Wednesday, June 26, 2024
Homeविविध विषयअन्यईडन गार्डेंस में चल रहा था पाकिस्तान-बांग्लादेश का मैच, स्टेडियम के बाहर 4 लोग...

ईडन गार्डेंस में चल रहा था पाकिस्तान-बांग्लादेश का मैच, स्टेडियम के बाहर 4 लोग फहरा रहे थे फिलिस्तीनी झंडा: कोलकाता पुलिस ने हिरासत में लिया

फिलिस्तीनी झंडा लहराने वाले चारो लोग आस-पास ही रहते हैं। हालाँकि पुलिस इस मामले की जाँच कर रही है कि इसका कहीं कोई बाहरी कनेक्शन तो नहीं।

कोलकाता के ईडन गार्डेंन्स क्रिकेट मैदान पर पाकिस्तान-बांग्लादेश के बीच मैच खेला गया। इस दौरान फिलिस्तीनी झंडा लहराने वाले 4 लोगों को पुलिस ने हिरासत में ले लिया। ये मामला मंगलवार (31 अक्टूबर, 2023) का है। हिरासत में लिए गए लोगों में से दो झारखंड के रहने वाले हैं, तो दो लोग कोलकाता के अलग-अलग इलाकों के रहने वाले हैं। शुरुआती पूछताछ में पता चला है कि ये लोग इजरायल-हमास युद्ध पर लोगों का ध्यान खींचना चाहते थे।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, क्रिकेट विश्वकप में पाकिस्तान-बांग्लादेश के मुकाबले के दौरान इन लोगों ने फिलिस्तीनी झंडे को लहराया। इसमें से 2 लोगों को गेट नंबर 6 के पास से पकड़ा गया, तो दो लोगों को ब्लॉक जी-1 के पास पकड़ा गया। एक आईपीएस अधिकारी ने पीटीआई से बातचीत में कहा कि हमनें 4 लोगों को 2-2 के ग्रुप में हिरासत में लिया है। ये लोग फिलिस्तीनी झंडा लहरा रहे थे। हालाँकि, नारेबाजी से उन्होंने इनकार कर दिया है।

हिरासत में लिए गए चारों लोगों को मैदान पुलिस थाना ले जाया गया, जहाँ से उन्हें जाने दिया गया। इन लोगों से पूछताछ में पता चला है कि वो फिलिस्तीन समस्या पर लोगों का ध्यान आकर्षित करना चाहते थे।

चूँकि पाकिस्तान-बांग्लादेश का मैच देखने के लिए स्थानीय स्तर पर लोगों की भीड़ आने वाली थी, इसलिए उन्होंने मैच के दौरान प्रदर्शन का फैसला लिया था। हिरासत में लिए गए लोग आस-पास ही रहते हैं। हालाँकि पुलिस जाँच कर रही है कि इस मामले का कहीं कोई बाहरी कनेक्शन तो नहीं।

बता दें कि पाकिस्तानी क्रिकेट टीम की ओर से हैदराबाद में शतक जमाने वाले मोहम्मद रिजवान ने अपना शतक गाजा के लोगों को समर्पित किया था, इसके बाद अफगानिस्तानी खिलाड़ी ने अपना मैन ऑफ द मैच का अवॉर्ड उन अफगानियों के नाम समर्पित किया था, जिन्हें पाकिस्तान जबरन अपने देश से निकाल रहा है।

इस घटना के बाद टीमों की तरफ से तो कोई विवाद सामने नहीं आया, लेकिन दर्शकों का इस तरह का व्यवहार परेशान करने वाला है। हालाँकि क्रिकेट मैचों के दौरान राजनीतिक बयानबाजी और प्रदर्शनों पर रोक है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बड़ी संख्या में OBC ने दलितों से किया भेदभाव’: जिस वकील के दिमाग की उपज है राहुल गाँधी वाला ‘छोटा संविधान’, वो SC-ST आरक्षण...

अधिवक्ता गोपाल शंकरनारायणन SC-ST आरक्षण में क्रीमीलेयर लाने के पक्ष में हैं, क्योंकि उनका मानना है कि इस वर्ग का छोटा का अभिजात्य समूह जो वास्तव में पिछड़े व वंचित हैं उन तक लाभ नहीं पहुँचने दे रहा है।

क्या है भारत और बांग्लादेश के बीच का तीस्ता समझौता, क्यों अनदेखी का आरोप लगा रहीं ममता बनर्जी: जानिए केंद्र ने पश्चिम बंगाल की...

इससे पहले यूपीए सरकार के दौरान भारत और बांग्लादेश के बीच तीस्ता के पानी को लेकर लगभग सहमति बन गई थी। इसके अंतर्गत बांग्लादेश को तीस्ता का 37.5% पानी और भारत को 42.5% पानी दिसम्बर से मार्च के बीच मिलना था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -