Wednesday, June 19, 2024
Homeविविध विषयअन्यमुस्लिम शौहर इस्लाम कबूलने का डालता था दबाव, रूसी महिला ने भारत आ कृष्ण...

मुस्लिम शौहर इस्लाम कबूलने का डालता था दबाव, रूसी महिला ने भारत आ कृष्ण भक्ति में खोजी मुक्ति; अब हिंदू के साथ करेंगी शादी

"मैं वास्तविक खुशी की तलाश में थी। मुझे लगा था जब बच्चा होगा तो मुझे खुशी मिलेगी, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। दूसरी ओर मेरा पति एक कट्टर मुस्लिम था। वह मुझ पर इस्लाम अपनाने का दबाव डालता था। मैं काफी डिप्रेशन में चली गई थी...मैं भगवान कृष्ण का शुक्रिया अदा करना चाहूँगी कि उन्होंने मुझे बचा लिया।"

सोशल मीडिया पर रूस की एक कृष्ण भक्त महिला चर्चा में है। इनका नाम स्वेतलाना ओचिलोवा (Svetlana Ochilova)। स्वेतलाना का पहला पति मुस्लिम था। वह उन पर इस्लाम कबूलने का दबाव डालता था। स्वेतलाना ने कृष्ण भक्ति के जरिए पहले इस रिश्ते से मुक्ति का रास्ता खोजा। अब वे एक हिंदू से शादी करने जा रही हैं।

पेशे से ग्राफिक डिजाइनर स्वेतलाना के इंस्टाग्राम पर एक लाख से ज्यादा फॉलोवर हैं। कृष्ण भक्ति से अपने जीवन में आए बदलावों के बारे में वे वीडियो और पोस्ट के जरिए लोगों को लगातार बताती रहती हैं। उनके इंस्टाग्राम पोस्ट्स को पढ़ने से पता चलता है कि मुस्लिम शौहर उनको मारता-पीटता था। इस्लाम कबूलने का दबाव बनाता था। इस रिश्ते से उनका एक बेटा भी है।

स्वेतलाना अब भारत के मायापुर में रहती हैं। 14 जनवरी 2022 को इंस्टाग्राम पर साझा किए गए एक वीडियो में उन्होंने बताया है, “मैं वास्तविक खुशी की तलाश में थी। मुझे लगा था जब बच्चा होगा तो मुझे खुशी मिलेगी, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। दूसरी ओर मेरा पति एक कट्टर मुस्लिम था। वह मुझ पर इस्लाम अपनाने का दबाव डालता था। मैं काफी डिप्रेशन में चली गई थी। मैं इस कदर टूट गई थी कि मैं नौवीं मंजिल पर स्थित अपने घर से छलांग लगाना चाहती थी। लेकिन मैं भगवान कृष्ण का शुक्रिया अदा करना चाहूँगी कि उन्होंने मुझे बचा लिया। मेरी यह शादी एक गलती थी। इस तरह की चीजें जो सह रही हैं, मैं उनका दर्द समझ सकती हूँ। उस समय मुझे ऐसा लग रहा था कि मैं नरक में जी रही हूँ।”

मुस्लिम शौहर की प्रताड़नाओं ने स्वेतलाना को कृष्ण भक्ति की ओर मोड़ा। साल 2016 में वे करीब एक साल तक अपने पति से अलग रहीं। भारत आईं। इस दौरान हुए अनुभवों के आधार पर खुद को कृष्ण भक्ति की मार्ग पर ले जाने का फैसला किया। वह कहती हैं, “मेरे अंदर से पति का डर पूरी तरह से चला गया। मैं खुश रहने लगी। साल 2017 में मेरे पति ने मुझसे कहा कि कृष्णा और मेरे बीच किसी एक को चुनो। मैंने कृष्णा को चुना। इसके बाद हम दोनों का तलाक हो गया।”

तलाक के बाद स्वेतलाना भारत आ गईं। बेटे के साथ मायापुर में रहने लगीं। यहीं उनकी मुलाकात रौशन झा से हुई। वे भी कृष्ण भक्त हैं। एक दूसरे को जानने के बाद दोनों ने सगाई कर ली। सगाई के बारे में एक पोस्ट में बताते हुए स्वेतलाना ने लिखा है, “वह सच में हमारी फिक्र करते हैं। रौशन झा ने मुझे मेरे अतीत, वर्तमान और भविष्य के साथ स्वीकार किया है। वह मुझसे प्यार करते हैं। मेरे बेटे को भी उन्होंने अपने बेटे की तरह अपना लिया है।”

इंस्टाग्राम पर शेयर एक अन्य पोस्ट में स्वेतलाना ने बताया है कि वह कैसे पहले भौतिकवाद की तरफ भागती थीं। लेकिन भारत आकर और कृष्ण भक्ति से उन्हें कैसे शांति मिली है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘अच्छा! तो आपने मुझे हराया है’: विधानसभा में नवीन पटनायक को देखते ही हाथ जोड़ कर खड़े हो गए उन्हें हराने वाले BJP के...

विधानसभा में लक्ष्मण बाग ने हाथ जोड़ कर वयोवृद्ध नेता का अभिवादन भी किया। पूर्व CM नवीन पटनायक ने कहा, "अच्छा! तो आपने मुझे हराया है?"

‘माँ गंगा ने मुझे गोद ले लिया है, मैं काशी का हो गया हूँ’: 9 करोड़ किसानों के खाते में पहुँचे ₹20000 करोड़, 3...

"गरीब परिवारों के लिए 3 करोड़ नए घर बनाने हों या फिर पीएम किसान सम्मान निधि को आगे बढ़ाना हो - ये फैसले करोड़ों-करोड़ों लोगों की मदद करेंगे।"

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -