Tuesday, July 27, 2021
Homeविविध विषयअन्यभारतीय क्रिकेटर मोहम्मद शमी की पत्नी हसीन जहाँ गिरफ्तार, शांति भंग करने का आरोप

भारतीय क्रिकेटर मोहम्मद शमी की पत्नी हसीन जहाँ गिरफ्तार, शांति भंग करने का आरोप

पुलिस ने हसीन जहाँ को शांति भंग होने की आशंका में गिरफ्तार कर लिया है। फिलहाल पुलिस ने उनको जिला अस्पताल के प्राइवेट वार्ड में रखा है।

भारतीय क्रिकेट टीम के तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी और उनकी पत्नी हसीन जहाँ का विवाद एक बार फिर से सुर्खियों में आ गया है। दरअसल, हसीन जहाँ अपनी बेटी के साथ रविवार (अप्रैल 28, 2019) की रात अचानक अपने ससुराल यानी डिडौली थाना इलाके के सहसपुर अलीनगर गाँव पहुँच गई। हसीन के घर में दाखिल होते ही घर पर मौजूद शमी के भाई और माँ से हसीन की नोंक-झोंक हो गई। शमी की माँ ने इसकी शिकायत पुलिस से कर दी। उन्होंने हसीन पर आरोप लगाते हुए कहा कि हसीन जबरदस्ती घर में घुस गई और उन्हें बाहर निकाल दिया गया। जिसके बाद पुलिस ने हसीन जहाँ को शांति भंग होने की आशंका में गिरफ्तार कर लिया और अभी पुलिस ने हसीन जहाँ को जिला अस्पताल के प्राइवेट वार्ड में रखा है।

पुलिस द्वारा की गई गिरफ्तारी के बाद हसीन जहाँ ने यूपी पुलिस पर आरोप लगाते हुए कहा कि मोहम्मद शमी की ऊँची पहुँच और पैसे के कारण उनको यूपी पुलिस द्वारा परेशान किया जा रहा है। उन्हें बिना किसी अपराध के रात के 12 बजे बिस्तर से खींच कर धक्के मार कर लाया गया है और कुछ खाने-पीने को भी नहीं दिया गया है। हसीन जहाँ का कहना है कि वो अपने हक के लिए लड़ रही हैं, उन्हें प्रताड़ित किया जा रहा है। हसीन ने कहा कि शमी का घर उनका ससुराल है और वो जब चाहे वहाँ आ सकती हैं, इससे उन्हें कोई रोक नहीं सकता। इसके साथ ही उन्होंने पीएम मोदी और सीएम योगी से मदद की गुहार भी लगाई है। बता दें कि, हसीन जहाँ ने शमी समेत उनके परिवार के चार सदस्यों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है। ये मामला फिलहाल कोर्ट में है।

गौरतलब है कि भारतीय क्रिकेटर मोहम्मद शमी पर उनकी पत्नी हसीन जहाँ ने पिछले साल कई गंभीर आरोप लगाए थे। इनमें गैर-महिलाओं के साथ संबंध और भारतीय टीम के लिए खेलते हुए मैच फिक्सिंग जैसे आरोप शामिल थे। ये विवाद सार्वजनिक हो गया था। इसके बाद बीसीसीआई ने अपने सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट से शमी का नाम हटा दिया था, मगर बीसीसीआई की एंटी करप्शन यूनिट ने जाँच के बाद मोहम्मद शमी को क्लीनचिट दे दी

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

विधानसभा से मंत्री का ही वॉकआउट: छत्तीसगढ़ कॉन्ग्रेस की लड़ाई में नया मोड़, MLA ने कहा था- मेरी हत्या करा बनना चाहते हैं CM

अपनी ही सरकार के रवैये से आहत होकर छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य मंत्री TS सिंह देव सदन से वॉकआउट कर गए। उन पर आदिवासी विधायक ने हत्या के प्रयास का आरोप लगाया था।

2020 में नक्सली हमलों की 665 घटनाएँ, 183 को उतार दिया मौत के घाट: वामपंथी आतंकवाद पर केंद्र ने जारी किए आँकड़े

केंद्र सरकार ने 2020 में हुई नक्सली घटनाओं को लेकर आँकड़े जारी किए हैं। 2020 में वामपंथी आतंकवाद की 665 घटनाएँ सामने आईं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,426FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe