ISSF Shooting : सौरभ ने तोड़ा विश्व रिकॉर्ड, गोल्ड मेडल जीतकर रचा इतिहास

सर्बियाई निशानेबाज़ के साथ बराबरी पर रहे सौरभ ने काफी अच्छी शुरुआत की थी। दूसरी सीरीज़ में सौरभ ने अपनी क्षमता को बरक़रार रखा और इस तरह वो पहला स्थान प्राप्त करने में वो सफल रहे।

इतिहास रचने की कोई उम्र नहीं होती, अगर मेहनत हो और कुछ कर दिखाने का जज़्बा हो तो वो कभी रचा जा सकता है। ऐसा ही कारनामा 16 वर्षीय सौरभ चौधरी ने कर दिखाया। सौरभ ने रविवार को अंतरराष्ट्रीय निशानेबाज़ी खेल महासंघ (ISSF) विश्वकप में न सिर्फ़ विश्व रिकॉर्ड तोड़ा बल्कि गोल्ड मेडल अपने नाम करके देश के लिए टोक्यो ओलंपिक का तीसरा कोटा भी सुनिश्चित किया।

बता दें कि सौरभ ने ISSF सत्र की शुरुआती प्रतियोगिता की 10 मीटर एयर पिस्टल स्पर्धा में शीर्ष स्थान प्राप्त करते हुए 245 अंक हासिल किए। दूसरे स्थान पर सर्बिया के दामी मिकेच रहे जिन्होंने 239.3 प्राप्त किए। और अगर बात करें कांस्य पदक की तो वो 215.2 अंकों के साथ चीन के वेई पांग के हिस्से गया।

सौरभ ने अपनी पारी में आठ पुरुषों के फाइनल में अपनी पकड़ मज़बूत रखी और रजत पदकधारी से 5.7 अंक की बढ़त बनाए रखी। इस प्रकार सौरभ अंतिम शॉट से पहले ही गोल्ड मेडल अपने नाम करने में क़ामयाब रहे।

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

सर्बियाई निशानेबाज़ के साथ बराबरी पर रहे सौरभ ने काफी अच्छी शुरुआत की थी। दूसरी सीरीज़ में सौरभ ने अपनी क्षमता को बरक़रार रखा और इस तरह वो पहला स्थान प्राप्त करने में वो आगे रहे।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

"ज्ञानवापी मस्जिद पहले भगवान शिव का मंदिर था जिसे मुगल आक्रमणकारियों ने ध्वस्त कर मस्जिद बना दिया था, इसलिए हम हिंदुओं को उनके धार्मिक आस्था एवं राग भोग, पूजा-पाठ, दर्शन, परिक्रमा, इतिहास, अधिकारों को संरक्षित करने हेतु अनुमति दी जाए।"

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

154,743फैंसलाइक करें
42,954फॉलोवर्सफॉलो करें
179,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: