमिटी इस बात की जाँच रिपोर्ट देगी की सुरक्षा व्यवस्था कैसी है।

पीसीबी का कहना है कि बीते दो वर्षों में भारत के अलावा कई टीमों ने पाकिस्तान का दौरा किया है। इन टीमों ने सुरक्षा कारणों का हवाला नहीं दिया है। ऐसे में भारत यदि खेलने नहीं आता है तो पीसीबी को इसका मुआवजा मिलना चाहिए।

इस बात के कयास लगाए जा रहे हैं कि भारत 2025 चैम्पियंस ट्रॉफी के लिए किसी न्यूट्रल वेन्यू पर जोर देगा। कहा गया है कि ऐसी स्थिति में संयुक्त अरब अमीरात (UAE) एक विकल्प हो सकता है। यहाँ भारत और पाकिस्तान दोनों ने पूर्व में मैच खेले हैं और इस देश से दोनों के सम्बन्ध भी अच्छे हैं।

हालाँकि, पीसीबी की तरफ से यह कोई नहीं माँग नहीं है। हाल ही में सम्पन्न हुए वर्ल्डकप 2023 से पहले भी पाकिस्तान ने ऐसी ही शर्त रखी थी। तब पीसीबी के चेयरमैन रहे नज़म सेठी ने कहा था कि पाकिस्तान भारत में वर्ल्डकप खेलने तभी आएगा जब भारत चैम्पियंस ट्रॉफी के लिए पाकिस्तान आने का वादा करे।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

J&K में योग दिवस मनाएँगे PM मोदी, अमरनाथ यात्रा भी होगी शुरू… उच्च-स्तरीय बैठक में अमित शाह का निर्देश – पूरी क्षमता लगाएँ, आतंकियों...

2023 में 4.28 लाख से भी अधिक श्रद्धालुओं ने बाबा अमरनाथ का दर्शन किया था। इस बार ये आँकड़ा 5 लाख होने की उम्मीद है। स्पेशल कार्ड और बीमा कवर दिया जाएगा।

परचून की दुकान से लेकर कई हजार करोड़ के कारोबार तक, 38 मुकदमों वाले हाजी इक़बाल ने सपा-बसपा सरकार में ऐसी जुटाई अकूत संपत्ति:...

सहारनपुर में मिर्जापुर का रहने वाला मोहम्मद इकबाल परचून की दुकान से काम शुरू कर आगे बढ़ता गया। कभी शहद बेचा, तो फिर राजनीति में आया और खनन माफिया भी बना।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -